ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRमां ने ही कर दी डेढ़ साल के मासूम की हत्या, फिर खिड़की के पास रख दिया शव; वजह हैरान करने वाली

मां ने ही कर दी डेढ़ साल के मासूम की हत्या, फिर खिड़की के पास रख दिया शव; वजह हैरान करने वाली

गोविंद ने बच्चे को अचेत देखा तो वह घबरा गया। इस पर राधा ने कहा कि शायद खिड़की के जाल में गला फंसने से वह बेहोश हो गया है। इसके बाद परिजन बच्चे को तारक अस्पताल ले गए।

मां ने ही कर दी डेढ़ साल के मासूम की हत्या, फिर खिड़की के पास रख दिया शव; वजह हैरान करने वाली
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 01 Mar 2024 10:42 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक मां ने अपने ही डेढ़ साल के बच्चे की गला घोंटकर हत्या कर दी। घटना उत्तम नगर इलाके की बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि मां ने पड़ोसियों के तानों से तंग आकर ये खौफनाक कदम उठाया। आसपास के लोग बच्चे को अवैध होने का ताना देते थे, जिससे वह तंग आ गई थी।

पुलिस ने बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपकर महिला को गिरफ्तार किया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि 27 वर्षीय राधा अपने पति गोविंद और तीन एवं डेढ़ साल के दो बच्चों के साथ उत्तम नगर इलाके में रहती है। डेढ़ साल के आरव को लेकर आसपास के लोग राधा को ताना देते थे कि उसका पिता गोविंद नहीं कोई और है। इसकी वजह से वह तनाव में रहने लगी थी।

कई बार उसका रिश्तेदारों और पड़ोसियों से झगड़ा भी हुआ। पुलिस ने बताया कि आए दिन के तानों से तंग आकर राधा ने मंगलवार को आरव को उसके गले में पहने ताबीज से गला घोटकर मार डाला। फिर शव को खिड़की के पास रख दिया। जब गोविंद ने बच्चे को अचेत देखा तो वह घबरा गया। इस पर राधा ने कहा कि शायद खिड़की के जाल में गला फंसने से वह बेहोश हो गया है। इसके बाद परिजन बच्चे को तारक अस्पताल ले गए। उसके गले में निशान देखकर अस्पताल प्रशासन ने पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिस ने जब सख्ती से राधा से पूछताछ की तो सारा मामला सामने आ गया।

पूछताछ के दौरान, राधा रोने लगी और पुलिस को बताया कि उसने बच्चे का गला घोंटकर उसे मार डाला है।  उत्तम नगर पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया गया था और अब राधा को गिरफ्तार कर लिया गया है। महिला ने पुलिस को बताया कि वह पड़ोसियों और इलाके के अन्य लोगों के तानों से तंग आ गई थी। 

उसने हमें बताया कि वे उसके बेटे को नाजायज कहते थे। घटना के समय, बच्चा खेल रहा था जब महिला ने उसके पहने हुए ताबीज धागे से उसका गला घोंट दिया। बाद में महिला को एहसास हुआ कि उसने गलती की है, लेकिन तब तक बच्चे की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने कहा कि घटना के समय, उसका पति, जो बढ़ई का काम करता है, फरीदाबाद में था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें