ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRएमसीडी ने शुरू की बजट की तैयारी, विपक्ष ने थमाई मांगों की लिस्ट, मेयर ने किया पलटवार

एमसीडी ने शुरू की बजट की तैयारी, विपक्ष ने थमाई मांगों की लिस्ट, मेयर ने किया पलटवार

दिल्ली नगर निगम ने बजट पर काम शुरू कर दिया है। नेता विपक्ष राजा इकबाल सिंह ने संशोधित बजट अनुमान 2023-24 और बजट अनुमान 2024-25 पर अपना अभिभाषण देते हुए चर्चा शुरू की। पढ़ें यह रिपोर्ट...

एमसीडी ने शुरू की बजट की तैयारी, विपक्ष ने थमाई मांगों की लिस्ट, मेयर ने किया पलटवार
Krishna Singhराहुल मानव,नई दिल्लीWed, 31 Jan 2024 12:05 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली नगर निगम के नए वित्तीय वर्ष 2024-25 के बजट को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया मंगलवार से शुरू हो गई। नेता विपक्ष राजा इकबाल सिंह ने संशोधित बजट अनुमान 2023-24 और बजट अनुमान 2024-25 पर अपना अभिभाषण देते हुए चर्चा शुरू की। उन्होंने बजट पर विभिन्न सुझाव भी दिए। अब बजट पर फैसला करने के लिए 5 से 7 फरवरी के दौरान भी सदन की बैठक होगी। इसके बाद नेता सदन मुकेश गोयल 8 फरवरी को विभिन्न विभागों के लिए तय किए गए फंड और प्रोजेक्ट पर संशोधन करते हुए अंतिम बजट प्रस्तुत करेंगे। इससे पहले दिसंबर में आयुक्त ज्ञानेश भारती ने नए वित्तीय वर्ष के तहत 16,683 करोड़ रुपये का बजट पेश किया था।

AAP सरकार पर बरसे नेता विपक्ष
बजट के संबंध में महापौर डॉ शैली ओबरॉय ने उपमहापौर आलो मोहम्मद इकबाल और नेता सदन के प्रेसवार्ता भी की। उन्होंने कहा कि दिल्ली की कई आरडब्ल्यूए और बाजार संघों के प्रतिनिधियों के साथ पार्षदों ने बैठकें की हैं। उनके सुझावों को भी बजट पर अंतिम फैसला लेते हुए शामिल करेंगे। बजट की विशेष बैठक के दौरान नेता विपक्ष ने अपने अभिभाषण में सत्ता पक्ष पर निशाना साधते हुए कई आरोप भी लगाए। इन आरोपों पर सत्ता पक्ष ने भी पलटवार किया। 

चुनाव में किए वादों को नहीं किया पूरा : नेता विपक्ष
नेता विपक्ष ने दो घंटे से ज्यादा समय तक बजट पर अभिभाषण दिया। इस दौरान उन्होंने शायरी के तहत सत्ता पक्ष पर निशाना साधा। उन्होंने प्रेसवार्ता में आरोप लगाते हुए कहा कि निगम की सत्ता में आम आदमी पार्टी को काबिज हुए एक वर्ष हो गया है। लेकिन उन्होंने जनता से निगम चुनाव के दौरान किए गए वादों को पूरा नहीं किया है। दिल्ली में विकास का कोई नया कार्य शुरू नहीं हुआ है। कर्मचारियों के मुद्दों का समाधान नहीं हुआ है। एक नया निगम का स्कूल नहीं खोला गया है। दस गारंटी को पूरा करने में सत्ता पक्ष विफल हुआ है। कूड़े के पहाड़ को 1 जनवरी 2024 तक खत्म करने का लक्ष्य रखा था। लेकिन यह नहीं किया गया। 

ये सुझाव दिए 
- नेता विपक्ष ने अपने अभिभाषण में सुझाव देते हुए कहा कि निगम के इंजीनियरिंग विभाग को सुचारू रूप से चलाने के लिए नई भर्तियों की जरूरत है। 
- सभी पार्षदों को वार्ड में मरम्मत कार्यों के लिए पूरा सामान जैसे सीमेंट, बदरपुर, केच, जाली, मैनहोल के ढक्कन, पार्कों में फुटपाथ के लिए टाइल्स आदि उपलब्ध कराया जाए। जिससे वार्डों में मरम्मत कार्य लगातार चलते रहें।
- सभी पार्षदों को अपने वार्ड में विकास कार्यों के लिए कम से कम 2 करोड़ रुपये का फंड आवंटित किया जाए।
- विद्युत विङाग को अलग से बजट दिया जाए। जिससे दिवाली व अन्य त्योहारों के समय अंधेरे वाली जगहों को चिन्हित करें। उन्हें खत्म किया जाए। बिजली के पुराने लगे खंभों पर मरम्मत करें। 
- निगम राजस्व बढ़ाने के उपायों का अध्ययन करें और उसके लिए एक विशेष समिति का गठन का किया जाए। जिसके बाद उस समिति की सिफारिशों पर विचार कर उन्हें लागू करें। 
- संपत्ति कर में आम माफी योजना लाई जाए। 
- फैक्ट्री विभाग में लाइसेंसों का सरलीकरण करें और इंस्पेक्टर राज को खत्म करे।
- अस्पतालों में मरीजों की सुविधा ठीक प्रकार से हो, उसके लिए अस्पताल प्रशासन के बजट को बढ़ाया जाए।
- निगम के स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को बच्चों को दी जाने वाली छात्रवृति में वर्दी की रकम को 1 हजार से बढ़ाकर 2 हजार किया जाए।
- 10 नई गौशालाएं बनाई जाए।
- हर जोन में एक नया पशु व जानवरों के लिए अस्पताल बनाया जाए और विभाग का बजट भी बढ़ाया जाए।

नेता विपक्ष ने बजट भाषण में राजनीतिक भाषणबाजी की :  महापौर 
महापौर डॉ शैली ओबरॉय ने प्रेसवार्ता में नेता विपक्ष के भाषण पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हमारा मकसद है कि हम ऐसा बजट बनाएं जो दिल्ली की जनता के लिए हो। भाजपा ने सदन का माहौल मंगलवार को विशेष बैठक में शांति पूर्वक रखा क्योंकि नेता विपक्ष को राजनीतिक भाषण देना था। उन्होंने राजनीतिक भाषणबाजी की। निगम की सरकार लोगों के हितों में कार्य कर रही है। भाजपा के 15 वर्षों के शासन में जो भी कमियां रही हैं। उन्हें पूरा कर रहे हैं। इसमें समय लगेगा। 

नेता विपक्ष ने नहीं दिखाई गंभीरता 
महापौर डॉ शैली ओबरॉय ने कहा कि नेता विपक्ष ने अपने भाषण में गंभीरता नहीं दिखाई और शायरी के जरिए बजट पर भाषण दिया। नेता सदन मुकेश गोयल ने कहा कि मंगलवार से बजट सत्र की शुरुआत हुई है। हमें आशा थी कि नेता विपक्ष बजट पर अपने अच्छे सुझाव देंगे और दिल्ली के नागरिकों हितो में अपने सुझाव रखेंगे। उनके द्वारा रखे गए सुझावों को हम अपने बजट में समायोजित करने का प्रयास करेंगे। जिससे कि दिल्ली की जनता का फायदा होगा। लेकिन बहुत ही खेद के साथ कहना पड़ रहा है नेता विपक्ष के पूरे भाषण के अंदर कहीं भी इस प्रकार का सुझाव नहीं था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें