ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRमेरा तो सबकुछ लुट गया; स्वाति मालीवाल बोलीं- ऐसा धोखा किसी और को ना मिले

मेरा तो सबकुछ लुट गया; स्वाति मालीवाल बोलीं- ऐसा धोखा किसी और को ना मिले

राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने गुरुवार को आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी के नेता अब 'विक्टिम शेमिंग' में जुटे हैं। स्वाति का कहना है कि पहले उनका 'चीरहरण' हुआ और अब चरित्रहनन किया जा रहा है।

मेरा तो सबकुछ लुट गया; स्वाति मालीवाल बोलीं- ऐसा धोखा किसी और को ना मिले
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 24 May 2024 09:37 AM
ऐप पर पढ़ें

राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने गुरुवार को आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी के नेता अब 'विक्टिम शेमिंग' में जुटे हैं। स्वाति का कहना है कि पहले उनका 'चीरहरण' हुआ और अब 'चरित्रहनन' किया जा रहा है। मुख्यमंत्री अरविंद के करीबी बिभव कुमार पर मारपीट का आरोप लगाने वाली स्वाति मालीवाल ने कहा है कि अब वह पार्टी में अकेली पड़ गईं हैं। बकौल स्वाति आम आदमी पार्टी में सभी को कह दिया गया है कि यदि किसी ने बात की तो पार्टी से निकाल दिया जाएगा। मालीवाल ने इस बात को लेकर भी दुख जाहिर किया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनसे बातचीत नहीं की।

स्वाति मालीवाल ने न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में कहा कि उनके साथ बड़ा धोखा हुआ है। स्वाति ने कहा, 'मुझे बहुत बड़ा धोखा मिला। मैं यही चाहूंगी कि कभी कोई ऐसा ना महसूस करे जैसा मैं कर रही हूं। मेरा सब खत्म हो गया, मेरा सबकुछ लुट गया। जहां मैंने इतनी मेहनत की इतना काम किया। जहां मैं लोगों के साथ उठती बैठती थी वही लोग मेरे परिवार तक पहुंच गए। मुझे डराने-धमकाने के लिए क्या नहीं किया। चीरहरण तो मेरा उस घर में हुआ और चरित्रहरण रोज चलाया जा रहा है। मुझे समझ नहीं आ रहा है कि यह क्या हुआ और क्यों हुआ। आप इतनी बुरी तरह से किसी को ट्रीट करोगे। मैं बहुत दगेबाजी महसूस कर रही हूं।' 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ओर से यह कहे जाने पर कि वह मामले की सही और निष्पक्ष जांच चाहते हैं, स्वाति मालीवाल ने कहा कि यदि वह ऐसा चाहते थे तो पूरी सेना क्यों पीछे लगा दी। क्यों पहले ही उन्हें दोषी बताया जा रहा है। स्वाति ने कहा, 'उन्होंने (केजरीवाल) तो आउट ऑफ कोर्ट ट्रायल कर दिया और मुझे तो दोषी मान ही लिया। जब पूरी पार्टी रोज मुझे दोषी करार देने में लगी है तो कैसे कह सकते हैं कि निष्पक्ष जांच हो। मैंने तो सिर्फ एक कॉल की और फिर लिखित शिकायत दी उसके बाद तो इतने दिन से चुप ही बैठी हूं। क्योंकि चाहती थी कि निष्पक्ष जांच हो। लेकिन कैसा होगा, हर दिन कभी कोई छेड़छाड़ किया हुआ वीडियो, कभी छेड़छाड़ किया हुआ सीसीटीवी फुटेज डालते हैं, कभी चरित्रहनन करते हैं। यदि वह सच में चाहते हैं कि फ्री और फेयर जांच हो तो नेताओं और ट्रोल्स की आर्मी क्यों मुझ पर छोड़ी गई। आपने तो पूरी सेना लगा दी यह साबित करने में कि मैं झूठ बोल रही हूं।'

दिल्ली महिला की आयोग की पूर्व अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इसी इंटरव्यू में कहा कि 13 मई को जब उन्हें मुख्यमंत्री आवास में पीटा जा रहा था तो केजरीवाल घर में ही मौजूद थे। स्वाति ने इस बात पर हैरानी जाहिर की कि मारपीट के दौरान वह जोर-जोर से चीखतीं रहीं, लेकिन कोई भी बचाने नहीं आया। स्वाति ने कहा कि यह जांच का विषय है कि बिभव ने उन पर हमला क्यों किया। स्वाति ने कहा कि वह इस मामले में अभी किसी को क्लीनचिट नहीं दे रही हैं।