ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRबजरंग वाहिनी दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर हमला, लाठी-डंडों से पीटा; कार के शीशे तोड़े

बजरंग वाहिनी दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर हमला, लाठी-डंडों से पीटा; कार के शीशे तोड़े

बजरंग वाहिनी दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष गजराज सिंह पर कार सवाल तीन बदमाशों ने लाठी-ठंठे से हमला कर दिया। उनकी कार मे भी तोड़फोड़ की। हमले में सिंह के कंधे में चोट आई है। पुलिस को देखकर भाग गए।

बजरंग वाहिनी दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर हमला, लाठी-डंडों से पीटा; कार के शीशे तोड़े
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,फरीदाबादTue, 30 Jan 2024 08:36 AM
ऐप पर पढ़ें

फरीदाबाद के तिगांव से यूपी के मथुरा जा रहे बजरंग वाहिनी दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष गजराज सिंह पर रविवार देर रात कार सवार तीन बदमाशों ने जानलेवा हमला कर दिया। बदमाशों ने लाठी-डंडों से पिटाई करते हुए कार में भी तोड़फोड़ की। गजराज सिंह के कंधे में चोट आई है। बल्लभगढ़ सदर थाना की पुलिस अज्ञात आरोपियों पर केस दर्ज किया है। आरोपियों की तलाश पुलिस कर रही है।

मथुरा की परिक्रमा के लिए जा रहे थे गजराज पुलिस के अनुसार गजराज सिंह ने बताया कि वह दिल्ली के खानपुर में परिवार के साथ रहते हैं। उनका ससुराल तिगांव में है। रविवार को वह तिगांव स्थित अपने ससुराल गए थे। रात करीब सवा नौ बजे वह यूपी के मथुरा परिक्रमा करने जा रहे थे। जैसे ही वह बाइपास रोड स्थित आईएमटी के पास पहुंचे, एक ऑल्टो कार में सवार तीन बदमाशों ने उन्हें रोक लिया और लाठी-डंडों से हमला कर दिया। कार के शीशे तोड़ दिए। वह किसी तरह आईएमटी पुलिस चौकी की ओर भागे और डायल-112 पर कॉल की। थोड़ी देर में पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस को आता देख बदमाश फरार हो गए।

लॉरेंस बिश्नोई भी दे चुका धमकी 

बजरंग वाहिनी दल के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी सचिन वर्मा ने डीजीपी को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि गजराज सिंह को कई बार लॉरेंस बिश्नोई और पपला गैंग द्वारा धमकियां दी जा चुकी है। सिंह की शिकायत पर दिल्ली पुलिस द्वारा चार मुकदमें दर्ज किए जा चुके हैं।

पायलट को भेज दिया था वापस

गजराज सिंह ने बताया कि बजरंग वाहिनी दल का गठन साल-2014 में हुआ। तब से वह राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। उनपर कई बार हमले हो चुके हैं। ऐसे में अदालत के आदेश पर उन्हें पुलिस की सुरक्षा मिली है। उनके साथ पुलिस की पायलट टीम रहती है। रविवार को तिगांव ससुराल पहुंचने के दौरान उनके साथ पायलट गाड़ी थी। तिगांव पहुंचने पर उन्होंने पायलट गाड़ी को वापस लौटा दिया था। उधर, बल्लभगढ़ सदर थाना के प्रभारी इंस्पेक्टर बसंत ने पायलट गाड़ी देने से इनकार किया है।

आरोपियों की पहचान नहीं हुई

गजराज सिंह ने बताया, डीएनडी-केएमपी एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य के चलते बाइपास रोड से सभी स्ट्रीट लाइट हटा ली गई हैं। ऐसे में वहां अंधेरा छाया रहता है। लिहाजा रात सवा नौ बजे सड़क पर काफी अंधेरा था। ऐसे में वह आरोपियेां की पहचान नहीं कर सके। उन्होंने तीनों आरोपी युवक थे।

तिगांव के एसीपी राजेश कुमार लोहान ने कहा, 'शिकायत मिलते ही बल्लगढ़ सदर थाना में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है और आरोपियों की तलाश की जा रही है। जल्द सभी आरोपी गिरफ्तार होंगे।'

2018 में भी हुआ था हमला

गजराज सिंह ने बताया कि साल-2018 में भी हमला हुआ था। वह हमला ससुरालियों से रंजिश रखने वालों ने की थी। उसके ससुरालियों का किसी बात को लेकर किसी से रंजिश चल रही थी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें