ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRमहिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़ी FIR में टॉप पर दिल्ली, साइबर क्राइम के मामले भी दोगुने

महिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़ी FIR में टॉप पर दिल्ली, साइबर क्राइम के मामले भी दोगुने

Crime in Delhi: एनसीआरबी के आंकड़े बताते हैं कि दिल्ली में साइबर अपराध के मामले लगभग दोगुने हो गए हैं। यही नहीं महिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़ी FIR के लिहाज से देखें तो दिल्ली टॉप पर है।

महिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़ी FIR में टॉप पर दिल्ली, साइबर क्राइम के मामले भी दोगुने
Krishna Singhभाषा,नई दिल्लीMon, 04 Dec 2023 07:35 PM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के आंकड़ों के मुताबिक, साल 2022 में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में महिलाओं के खिलाफ अपराधों से जुड़ी एफआईआर की दर देश में सबसे अधिक रही। साल 2022 में दिल्ली में 144.4 (प्रति लाख आबादी) की दर से 14247 मामले दर्ज किए गए, जो राष्ट्रीय औसत 66.4 से काफी ऊपर है। साल 2020 और 2021 में ये आंकड़े क्रमशः 10,093 और 14,277 थे। यही नहीं दिल्ली में साइबर अपराध के मामलों में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। साल 2022 में दिल्ली में साइबर अपराध के मामले लगभग दोगुने हो गए। 

केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत काम करने वाले एनसीआरबी के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, साल 2022 में देश में महिलाओं के खिलाफ अपराध के कुल 4,45,256 मामले रिपोर्ट किए गए। इससे पहले साल 2021 में यह आंकड़ा 4,28,278 और साल 2020 में 3,71,503 था। साल 2022 में देश में महिलाओं के खिलाफ अपराध के सिलसिले में हर घंटे लगभग 51 FIR दर्ज की गईं। देश में प्रति एक लाख की आबादी पर महिलाओं के खिलाफ अपराध की दर 66.4 फीसदी रही जबकि ऐसे मामलों में चार्जशीट दाखिल करने की दर 75.8 रही।

साल 2022 में महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों की सबसे अधिक दर 144.4 दिल्ली में दर्ज की गई, जो राष्ट्रीय औसत दर 66.4 से काफी अधिक है। इस साल दिल्ली में महिलाओं के खिलाफ अपराध के 14,247 मामले सामने आए। दिल्ली में 2021 में महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों की संख्या 14,277 जबकि 2020 में 10,093 रही। कुल 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में अपराध दर राष्ट्रीय औसत 66.4 से अधिक दर्ज की गई।

महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले में दिल्ली 144.4 की दर के साथ शीर्ष पर रही। उसके बाद हरियाणा (118.7), तेलंगाना (117), राजस्थान (115.1), ओडिशा (103), आंध्र प्रदेश (96.2), अंडमान और निकोबार द्वीप समूह (93.7), केरल (82), असम (81) मध्य प्रदेश (78.8), उत्तराखंड (77), महाराष्ट्र (75.1), पश्चिम बंगाल (71.8), उत्तर प्रदेश  (58.6)  रहे। उत्तर प्रदेश में 2022 में महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों में सबसे अधिक 65,743 प्राथमिकी दर्ज की गईं, इसके बाद महाराष्ट्र (45,331), राजस्थान (45,058), पश्चिम बंगाल (34,738) और मध्य प्रदेश (32,765) रहे।

राष्ट्रीय राजधानी में साइबर अपराध के मामले 2022 में लगभग दोगुने हो गए। ऐसे मामलों की संख्या 2021 में 345 थी जो 2022 में बढ़कर 685 हो गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि 2020 में साइबर अपराध के केवल 166 मामले सामने आए थे। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा- हम साइबर जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए लगातार काम कर रहे हैं और समय-समय पर कई अभियान चलाए जा रहे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें