ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRग्रेटर नोएडा में बड़ा हादसा, पानी के टैंक में डूबने से 3 कर्मचारियों की मौत

ग्रेटर नोएडा में बड़ा हादसा, पानी के टैंक में डूबने से 3 कर्मचारियों की मौत

ग्रेटर में सोमवार को बड़ा हादसा सामने आया है। यहां एक कंपनी के सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट में डूबने से तीन कर्मचारियों की मौत हो गई। इस मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची है।

ग्रेटर नोएडा में बड़ा हादसा, पानी के टैंक में डूबने से 3 कर्मचारियों की मौत
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,ग्रेटर नोएडाMon, 24 Jun 2024 09:30 PM
ऐप पर पढ़ें

सोमवार को ग्रेटर नोएडा में बड़ा हादसा हो गया। पानी के टैंक में डूबने के बाद दम घुटने से तीन कर्मचारियों की मौत हो गई। मामले की मिलने के बाद पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची है। ट्रीटमेंट प्लांट में डूबे तीनों लोगों को बाहर निकाला गया और अस्पताल ले जाया गया। यहां डॉक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। मामला ईकोटेक-1 क्षेत्र का है। यहां कोफोर्ज कंपनी के सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट में पानी में डूबने से तीनों की मौत हो गई। तीनों मृतकों की पहचान की जा चुकी है।

तीनों मृतकों की पहचान मोहित पुत्र राजकरण निवासी ग्राम हतेवा, थाना दनकौर, गौतमबुद्धनगर, हरिगोविंद पुत्र राम नारायण निवासी गणेशगंज, थाना मंगलपुर, कानपुर देहात और अंकित पुत्र अशोक कुमार निवासी टाटिया भेबुड़िया, बरसाना, मथुरा पानी के रूप में हुई है। ये तीनों पानी के टैंक में डूब गए थे। इसकी सूचना पर पुलिस द्वारा तत्काल मौके पर पहुंचकर तीनो व्यक्तियों को फायर ब्रिगेड की मदद से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट से निकलवाकर अस्पताल भेजा गया। जहां पर डॉक्टरों द्वारा तीनों व्यक्तियों को मृत घोषित कर दिया गया।

तीनों व्यक्ति कोफोर्ज कंपनी में मेंटेनेंस विभाग में कार्य करते थे। जिनकी ड्यूटी सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट पर रहती है। तीनों व्यक्ति आज सुबह अपनी ड्यूटी पर आए थे और ड्यूटी के दौरान ही सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के टैंक में गिरकर डूब गए। थाना इकोटेक-1 पुलिस द्वारा अग्रिम आवश्यक विधिक कार्रवाई की जा रही है। मौके पर शांति व्यवस्था कायम है। संबंधित कम्पनी के विरूद्ध अभियोग पंजीकृत किया जा रहा है। इस मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है।

इस मामले की सूचना मिलने के बाद जब मौके पर फायर ब्रिगेड की टीम पहुंची तो डूबने वालों को बाहर निकाला गया। बाहर निकालने के बाद इस उम्मीद में अस्पताल ले जाया गया था कि उनकी जिंदगी बचा ली जाए। हालांकि, डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उनकी मौत पानी में डूबने के बाद दम घुटने से हुई है।