ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRबिहार के बैंक में एक करोड़ की हुई थी चोरी, अब दिल्ली के नामी कैफे से चोर अरेस्ट; कर रहा था गार्ड की नौकरी

बिहार के बैंक में एक करोड़ की हुई थी चोरी, अब दिल्ली के नामी कैफे से चोर अरेस्ट; कर रहा था गार्ड की नौकरी

बिहार के वैशाली जिले लालगंज में तिनपुलवा चौक पर स्थित एक्सिस बैंक शाखा में पांच हथियारबंद बदमाशों ने बैंक कर्मियों को गन प्वॉइंट पर रखकर तकरीबन एक करोड़ रुपये लूटकर फरार हो गए थे।

बिहार के बैंक में एक करोड़ की हुई थी चोरी, अब दिल्ली के नामी कैफे से चोर अरेस्ट; कर रहा था गार्ड की नौकरी
Swati Kumariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 01 Dec 2023 08:39 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के लालगंज में एक्सिस बैंक शाखा से 1 करोड़ रुपये की चोरी से जुड़े एक डकैती मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है। पुलिस ने इस मामले में दिल्ली से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार, मामले में पहचाना गया संदिग्ध मणि कुमार (40) है, जिसे तीन अलग-अलग बैंक डकैतियों में आरोपी पाया गया है। पुलिस आयुक्त (उत्तर) मनोज कुमार मीणा ने कहा, 'हमने आरोपी को कनॉट प्लेस स्थित एक प्रतिष्ठित कैफे से गिरफ्तार किया। वह पिछले 10 दिनों से वहां सुरक्षा गार्ड के तौर पर काम कर रहा था। आरोपी आदतन अपराधी है और अपने हिस्से का पैसा लेकर नेपाल भाग गया था।'

बता दें कि बिहार के वैशाली जिले लालगंज में तिनपुलवा चौक पर स्थित एक्सिस बैंक शाखा में पांच हथियारबंद बदमाशों ने बैंक कर्मियों को गन प्वॉइंट पर रखकर तकरीबन एक करोड़ रुपये लूटकर फरार हो गए थे। लूट के दौरान, बैंक में सुरक्षा के लिए महज एकमात्र गार्ड मौजूद था। हथियारबंद बदमाशों ने आराम से लूट की और फरार हो गए। पांच लुटेरे सुबह 10.56 बजे दो बाइक से बैंक के गेट पर पहुंचे और 11.08 बजे बैंक से लूटपाट करके निकल गए।

इसके बाद भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं को शामिल करते हुए एक एफआईआर दर्ज की गई। बिहार पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। पुलिस ने बताया कि 28 नवंबर को उन्हें खबर मिली कि आरोपी मणि कुमार लाल किले के पास एक पार्किंग स्थल में छुप रहा है। डीसीपी ने कहा, 'खबर मिलने के बाद आरोपियों को पकड़ने के लिए एक टीम का गठन किया गया। 30 से अधिक पार्किंग स्थल और कुछ अन्य स्थानों की जांच की गई। कोई सुराग नहीं मिला और जब ऑपरेशन बंद होने वाला था, लेकिन तभी एक अहम सुराग मिला। इसके बाद कुमार को एक कैफे से पकड़ लिया गया।'

डीसीपी मीणा ने कहा, 'शुरुआत में वह पुलिस को गुमराह करने के लिए अपना बयान बदल रहा था। बाद में आरोपी मणि कुमार की पहचान करने और लिंक करने के लिए आईसीजेएस (इंटर-ऑपरेबल क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम) डेटा का इस्तेमाल किया गया। पूछताछ के दौरान पाया गया कि आरोपी पहले तीन बैंक डकैतियों में शामिल था और बिहार के मुजफ्फरपुर और पूर्वी चंपारण के आसपास के इलाके में खूंखार अपराधियों का एक गिरोह चलाता है। उसके पास 15 से 18 अपराधियों का एक गिरोह है। आरोपी अपराध के बाद नेपाल भी भाग गया और बाद में दिल्ली आ गया।


गुरुग्राम से आकर दिल्ली में झपटमारी करने वाला गिरफ्तार
उधर, गुरुग्राम से दिल्ली आकर झपटमारी करने वाले एक बदमाश को द्वारका पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी अजय उर्फ बोडा के पास से पुलिस ने सोने की चेन और बाइक बरामद की है। आरोपी पर आधा दर्जन से ज्यादा केस दर्ज हैं। वह अक्सर गुरुग्राम से आकर दिल्ली में वारदात करता था। पुलिस उपायुक्त एम. हर्षवर्धन ने बताया कि 21 नवंबर को द्वारका नॉर्थ थाने में झपटमारी की शिकायत दी। शिकायतकर्ता ने बताया कि वह अपने बच्चे के साथ स्कूटी से घर जा रही थी। इसी दौरान बाइक चालक ने उसकी चेन झपट ली। इंस्पेक्टर रघुवीर सिंह की टीम ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से आरोपी की पहचान की और गुरुग्राम स्थित चोमा गांव से आरोपी को दबोच लिया। 
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें