ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR1500 खरीदारों को नहीं दिया घर, बहन की आलीशान शादी में उड़ा दिए करोड़ों; ED के माहिरा होम्स निदेशक पर क्या-क्या आरोप

1500 खरीदारों को नहीं दिया घर, बहन की आलीशान शादी में उड़ा दिए करोड़ों; ED के माहिरा होम्स निदेशक पर क्या-क्या आरोप

प्रवर्तन निदेशालय का आरोप है कि माहिरा होम्स के निदेशक ने 1500 खरीदारों से वसूली गई करोड़ों की राशि का दुरुपयोग किया। ईडी को माहिरा होम्स के प्रबंध निदेशक सिकंदर सिंह छोकर की तीन और दिन की रिमांड मिली

1500 खरीदारों को नहीं दिया घर, बहन की आलीशान शादी में उड़ा दिए करोड़ों; ED के माहिरा होम्स निदेशक पर क्या-क्या आरोप
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,गुरुग्रामTue, 07 May 2024 06:06 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने माहिरा होम्स समूह के प्रबंध निदेशक सिकंदर सिंह छोकर की पांच दिन की रिमांड पूरी होने के बाद सोमवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुभास मेहला की अदालत में पेश किया। अदालत ने उनकी रिमांड तीन दिन और बढ़ा दी। सुनवाई के दौरान ईडी ने कहा कि आरोपी जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। ईडी ने छोकर की नौ दिन की और रिमांड मांगी। ईडी ने कोर्ट को अवगत करवाया कि सेक्टर-68 स्थित माहिरा होम्स के करीब 1500 खरीदारों से वसूली गई करोड़ों की राशि का दुरुपयोग हुआ है। 

राशि से दिल्ली, गुरुग्राम और उत्तराखंड में बेनामी संपत्ति, लग्जरी कार, गहने अर्जित किए गए हैं। करोड़ों रुपये खातों से नकद निकाले गए हैं। कोर्ट को यह भी बताया कि बहन की आलीशान शादी भी इस राशि से की। ईडी अब तक छोकर, सिकंदर सिंह और विकास के नाम पर 36.5 करोड़ की संपत्ति को इस मुकदमे के साथ जोड़ चुकी है। ईडी ने कोर्ट को बताया कि पांच दिन के रिमांड के दौरान चार लोगों को सामने बैठाकर पूछताछ की गई थी। अब रिमांड के दौरान सात और लोगों से भी पूछताछ करनी है। जबकि प्रबंध निदेशक के वकील ने ईडी के रिमांड मांगने का विरोध किया और उन्होंने कहा कि उन पर लगाए गए आरोप गलत है।

वकील मुलाकात कर सकेंगे 

कोर्ट ने तमाम साक्ष्यों को देखते हुए ईडी को तीन दिन रिमांड की अवधि और बढ़ा दी। रिमांड के दौरान कोर्ट ने ईडी को निर्देश दिए कि आरोपी को मेडिकल करवाना होगा। इसके अलावा रोजाना दोपहर को दो से तीन बजे के बीच उनके वकील उनसे मिल सकते हैं।

बहन की शादी में खर्च की रकम

ईडी ने कोर्ट को अवगत करवाया कि सेक्टर-68 स्थित माहिरा होम्स के करीब 1500 खरीदारों से वसूली गई करोड़ों की राशि का दुरुपयोग हुआ है। राशि से दिल्ली, गुरुग्राम और उत्तराखंड में बेनामी संपत्ति, लग्जरी कार, गहने अर्जित किए गए हैं। करोड़ों रुपये खातों से नकद निकाला गया है। कोर्ट को यह भी बताया कि बहन की आलीशान शादी भी इस राशि से की। ईडी अब तक छोकर, सिकंदर सिंह और विकास के नाम पर 36.5 करोड़ की संपत्ति को इस मुकदमे के साथ जोड़ चुकी है।

104 करोड़ रुपयों का दुरुपयोग

ईडी ने बताया कि साईं आईना फार्म प्राइवेट लिमिटेड ने फर्जी बैंक गारंटी देकर सेक्टर-68 स्थित माहिरा होम्स को विकसित करने के लिए लाइसेंस लिया था। ईडीसी के नाम पर करीब 2.63 करोड़ और आईडीसी के नाम पर करीब 1.24 करोड़ की फर्जी बैंक गारंटी थी। 31 मई, 2023 को राजेंद्रा पार्क में माहिरा बिल्डटैक प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ फर्जी दस्तावेज पेश करके 163.41 करोड़ रुपये फ्लैट खरीदारों से वसूलने को लेकर एफआईआर दर्ज है। करीब 104.13 करोड़ रुपये का दुरुपयोग हुआ है।

पांच हजार परिवार परेशान

माहिरा होम्स समूह ने सेक्टर 63ए, 68, 95, 103 और 104 में अफोर्डेबल हाउसिंग पॉलिसी के तहत खरीदारों से करोड़ों रुपये वसूल किए हैं। सभी काम बंद होने के कारण करीब पांच हजार परिवार परेशान हैं।

वर्ष 2021 में दर्ज हुआ था केस

14 जनवरी, 2021 को माहिरा होम्स समूह के प्रबंध निदेशक सिकंदर सिंह छोकर के खिलाफ थाना सुशांत लोक में धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज हुई थी। ईडी ने प्रीवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट, 2002 के तहत मामला दर्ज किया था।