ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRफरीदाबाद से जेवर एयरपोर्ट तक दौड़ेगी मेट्रो ट्रेन, मास्टर प्लान पर काम शुरू; एफएमडीए का क्या प्लान

फरीदाबाद से जेवर एयरपोर्ट तक दौड़ेगी मेट्रो ट्रेन, मास्टर प्लान पर काम शुरू; एफएमडीए का क्या प्लान

फरीदाबाद महानगर विकास प्राधिकरण ने शहर के विकास को गति देने के लिए मास्टर प्लान 2041 पर काम करना शुरू कर दिया है। इसके तहत जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो या रैपिड रेल चलाई जाएगी। सड़क से जोड़ा जा रहा है।

फरीदाबाद से जेवर एयरपोर्ट तक दौड़ेगी मेट्रो ट्रेन, मास्टर प्लान पर काम शुरू; एफएमडीए का क्या प्लान
Sneha Baluniकेशव भारद्वाज,फरीदाबादThu, 09 Nov 2023 09:32 AM
ऐप पर पढ़ें

फरीदाबाद महानगर विकास प्राधिकरण (एफएमडीए) ने शहर के विकास को गति देने के लिए वर्ष 2041 का मास्टर प्लान बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। मास्टर प्लान में शहर को जेवर हवाई अड्डे से जोड़ने के लिए मेट्रो ट्रेन चलाई जाएगी। एफएमडीए अपने प्लान में मेट्रो रेल का प्रावधान करेगा। 2041 के मास्टर प्लान को बनाने की जिम्मेदारी एफएमडीए को दी गई है। प्लान में शहर की एनसीआर (नेशनल कैपिटल रीजन) के शहरों से कनेक्टिविटी और विश्वस्तरीय शहर बनाने पर फोकस रहेगा।

एफएमडीए सेक्टर-65 से जेवर हवाई अड्डे तक बनाए जा रहे करीब 31 किलोमीटर लंबे ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे के आस-पास के एरिया को केंद्र में रखेगा, ताकि यहां हवाई अड्डे की कनेक्टिविटी का फायदा उठाया जा सके। इसके लिए एफएमडीए सोतई, दयालपुर, फफूंदा, बहबलपुर, पन्हेंड़ा खुर्द, नरियाला, हीरापुर, मोहना आदि गांवों के आस-पास से गुजर रहे एक्सप्रेसवे के दोनों ओर औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए योजना बनाने में जुटा हुआ है। सड़क मार्ग से तो जेवर हवाई अड्डे से शहर को जोड़ने पर काम चल रहा है।

अब 2041 के प्लान में शहर को हवाई अड्डे से जोड़ने के लिए मेट्रो ट्रेन या रैपिड ट्रेन चलाने का प्रावधान किया जाएगा। जेवर हवाई अड्डे तक जाने वाली मेट्रो रेल का लिंक अभी तय नहीं हुआ है। हालांकि, अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल मेट्रो रेल चलाने का प्रावधान करना है। जब मेट्रो रेल का सर्वे होगा, उस वक्त इसके लिंक के लिए भी सर्वे होगा।

नोएडा, ग्रेटर नोएडा से जोड़ा जा रहा 

शहर को दनकौर के पास ग्रेटर नोएडा से जोड़ने के लिए मंझावली गांव में यमुना पर पुल बनाया जा रहा है। इस पुल पर अगले साल से ट्रैफिक चलना शुरू हो जाएगा। इसके अलावा एनएचएआई मुख्यालय ने एफएनजी (फरीदाबाद, नोएडा-गाजियाबाद) एक्सप्रेसवे के जरिए शहर को नोएडा से कनेक्टिविटी देने की योजना पर काम कर रहा है। इस एक्सप्रेसवे के लिए ग्रेटर फरीदाबाद के लालपुर गांव के पास सन 2031 के मास्टर प्लान में यमुना पर पुल का प्रावधान किया गया है।

औद्योगिक गतिविधियों के लिए जमीन चिह्नित होगी 

2041 के प्लान के लिए मंथन कर रही टीम ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे के साथ-साथ 70 प्रतिशत औद्योगिक गतिविधियों के लिए जमीन का प्रावधान करेगी, जबकि 30 प्रतिशत जमीन रिहायशी क्षेत्र के लिए आरक्षित होगी। विभाग द्वारा एक्सप्रेसवे के साथ-साथ गौतमबुद्ध नगर जिले की सीमा तक औद्योगिक गतिविधियों के लिए जमीन आरक्षित की जाएगी। इसमें मोहना गांव के सामने यमुना पार का एरिया भी शामिल होगा।

एफएमडीए के सीटीपी सुधीर चौहान ने कहा, '2041 के मास्टर प्लान की तैयारी शुरू कर दी गई है। इसमें जेवर हवाई अड्डे तक मेट्रो रेल या रैपिड मेट्रो चलाने का प्रावधान किया जाएगा। ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे के साथ-साथ यूपी की सीमा तक औद्योगिक गतिविधियों के लिए जमीन का प्रावधान होगा।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें