ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRNamo Bharat Rapid Rail : मेरठ को नए साल में मिलेगी नई रफ्तार? यहां पर नमो भारत ट्रेन के ट्रायल की तैयारी तेज

Namo Bharat Rapid Rail : मेरठ को नए साल में मिलेगी नई रफ्तार? यहां पर नमो भारत ट्रेन के ट्रायल की तैयारी तेज

संभावना है कि दिसंबर-जनवरी में दुहाई से मेरठ साउथ के बीच ट्रायल कर दिया जाएगा ताकि मार्च-अप्रैल में संचालन प्रारंभ किया जा सके। 24 किलोमीटर के इस दूसरे कॉरिडोर पर युद्धस्तर पर काम चल रहा है।

Namo Bharat Rapid Rail : मेरठ को नए साल में मिलेगी नई रफ्तार? यहां पर नमो भारत ट्रेन के ट्रायल की तैयारी तेज
Praveen Sharmaगाजियाबाद मेरठ। हिन्दुस्तानTue, 14 Nov 2023 02:59 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली-मेरठ नमो भारत ट्रेन (Namo Bharat Rapid Rail) अब मेरठ की ओर से चल पड़ी है। एनसीआरटीसी की ओर से मेरठ को नए साल का तोहफा देने की तैयारी तेजी से की जा रही है। संभावना है कि दिसंबर-जनवरी में दुहाई से मेरठ साउथ (परतापुर तिराहा) के बीच ट्रायल कर दिया जाएगा ताकि मार्च-अप्रैल में संचालन प्रारंभ किया जा सके। 24 किलोमीटर के इस दूसरे कॉरिडोर पर युद्धस्तर पर काम चल रहा है।

20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली-मेरठ नमो भारत के पहले कॉरिडोर दुहाई से साहिबाबाद के बीच का शुभारंभ किया था, तब से इस 17 किलोमीटर के कॉरिडोर पर लोग सफर कर रहे हैं। अब एनसीआरटीसी का फोकस मेरठ की ओर है। दुहाई से मेरठ साउथ के बीच करीब 24 किलोमीटर के इस दूसरे कॉरिडोर पर तेजी से काम चल रहा है। एनसीआरटीसी ने इस कॉरिडोर का लक्ष्य मार्च-2024 का लक्ष्य निर्धारित किया है ताकि चुनाव तक संचालन प्रारंभ किया जा सके।

दुहाई से मेरठ साउथ तक अब निर्माण कार्य लगभग समाप्ति पर है। अब ट्रैक और विद्युतीकरण, ओएचई का काम चल रहा है। दुहाई से लेकर मुरादनगर, मोदीनगर, मेरठ साउथ तक हाईवे के बीच रैपिड के पिलर और उसमें लग रहे ट्रैक और विद्युतीकरण कार्य भी अब साफ-साफ दिखाई देने लगा है। 20 अक्तूबर को उद्घाटन के बाद 21 अक्टूबर से दुहाई से साहिबाबाद, साहिबाबाद से दुहाई के बीच 17 किलोमीटर में अब तक करीब सवा दो लाख यात्री सफर कर चुके हैं। औसत 10 हजार यात्री प्रतिदिन सफर कर रहे हैं। वहीं छुट्टी के दिनों में यह औसत आठ से 10 हजार यात्रियों का है।

निर्माण 90 हो चुका

एनसीआरटीसी अधिकारियों के अनुसार रैपिड एक्स का निर्माण कार्य मेरठ साउथ के बीच 90 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है। 10 प्रतिशत कार्य को फाइनल टच दिया जा रहा है। ट्रैक का काम 70 से 75 प्रतिशत तक हो चुका है। उसके साथ ही विद्युतीकरण, ओएचई का कार्य 50-60 प्रतिशत हो चुका है। इस तरह तीन चरण में इस कॉरिडोर पर तेजी से काम चल रहा है। सब कुछ ठीक रहा तो दिसंबर-जनवरी तक कार्य पूर्ण कर ट्रायल की तैयारी की जा रही है।

कुल 82 किलोमीटर का है रैपिड रेल कॉरिडोर

दिल्ली में सराय काले से मेरठ में मोदीपुरम तक कुल 82 किलोमीटर का रैपिड रेल कॉरिडोर है। पहले फेज में 17 किलोमीटर में संचालन प्रारंभ हो चुका है। अगले 24 किमी में मार्च-अप्रैल तक संचालन की तैयारी है। इस तरह यह कुल 41 किमी का संचालन हो जाएगा। उसके बाद दिल्ली और मेरठ में 41 किलोमीटर का संचालन शेष रहेगा, जो दिसंबर-2024 तक पूर्ण होगा। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें