अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क हादसे में एक मृत व्यक्ति के परिजनों को मिलेगा 57 लाख रुपये मुआवजा

court

मोटर दुर्घटना दावा निपटारा न्यायाधिकरण (एमएसीटी) ने वर्ष 2016 में एक सड़क दुर्घटना में मारे गए 44 साल के व्यक्ति के परिजनों को 57 लाख रुपये से अधिक के मुआवजे का आदेश दिया है।

एमएसीटी के पीठासीन अधिकारी परमजीत सिंह ने दुर्घटना में शामिल वाहन का बीमा करने वाली कंपनी श्रीराम जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को दक्षिण पश्चिम दिल्ली के निवासी नीरज शर्मा के परिवार को नौ प्रतिशत सालाना की ब्याज के साथ 57 लाख 27 हजार रुपये देने का आदेश दिया।

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, अदालत ने कहा कि यह साबित हुआ है कि दिवंगत नीरज शर्मा को लापरवाही से चलाए जा रहे वाहन से हुई दुर्घटना में गंभीर चोटें आईं और उनकी मौत हो गई। यह वाहन राजीव द्वारा चलाया जा रहा था और वही इस वाहन के मालिक थे। दुर्घटना के समय यह वाहन श्रीराम जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड से बीमाकृत था।

कब और कैसे हुआ था हादसा?

11 अक्टूबर 2016 को एक ऑटोरिक्शा ने शर्मा के स्कूटर में पीछे से टक्कर मारी जिसमें उन्हें गंभीर चोटें लगीं और उन्हें वहां से अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

अदालत ने मुआवजे की राशि पर फैसला करते वक्त इस तथ्य पर गौर किया कि नीरज शर्मा दुर्घटना के वक्त एक निजी कारेाबार कर रहा था और वह हर साल 12 लाख रुपये कमा रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:MACT awards Rs 57 lakh to kin of accident victim