ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRनया नोएडा बसाने का काम पकड़ेगा रफ्तार, CM योगी ने प्राधिकरण को दिए ये आदेश

नया नोएडा बसाने का काम पकड़ेगा रफ्तार, CM योगी ने प्राधिकरण को दिए ये आदेश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नोएडा प्राधिकरण के अफसरों को नए नोएडा को बसाने के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इसके मास्टर प्लान को मंजूरी के लिए शासन को भेजें।

नया नोएडा बसाने का काम पकड़ेगा रफ्तार, CM योगी ने प्राधिकरण को दिए ये आदेश
Praveen Sharmaनोएडा। हिन्दुस्तानSat, 09 Dec 2023 07:20 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नोएडा प्राधिकरण के अफसरों को नए नोएडा को बसाने के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इसके मास्टर प्लान को मंजूरी के लिए शासन को भेजें, ताकि प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़े। मुख्यमंत्री ने जीबीयू में आयोजित समीक्षा बैठक में कहा कि विकास कार्यों में तेजी लाकर समय से उनको पूरा कराएं। हिंडन नदी के आसपास अधिक संख्या में पेड़-पौधे लगाएं ताकि पर्यावरण बेहतर रहे। जल को स्वच्छ रखने के लिए हर संभव काम करें। इसके आसपास अतिक्रमण न होने पाएं। मुख्यमंत्री ने जाम की समस्याओं से निपटने के लिए चिल्ला, भंगेल एलिवेटेड रोड जैसी परियोजनाओं को भी तेजी से पूरा कराने के निर्देश दिए। साथ ही, निवेश बढ़ाने के लिए एमओयू को धरातल पर लाने के काम को भी तेज करने को कहा। सीएम ने तय लक्ष्य से अधिक निवेश को बढ़ावा दें। जनप्रतिनिधियों से समन्वय कर योजनाओं का प्रचार-प्रसार करें। इस दौरान नोएडा प्राधिकरण के सीईओ ने सेक्टर-96 में बन रही प्राधिकरण की नई इमारत और अंडरपास से संबंधित जानकारी दी।

विधायक ने स्थायी डिप्टी रजिस्ट्रार कार्यालय खोलने की मांग रखी : विधायक पंकज सिंह ने मुख्यमंत्री के समक्ष स्थायी रूप से डिप्टी रजिस्ट्रार कार्यालय खोलने, किसानों की शासन व प्राधिकरण स्तर पर मांगों का जल्द निस्तारण कराने, शुद्ध पानी के लिए स्थाई समाधान कराने, सरकारी जमीनों पर अतिक्रमण करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने, फ्लैट खरीदारों की समस्याओं का समाधान कराने की मांग की।

1997 से सभी किसानों को 10 प्रतिशत भूखंड देने की मांग : भाजपा के महानगरध्यक्ष मनोज गुप्ता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक मांग पत्र दिया, जिसमें वर्ष 1997 से सभी किसानों को 10 प्रतिशत भूखंड दिए जाने की मांग की गई। उन्होंने कहा कि पिछले 4-5 सालों में नोएडा प्राधिकरण का किसानों के प्रति गलत रवैया रहा है। इसकी वजह से लगातार बड़े-बड़े आंदोलन हुए। पत्र में कहा कि 212वीं बोर्ड बैठक में 10 प्रतिशत भूखंड देने या उसके समतुल्य धनराशि देने का प्रस्ताव पास हो चुका है। इसको मंजूरी के लिए शासन को भेजा चुका है। मुख्यमंत्री से मांग की है कि जल्द शासन से पास कराकर किसानों की समस्याओं का समाधान करें।

मुआवजा वितरण में गड़बड़ी करने वालों को जेल भेजा जाए : भाजपा के महानगर अध्यक्ष मनोज गुप्ता ने मुख्यमंत्री को एक और पत्र दिया। इसमें मांग की गई है कि मुआवजा वितरण में गड़बड़ी करने वाले प्राधिकरण के अधिकारी, कर्मचारी तथा उनके राजनीतिक दलालों और किसानों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जेल भेजा जाए। उन्होंने कहा कि एसआईटी जांच कर रही है लेकिन घोटालेबाज अभी भी जांच के दायरे से बाहर हैं। इस प्रकरण में किसानों के नाम पर 25 प्रतिशत मुकदमें हाईकोर्ट में डलवाकर व समझौता दिखाकर 25 प्रतिशत हिस्सा लेकर सरकारी धनराशि की बंदरबांट हुई है।

