ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRMCD चुनाव 2022 : दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी का नाम वोटर लिस्ट से 'गायब', पत्नी ने किया मतदान

MCD चुनाव 2022 : दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी का नाम वोटर लिस्ट से 'गायब', पत्नी ने किया मतदान

एमसीडी चुनाव के लिए दल्लूपुरा के एक मतदान केंद्र पर अपना वोट डालने पहुंचे दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी को आज उस वक्त बड़ा झटका लगा, जब उन्हें पता चला कि उनका नाम वोटर लिस्ट से गायब है।

MCD चुनाव 2022 : दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी का नाम वोटर लिस्ट से 'गायब', पत्नी ने किया मतदान
Praveen Sharmaनई दिल्ली | एएनआईSun, 04 Dec 2022 10:06 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

Delhi MCD EElection 2022 : दिल्ली नगर निगम चुनाव (एमसीडी चुनाव) के लिए सभी 250 वार्ड पर रविवार सुबह से ही मतदान जारी है। एमसीडी चुनाव के लिए दल्लूपुरा के एक मतदान केंद्र पर अपना वोट डालने पहुंचे दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी को आज उस वक्त बड़ा झटका लगा, जब उन्हें पता चला कि उनका नाम वोटर लिस्ट से गायब है।

मतदान केंद्र के बाहर मीडिया कर्मियों से बात करते हुए अनिल चौधरी ने बताया कि मेरा नाम वोटर लिस्ट में नहीं है, मेरी पत्नी ने वोट डाल दिया है। डिलीट वोटर लिस्ट में भी मेरा नाम नहीं दिख रहा है। अधिकारी इसकी जांच कर रहे हैं। अभी तक ना मुझे लिस्ट के बारे में बताया जा रहा है ना मेरा नाम दिख रहा है, मैं अभी औपचारिक जानकारी का इंतजार कर रहा हूं।

बता दें कि, मतदान से पहले दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने आज सुबह अपनी पत्नी के साथ कालका माई के दरबार में मत्था टेका और सभी दिल्लीवासियों की खुशहाली के लिए मंगल कामना की है।

एमसीडी चुनाव: 1.45 करोड़ मतदाता करेंगे अपने मताधिकार का इस्तेमाल

एमसीडी के सभी 250 वार्ड के लिए आज मतदान हो रहा है और इस चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप), भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) तथा कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। एमसीडी चुनाव में 1.45 करोड़ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने के लिए योग्य हैं। चुनाव में कुल 1,349 उम्मीदवार मैदान में हैं। मतदान सुबह आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक होगा और मतगणना सात दिसंबर को होगी।

राज्य निर्वाचन आयोग के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में मतदाताओं की कुल संख्या 1,45,05,358 है, जिसमें 78,93,418 पुरुष, 66,10,879 महिलाएं और 1,061 ट्रांसजेंडर हैं। परिसीसन की कवायद और उत्तर, दक्षिण और पूर्वी दिल्ली नगर निगमों को मिलाकर एकीकृत एमसीडी बनाने के बाद यह पहला चुनाव है। एकीकृत एमसीडी 22 मई से अस्तित्व में आई है।

एमसीडी चुनाव में 'आप' और भाजपा दोनों ने विश्वास जताया है कि वे चुनावों में विजयी होंगी, जबकि कांग्रेस खोया हुआ अपना जनाधार हासिल करने की कोशिश कर रही है।

एमसीडी चुनाव सुगम तरीके से कराने के लिए करीब 40,000 पुलिसकर्मी, 20,000 होमगार्ड और अर्द्धसैनिक तथा राज्य सशस्त्र पुलिस बलों की 108 कंपनी को तैनात किया गया है। यहां 68 मतदान केंद्रों को मॉडल मतदान केंद्र बनाया गया है, जबकि 68 को 'पिंक' मतदान केंद्र बनाया गया है।

गौरतलब है कि साल 2017 में हुए निकाय चुनाव में भाजपा ने कुल 270 वार्ड में से 181 में जीत हासिल की थी। प्रत्याशियों के निधन के कारण दो सीट पर मतदान नहीं हो सका था। 'आप' ने 48 और कांग्रेस ने 27 वार्ड में जीत दर्ज की थी। 2017 में 53 फीसदी मतदान हुआ था।