ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRचुनाव में ध्यान से खर्च करें उम्मीदवार, बहीखाते में जुड़ेगा झंडे से लेकर डंडे का शुल्क; आयोग ने तय की रेट लिस्ट

चुनाव में ध्यान से खर्च करें उम्मीदवार, बहीखाते में जुड़ेगा झंडे से लेकर डंडे का शुल्क; आयोग ने तय की रेट लिस्ट

इस साल लोकसभा चुनाव होने हैं ऐसे में चुनाव आयोग ने भी तैयारियां शपुरू कर दी हैं। इस बार चुनाव के मैदान में उतरने वाले उम्मीदवारों को संभलकर खर्चा करना होगा। आयोग ने हर चीज के दाम तय कर दिए हैं।

चुनाव में ध्यान से खर्च करें उम्मीदवार, बहीखाते में जुड़ेगा झंडे से लेकर डंडे का शुल्क; आयोग ने तय की रेट लिस्ट
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,गाजियाबादWed, 31 Jan 2024 10:09 AM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव के मैदान में उतरने वाले उम्मीदवारों को संभलकर खर्चा करना होगा। कार्यालय में स्वागत का खर्च भी जुड़ेगा। कैंप में चाय पी तो उसकी रकम नेताजी के बहीखाते में जुड़ जाएगी। झंडे से लेकर डंडे तक का शुल्क चुनावी खर्च में जुड़ेगा। भीड़ में कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के लिए उपयोग सामान का भी खर्च चुनावी खर्चे में जोड़ा जाएगा।

जल्द लोकसभा चुनाव की घोषणा होने वाली है। निर्वाचन आयोग के निर्देश पर प्रशासन इसकी तैयारी में जुटा है। जिला प्रशासन की ओर से चुनाव प्रचार के दौरान व्यय करने वाली सामग्री की दरें तय कर दी है। इसमें ऐसा कोई सामान नहीं है, जिसे उम्मीदवार उपयोग करे तो उनका खर्चा उसके खाते में न जोड़ा जाए। प्रत्याशी क्या खा रहा, क्या खिला रहा है, कहां जा रहा है और कहां बैठ रहा है। उसमें होने वाले सभी प्रकार का व्यय उसके चुनावी खर्च में जोड़ा जाएगा।

चाय से लेकर मठरी तक का रेट तय 

चुनाव आयोग की ओर से कपड़े के एक फीट गुना डेढ़ फीट वाले झंडे के सात रुपये तय किए हैं। वहीं तीन फीट लंबे डंडे का रेट 15 रुपये होगा। गले में प्रत्याशी पटका पहना मिला तो उसकी कीमत सात रुपये होगी। वहीं लाउडस्पीकर से प्रचार का खर्च प्रति दिन 800 सौ रुपये होगा। मल्टीकलर के हैंड बिल मिले तो साढ़े चार हजार रुपये प्रति हजार की दर लगेगी। किसी होटल में उम्मीदवार के नाम से कोई ठहरा तो एक हजार से दस हजार रुपये प्रतिदिन का खर्च माना जाएगा। फूल माला से कहीं स्वागत हुआ तो 12 रुपये प्रतिमाला का खर्च जुड़ेगा। उम्मीदवार किसी से मिलने जाएगा तो हाथ ही जोड़ सकेगा। 

कैंप कार्यालय में प्रकाश के लिए लगे 100 वाट के बल्ब की की दर 15 रुपये होगी। दरी, कन्नात, बिस्तर, चांदनी, सोफा, तिरपाल का खर्च भी चुनावी खर्चे में शामिल होगा। इतना ही नहीं यहां बैठने के लिए कुर्सी की दर 12 रुपये रहेगी। कैंप में पानी पिलाने के लिए स्टील का गिलास मिला तो उसकी दर तीन रुपये मानी जाएगा। नेताजी के कैंप में चाय दस रुपये और काफी 20 रुपये की होगी। साथ में मठरी की इच्छा हुई तो पांच रुपये की होगी। टीवी पर समाचार देखने की इच्छा हुई तो उसकी दर 2250 सौ रुपये होगी। पंडित से हवन कराया तो 1200 रुपये की फीस मानी जाएगी तो कलावा चार रुपये होगा।

इस पर भी नजर रखी जाएगी

कोरोना की गाइडलाइन के लिए उपयोग सामग्री भी चुनावी खर्चे में शामिल होगा। तीन लेयर वाले फेस मास्क की दर 5 रुपये होगी तो दस्ताने की दर 75 पैसे होगी। सेनेटाइजर की 100 एमएल की बोतल की कीमत 25 रुपये तय की गई है। वहीं एक हजार एमएल की दर 150 रुपये होगी। सुबन 50 रुपये, फेस शील्ड 50 रुपये व पीपीटी किट की दर 450 रुपये तय की गई है। थर्मल स्कैनर की दर 1250 रुपये होगी। प्रत्याशियों के लिए चुनाव में व्यय निर्धारित सीमा के भीतर ही करना होगा। इसके लिए इस्तेमाल करने वाली सामग्री की दर तय कर दी गई है। सभी पार्टी प्रतिनिधियों को भी इससे अवगत करा दिया गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें