Lord Krishna gave Narsi ka Bhaat in Shamsherpur village - Krishna Janmashtami 2019 :शमशेरपुर गांव में भगवान कृष्ण ने दिया था नरसी का भात DA Image
12 नबम्बर, 2019|1:06|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Krishna Janmashtami 2019 :शमशेरपुर गांव में भगवान कृष्ण ने दिया था नरसी का भात

happy krishna janmashtami images

गाजियाबाद जिले के मुरादनगर में पाइप लाइन मार्ग स्थित भगवान श्रीकृष्ण से जुड़े गांव शमशेरपुर में जन्माष्टमी की धूम है। यहां जन्माष्टमी आयोजन को देखने के लिए गांव में काफी दूर से लोग आते हैं। इस गांव में महाभारत काल के साक्ष्य मिले थे। कहा जाता है कि 15वीं शताब्दी में भगवान श्रीकृष्ण ने गांव शमशेरपुर में अपने परम भक्त नरसी का भात दिया था। इसके निशान आज भी गांव में देखने को मिल जाते हैं।

पाइप लाइन मार्ग पर गांव शमशेरपुर स्थित है। गांव में पांच हजार से अधिक लोग रहते है। एमएम डिग्री कॉलेज के इतिहास के प्रोफेसर केके शर्मा ने बताया कि उनकी टीम काफी समय से गांव शमशेरपुर का सर्वे कर रही है।

श्रीकृष्ण ने अनन्य भक्त थे नरसी : प्रोफेसर केके शर्मा ने बताया कि 15वीं शताब्दी गुजरात निवासी नरसी मेहता भगवान श्रीकृष्ण के अनन्य भक्त थे। उनकी बेटी ने अपनी पिता नरसी से अपनी बेटी का भात देने के लिए कहा था। नरसी अपनी मंडली के साथ खाली हाथ भात देने के लिए गांव शमशेरपुर आ गए।

ग्राम प्रधान प्रमोद कुमार ने बताया कि बुजुर्ग बताते हैं कि नरसी ने भगवान श्रीकृष्ण को याद किया। इसके बाद भगवान श्रीकृष्ण को खुद ही भात देने आना पड़ा। भात देते समय एक घंटे तक सोने की बारिश हुई थी।

ये भी पढ़ें : कृष्ण का अर्थ है, सबसे अधिक आकर्षक -जो आपकी आत्मा है, आपका अस्तित्व है

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lord Krishna gave Narsi ka Bhaat in Shamsherpur village