DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पश्चिमी दिल्ली की जनता ने प्रवेश वर्मा को दिलाई सबसे बड़ी जीत, बनाया नया रिकॉर्ड

bjp candidate pravesh verma gets biggest victory in delhi

लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम आने के बाद दिल्ली की 7 संसदीय सीटों में से एक पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट पर सबसे बड़ी जीत देकर एक बार फिर क्षेत्र की जनता ने भाजपा प्रत्याशी प्रवेश वर्मा को अपना सांसद चुन लिया है। प्रवेश वर्मा ने कांग्रेस के महाबल मिश्रा को 5,78,486 वोटों से पछाड़ कर अपने ही पुराने  रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया है। 2014 का लोकसभा चुनाव भी प्रवेश वर्मा ने 2,68,586 वोटों के साथ जीतकर दिल्ली में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था।

पश्चिमी दिल्ली सीट से भाजपा प्रत्याशी प्रवेश वर्मा को 8,65,648 वोट मिले हैं। वहीं, उनके प्रतिद्वंद्वी रहे कांग्रेस के नेता महाबल मिश्रा को 2,87,162 वोटों से संतोष करना पड़ा और और 'आप' के बलबीर जाखड़ को मात्र 2,51,873 वोट प्राप्त हुए हैं। इस बार इस सीट पर 23,67,509  मतदाताओं ने मताधिकार के माध्यम से अपना सांसद चुना है। दिल्ली में 12 मई को वोट डाले गए थे। 

पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट के अंतर्गत मादीपुर, राजौरी गार्डन, हरि नगर, तिलक नगर, जनकपुरी, विकासपुरी, उत्तम नगर, द्वारका, मटियाला और नजफगढ़ जैसे विधानसभा क्षेत्र आते हैं।

इनके बीच रहा त्रिकोणीय मुकाबला

प्रवेश वर्मा : राजनीतिक परिवार से आने वाले 41 वर्षीय प्रवेश वर्मा सीट से मौजूदा सांसद हैं। उनके पिता साहिब सिंह वर्मा भी भाजपा के कद्दावर नेता रहे थे और उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री की गद्दी भी संभाली थी। प्रवेश वर्मा को दिल्ली में भाजपा के सबसे युवा नेताओं में शामिल किया जाता है।

महाबल मिश्रा : 66 वर्षीय महाबल मिश्रा को प्रमुख पूर्वांचली नेता माना जाता है। वह तीन बार विधायक रह चुके हैं। वहीं, वर्ष 2009 के लोकसभा चुनावों में उन्हे पश्चिमी दिल्ली सीट से जीत हासिल हुई थी। हालांकि, वर्ष 2014 में वह विजय हासिल नहीं कर सके। इस बार के चुनाव में महाबल मिश्रा को टक्कर का उम्मीदवार माना जा रहा था।

बलबीर जाखड़ : 47 वर्षीय बलबीर जाखड़ पहली बार मुख्यधारा की राजनीति में उतरे थे। इससे पहले वह द्वारका कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे हैं। ‘आप' ने मार्च में इनका नाम इस सीट पर अपने उम्मीदवार के तौर पर घोषित किया था। फिलहाल, इस सीट पर जीत के दावेदारों में उनका नाम भी शामिल किया जा रहा था।

60 फीसदी हुआ मतदान

राजधानी की सातों संसदीय सीटों पर कुल 164 उम्मीदवार मैदान में थे। यहां 12 मई को लोकसभा चुनाव के छठे चरण में हुए मतदान में केवल 60 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था, जबकि 2014 में 65 प्रतिशत वोट पड़े थे।

60 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मी रहे तैनात

मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे और पूरे शहर में होम गार्ड तथा अर्धसैनिक बलों समेत 60 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया था। मतदान केंद्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए 39,000 पुलिसकर्मी और 13,000 होमगार्ड शामिल थे।

2014 के लोकसभा चुनाव की स्थिति

2014 के लोकसभा चुनाव में पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद प्रवेश वर्मा (भाजपा) को 6,51,395 वोट, जरनैल सिंह (आप) को 3,82,809 वोट और महाबल मिश्रा (कांग्रेस) को 1,93,266 वोट प्राप्त हुए थे।

2019 में यहां की मौजूदा स्थिति 

कुल मतदाता : 23,67,509

पुरुष मतदाता : 12,76,652

महिला मतदाता : 10,90,797

ट्रांस जेंडर मतदाता : 60

दिल्ली की सातों सीटों पर ये थे तीनों पार्टियों के उम्मीदवार

संसदीय सीट भाजपा कांग्रेस आप
चांदनी चौक डॉ. हर्षवर्धन जेपी अग्रवाल पंकज गुप्ता
नई दिल्ली मीनाक्षी लेखी अजय माकन बृजेश गोयल
पूर्वी दिल्ली गौतम गंभीर (क्रिकेटर) अरविंदर सिंह लवली आतिशी
उत्तर पूर्वी दिल्ली मनोज तिवारी शीला दीक्षित दिलीप पांडे
पश्चिमी दिल्ली प्रवेश वर्मा महाबल मिश्रा बलबीर सिंह जाखड़
उत्तर-पश्चिमी दिल्ली हंसराज हंस (सिंगर) राजेश लिलोठिया गुग्गन सिंह
दक्षिणी दिल्ली रमेश बिधूड़ी विजेंद्र सिंह (बॉक्सर) राघव चड्ढा

उत्तर-पूर्वी दिल्ली पर चला मनोज तिवारी का जादू, शीला को बुरी तरह हराया

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019 Results BJP Candidate Pravesh Verma gets Biggest victory in Delhi