ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRNCRB रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा, दिल्ली में नाबालिग वारदातों को दे रहे अंजाम, क्या है यूपी-बिहार का हाल

NCRB रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा, दिल्ली में नाबालिग वारदातों को दे रहे अंजाम, क्या है यूपी-बिहार का हाल

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट में चोंकाने वाले खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के अनुसार, देश के मेट्रो शहरों में नाबालिगों द्वारा किए अपराध में दिल्ली नंबर-1 है। नाबालिग चोरी और लूट को अं

NCRB रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा, दिल्ली में नाबालिग वारदातों को दे रहे अंजाम, क्या है यूपी-बिहार का हाल
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 06 Dec 2023 07:05 AM
ऐप पर पढ़ें

देश के मेट्रो शहरों में नाबालिगों द्वारा किए अपराध में दिल्ली नंबर-1 है। वहीं, साइबर अपराध में बेंगलुरू सबसे आगे है। जबकि, राजधानी दिल्ली इस मामले में पांचवें क्रम पर है। यह खुलासा राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट में हुआ है। एनसीआरबी ने देश के 19 मेट्रो शहरों को रिपोर्ट में शामिल किया है। मेट्रो शहरों में अपराध के उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में नाबालिगों द्वारा चोरी, लूट की ज्यादा वारदातों को अंजाम दिया गया।

नाबालिग सबसे ज्यादा चोरी/लूटपाट में शामिल

रिपोर्ट के मुताबिक, मेट्रो शहरों में नाबालिगों ने सबसे ज्यादा चोरी व लूटपाट जैसी वारदातों को अंजाम दिया। चोरी की घटनाओं में दिल्ली में नाबालिगों ने 862 वारदातों को अंजाम दिया। लूटपाट के 235 मामले सामने आएं चोट पहुंचाने जैसी घटनाओं की बात करें तो इसमें 286 मामले दर्ज हुए। वहीं, हत्या की वारदातों के 92 केस दर्ज हुए। वहीं, चोरी-लूटपाट जैसी वारदातों में बेंगलुरू दूसरे नंबर पर है। चोरी की 179 और लूटपाट की 53 वारदातों को नाबालिगों ने यहां अंजाम दिया।

दिल्ली में मामले कम पर प्रतिशत ज्यादा

साइबर अपराध के मामलों में बेशक दिल्ली टॉप-5 मेट्रो शहर में नहीं है। लेकिन, यहां साल-2021 की तुलना में 2022 में करीब 97 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। दिल्ली के हर जिले में अलग साइबर थाने खोले गए हैं। वहीं, स्पेशल सेल की आईएफएसओ यूनिट भी ऐसे मामलों की जांच की विशेषज्ञ यूनिट है, जो सक्रिय है।

बिहार में हत्या, लूट, डकैती, रेप समेत अन्य सभी संगीन अपराध की दर केरल, महाराष्ट्र, यूपी, मध्यप्रदेश, हरियाणा, तेलंगाना समेत अन्य राज्यों की तुलना में कम है। परंतु साइबर और आर्थिक अपराध के मामले में बिहार देश के टॉप-10 राज्यों में शामिल है। सभी तरह के आर्थिक अपराधों की संख्या बिहार में 10 हजार 674 है।

एनसीआरबी के अनुसार देश में वर्ष 2022 में रोजाना अपहरण के औसतन 294 मामले दर्ज किए गए हैं। आंकड़ों के अनुसार हर घंटे अपहरण के औसतन 12 केस दर्ज किए हैं।

यूपी में सुधरने के संकेत

एनसीआरबी के वर्ष 2022 के आंकड़ों ने यूपी में बेहतर कानून-व्यवस्था का संकेत दिया है। पूरे देश के क्राइम रेट 258.1 के सापेक्ष यूपी का क्राइम रेट 171.6 है। देश में हुए आईपीसी के कुल अपराधों में यूपी का स्थान सभी 28 राज्यों एवं आठ केंद्रशासित प्रदेशों में 20वां स्थान है।

टॉप-5 मेट्रो शहर, जहां नाबालिगों ने ज्यादा क्राइम किया
शहर दर्ज मामले

1. दिल्ली 2336
2. चेन्नई 521
3. गुजरात 433
4. मुबई 363
5. हैदराबाद 300

साइबर अपराध में टॉप-5 मेट्रो शहर

शहर दर्ज मामले
1. बेंगलुरू 9940
2. मुंबई 4724
3. हैदराबाद 4436
4. लखनऊ 1134
5. दिल्ली 685

देश में हर दिन अपहरण के 294 मामले

वर्ष अपहरण केस

2022 1,07,588

2021 1,01,707

2020 84,805

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें