DA Image
3 जनवरी, 2021|9:15|IST

अगली स्टोरी

गाजियाबाद श्मशान घाट हादसे में 23 की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

1 / 2घटना स्थल का जायजा लेने पहुंचे अधिकारी

pm narendra modi lays foundation stone of the permanent campus of iim sambalpur in odisha

2 / 2PM Modi

PreviousNext

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में एक दर्दनाक हादसा हो गया है। अंतिम संस्कार में शामिल होने गए लोगों पर छत गिरने से 23 लोगों की मौत हो गई है जबकि कई की हालत गंभीर बताई जा रही है। हादसे के शिकार लोगों का इलाज गाजियाबाद जिला अस्पताल में चल रहा है।

राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं और घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया है। साथ ही सीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे लोगों की सभी संभव मदद करें। सीएम योगी ने अधिकारियों से घटना पर रिपोर्ट भी मंगाई है।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी श्मशान घाट हादसे पर शोक व्यक्त किया है। पीएम मोदी ने ट्वीट किया, 'उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में हुए दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की खबर से अत्यंत दुख पहुंचा है। राज्य सरकार राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटी है। इस दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।'

वहीं राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, 'मुरादनगर, गाजियाबाद स्थित श्मशान में छत गिरने की घटना अत्यंत दुखद है। मृतकों के परिवार जन को मेरी शोक संवेदनाएं। मैं प्रार्थना करता हूं कि इस दुर्घटना में आहत लोग शीघ्र ही स्वस्थ हों। स्थानीय प्रशासन राहत और सहायता हेतु कार्यरत है।'

हादसे की जानकारी मिलने के बाद मौके पर गाजियाबाद के जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय, एसपी कलानिधि नैथानी और कमिश्नर अनीता सी मेश्राम घटना स्थल पर पहुंचे और जायजा लिया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, दयानंद कॉलोनी निवासी दयाराम की शनिवार की रात बीमारी के चलते मौत हो गई थी। रविवार को उनके अंतिम संस्कार के लिए परिजन मुरादनगर स्थित एक श्मशान घाट लेकर पहुंचे। अंतिम संस्कार में रिश्तेदार और मोहल्लेवासी मिलाकर कुल 100 लोग घाट पर पहुंचे थे। सुबह से हो रही बारिश के कारण लोग श्मशान घाट परिसर में बने भवन के अंदर खड़े थे। तभी अचानक जमीन धंसने से दीवार बैठ गई और छत भरभराकर गिर गई।

हादसे में 40 से अधिक लोग दब गए। चीखपुकार के बीच कुछ लोगों ने बड़ी मुश्किल से भागकर अपनी जान बचाई। तुरंत घटना की जानकारी पुलिस और प्रशासन को दी गई। मौके पर पहुंच कर रेस्क्यू टीम ने लोगों को निकालना शुरू किया और इलाज के लिए गाजियाबाद जिला अस्पातल में भर्ती कराया गया। शुरुआत में बारिश के कारण बचाव कार्य में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बता दें कि गाजियाबाद में सुबह से ही रुक-रुक कर बारिश हो रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:more than one dozen people died in tragic accident in ghaziabad as roof collapsed on people who went to funeral in muradnagar