DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़ा खुलासा : आनंद कुमार ने फर्जी कंपनियों के जरिये खरीदी संपत्ति!

bsp chief mayawati and her brother anand kumar

बसपा सुप्रीमो मायावती के भाई आनंद कुमार ने फर्जी कंपनियें के जरिए नोएडा में 400 एकड़ जमीन खरीदी थी। आयकर की जांच में इन बोगस कंपनियों का पूरा खुलासा हुआ है।

आयकर विभाग की बेनामी विंग ने गुरुवार को नोएडा सेक्टर-92 में जिस 21 एकड़ जमीन को अटैच किया था, उसकी जांच में पता चला कि 21 एकड़ में 7 एकड़ जमीन विजन टाउन प्लानर्स लिमिटेड के नाम से 400 करोड़ में खरीदी गई। इस रकम का भुगतान कैसे और किस स्रोत से किया गया? इसकी तलाश में अघोषित कमाई की पूरी कड़ी सामने आ गई।

जानें कैसे नौकरी छोड़कर करोड़पति होते गए मायावती के भाई आनंद कुमार

प्रॉपर्टी खरीदने के लिए जिस कंपनी के जरिए 400 करोड़ का भुगतान दिखाया गया है, उसकी जांच में लिंक एक अन्य कंपनी से मिला। जांच के क्रम में आनंद कुमार और विचित्रलता का फिर नाम आया। इससे साबित हो गया कि सभी कंपनियां आनंद कुमार की हैं। बोगस कंपनियों में यूरो एशिया मर्केन्टाइल, सनी कास्ट एंड फोर्ज और करिश्मा इंडस्ट्रीज थीं

नोएडा में जब्त प्लॉट की फाइल तलब

नोएडा (व.सं.) । बसपा में नंबर दो की हैसियत रखने वाले मायावती के भाई आनंद कुमार के भूखंड को आयकर विभाग की ओर से अटैच करने के बाद नोएडा प्राधिकरण में भी हड़कंप मच गया है। शुक्रवार को नोएडा प्राधिकरण की सीईओ ने इस मामले से संबंधित फाइल मंगा ली है। आने वाले दिनों में आयकर विभाग के समक्ष इस फाइल से संबंधित जानकारी नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों को देनी होगी। 

आयकर विभाग की ओर से मायावती के भाई आनंद के भूखंड को अटैच करने की कार्रवाई के बाद उसके साथ नोएडा प्राधिकरण में काम कर चुके अधिकारियों पर भी अब सीबीआई की नजर है। शुक्रवार को प्राधिकरण के अधिकतर विभागों में आनंद प्रकरण को लेकर चर्चा होती रही। शुक्रवार सुबह नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने इस भूखंड से संबंधित मामले की जानकारी लेने के लिए फाइल मंगाई। सीईओ ने व्यावसायिक विभाग से संबंधित अधिकारियों से इस भूखंड के बारे में पूरी जानकारी ली। अधिकारिक सूत्रों की मानें तो सेक्टर-94 स्थित इस भूखंड को एक अन्य नामी कंपनी को आवंटित किया गया था। इसके बाद यह भूखंड अन्य को बेचा गया। नोएडा प्राधिकरण के नोडल अधिकारी सलिल यादव का कहना है कि इस मामले की फाइल सीईओ ने मंगाई है, इसकी जानकारी उन्हें नहीं है।

कानपुर, लखनऊ और गाजियाबाद में जांच

एक संपत्ति के बेनामी होने के साथ ही आयकर विभाग के पास सभी संपत्तियों की जांच के रास्ते खुल गए हैं। यूपी वेस्ट में प्रधान आयकर निदेशक जांच अमरेन्द्र कुमार के नेतृत्व में कानपुर, लखनऊ और गाजियाबाद सहित उन सभी शहरों में जांच की प्रक्रिया शुरू की गई है, जहां आनंद कुमार और उनके परिजनों की संपत्तियां हैं। यूपी विंग को भी अलर्ट कर दिया है। आनंद के अलावा एक दर्जन से अधिक अन्य रिश्तेदार अभी भी नोएडा प्राधिकरण में कार्यरत हैं।

जब्त जमीन पर फाइव स्टार होटल बनाने की थी योजना

आयकर विभाग द्वारा आनंद के जिस भूखंड को जब्त किया गया है, आयकर विभाग के अधिकारियों के अनुसार दिल्ली से सटी प्राइम लोकेशन की इस जमीन पर फाइव स्टार होटल बनाया जाना था। इसकी पूरी तैयारी चल रही थी। आयकर विभाग ने मायावती के भाई आनंद कुमार और भाभी विचित्रलता का व्यवसायिक प्लॉट जब्त कर लिया है। आयकर विभाग के मुताबिक, इस प्लॉट को बेनामी संपत्ति माना गया है। नोएडा के सेक्टर 94 में स्थित 7 एकड़ के इस प्लॉट की कीमत करीब 400 करोड़ है।

हम घबराने वाले नहीं : मायावती

लखनऊ। बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा है कि बसपा और वह खुली किताब हैं। भाजपा कुछ भी कर ले वह घबराने वाली नहीं हैं। भाई आनंद पर हुई कार्रवाई पर मायावती ने कहा है कि भाजपा अपने गिरेबान में भी झांके। भाई आनंद पर हुई कार्रवाई पर उन्होंने कहा है कि भाजपा अपने नेताओं की भी जांच कराए कि राजनीति में आने से पहले क्या थे और अब क्या हैं? आम चुनाव में 2000 करोड़ रुपये से अधिक भाजपा को मिले थे। इस धन का खुलासा करे। उन्होंने कहा है कि भाजपा दलितों और किसानों को परेशान कर रही है। लेकिन कारोबार करने से दलित घबराएं नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mayawati Brother Anand Kumar had bought Benami Properties through fake companies