ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRमुंडका अग्निकांड: चार और शवों की शिनाख्त, अब भी बाकी है एक की पहचान; परिजनों को सौंपी बॉडी

मुंडका अग्निकांड: चार और शवों की शिनाख्त, अब भी बाकी है एक की पहचान; परिजनों को सौंपी बॉडी

मुंडका अग्निकांड में मारे गए चार और शवों की पहचान कर ली गई है। अब भी एक शव की शिनाख्त होना बाकी है। अबतक 26 शवों की पहचान कर ली गई है। पहचान के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

मुंडका अग्निकांड: चार और शवों की शिनाख्त, अब भी बाकी है एक की पहचान; परिजनों को सौंपी बॉडी
Sneha Baluniहिन्दुस्तान ब्यूरो,नई दिल्लीThu, 23 Jun 2022 01:24 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

मुंडका अग्निकांड मामले में चार और शव की पहचान हो गई है। अब कुल मिलाकर 26 शवों की पहचान कर ली गई। जबकि एक शव की शिनाख्त होना बाकी है। शव की पहचान के लिए पुलिस ने लापता लोगों के स्वजन के खून के नमूने लेकर फोरेंसिक लैब को सौंपे थे। बाहरी जिला पुलिस उपायुक्त समीर शर्मा ने बताया कि फोरेंसिक लैब से बुधवार को डीएनए प्रोफाइल की रिपोर्ट मिली थी। 

इसमें सोनी कुमारी, मोनिका, प्रवीण व रंजू देवी का डीएनए प्रोफाइल उनके स्वजन के डीएनए प्रोफाइल से मिल गया। इसके बाद स्वजन को इसकी जानकारी दे दी गई और गुरुवार को शव उन्हें सौंप दिया गया। रंजू देवी के शव की पहचान घटना के बाद उनके स्वजन ने की थी और सैंपल लेकर उन्हें शव सौंप दिया गया था। बाद में रंजू देवी का डीएनए प्रोफाइल उनके स्वजन के डीएनए प्रोफाइल से नहीं मिला था। 

पुलिस ने स्वजन से दोबारा खून के नमूने लिए थे और बुधवार को रंजू देवी का डीएनए प्रोफाइल स्वजन के डीएनए प्रोफाइल से मिल गया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि अग्निकांड में लापता गीता देवी के माता-पिता का निधन हो चुका है और गीता के बच्चे भी नहीं हैं। इसलिए पहचान का कोई और विकल्प नहीं है। पुलिस ने उनके भाई और बहन के खून का सैंपल लैब को सौंपा था। 

फोरेंसिक अधिकारियों ने भाई-बहन के सैंपल से मिलान करने में असमर्थता जताई है। बता दें कि 13 मई को मुंडका स्थित चार मंजिला इमारत में आग लग गई थी। इस घटना में 27 लोगों की जान गई थी और 27 लोग घायल हुए थे। इस इमारत में सीसीटीवी कैमरा बनाने वाली कंपनी का कार्यालय व गोदाम था।