एयरपोर्ट के पास थाने बनेंगे

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि निर्माणाधीन नोएडा एयरपोर्ट के पास पुलिस की मौजूदगी काफी अहम होगी। इसको लेकर नए थानों के निर्माण समेत अन्य कामों में तेजी लाई जाए। इसके लिए प्राधिकरण के अधिकारियों को भी निर्देशित किया गया। उन्होंने थानों और तहसीलों में आने वाली समस्याओं को प्राथमिकता से हल करने के निर्देश दिए।

विकसित भारत संकल्प यात्रा की समीक्षा

मुख्यमंत्री ने बैठक में मौजूद अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जिन उद्यमियों ने यहां निवेश किया है, जल्द से जल्द उनके कार्यालय यहां खोलने के लिए प्रयास किए जाएं। उन्होंने विकसित भारत संकल्प यात्रा की समीक्षा करते हुए कहा कि इसमें अधिक से अधिक संख्या में नागरिकों और योजनाओं के लाभार्थियों को शामिल किया जाए। साथ ही ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी, न्यू नोएडा डेवलपमेंट और थीम आधारित पार्कों की मुख्यमंत्री ने जानकारी ली।

समीक्षा बैठक के दौरान नोएडा पुलिस कमिश्नर ने जिले की कानून-व्यवस्था का प्रस्तुतिकरण दिया

● लूट की वारदात 22 फीसदी कम हुईं : गौतमबुद्धनगर पुलिस द्वारा बीते वर्ष में स्ट्रीट क्राइम की रोकथाम के लिए निरंतर कार्य किए गए। इससे वर्ष 2023 में वर्ष 2022 के सापेक्ष लूट में 22, वाहन चोरी में 16 व चोरी में 40 की कमी आई है।

● महिला उत्पीड़न घटा : महिलाओं को जागरूक किया गया और जनपद के प्रत्येक थाने पर महिला हेल्प डेस्क व पिंक बूथ की स्थापना की गई। इससे वर्ष 2023 में वर्ष 2022 के सापेक्ष दहेज हत्या में 14, छेड़खानी में 44, अपहरण में 38 व महिला उत्पीड़ने के मामलों में 5 की कमी आई।

● 81 करोड़ की संपत्ति कुर्क : माफियाओं-अपराधियों के विरुद्ध सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए वर्ष 2023 में 39 मामलों में 81,87 लाख रुपये की संपत्ति को कुर्क किया गया। लगभग 23 करोड़ रुपये की कार्रवाई प्रचलित है, जोकि पूरे में प्रदेश में नंबर एक है।

● 640 मुकदमों में 763 को सजा : ऑपरेशन क्नविक्शन के तहत 640 मुकदमों में 763 अभियुक्तों को सजा दिलाई गई और ऑपरेशन दृष्टि के तहत तीनों जोन में 31,332 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए। यह प्रदेश में सबसे ज्यादा है।

● साइबर ठगों पर लगाम : साइबर अपराधियों के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई करते हुए 26 सक्रिय गैंग के 356 अपराधी गिरफ्तार किए गए और 254 कंप्यूटर/लैपटॉप, 711 मोबाइल, 58 इंटरनेट कनेक्शन डिवाइस, 2.5 करोड़ रुपए नगद व 83 वाहन बरामद किए गए। साइबर ठगी के पीड़ितों को 2 करोड़ 22 लाख रुपए वापस दिलाए गए।

● राजस्व को क्षति पहुंचाने वालों पर सख्ती : सरकार को हजारों करोड़ रुपये की राजस्व क्षति पहुंचाने वाले जीएसटी नंबर सहित फर्जी फर्म तैयार करने वाले गैंग का पर्दाफाश किया गया। अंतरराज्यीय गैंग के 28 आरोपी दबोचे गए। 2645 करोड़ आईटीसी एवं करीब 6 करोड़ की धनराशि बैंक खाते में फ्रीज कराई गई।

विश्वविद्यालयों को उद्योगों से जोड़ना होगा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विकसित भारत बनाने के लिए विश्वविद्यालयों को उद्योगों से जोड़ना होगा। छात्रों को काउंसलिंग से जोड़ने के साथ रिसर्च एंड डेवलपमेंट के लिए काम करना होगा। आज की यह सबसे बड़ी आवश्कता है। मुख्यमंत्री ने ये बातें शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा के एक निजी विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में कहीं। उन्होंने कहा कि भारत प्राचीन समय में विश्व गुरु था। दुनियाभर से छात्र यहां शिक्षा और अनुसंधान के लिए आते थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिर भारत को विश्व गुरु बनाने का लक्ष्य रखा है। योगी ने आगे कहा कि अगर हर नागरिक अपने कर्तव्यों का ईमानदारी से निर्वहन करें तो भारत को दुनिया की सबसे बड़ी ताकत बनने से कोई नहीं रोक सकता है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें