DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी सुनामी के सहारे नई दिल्ली में फिर खिला 'कमल', 2.50 लाख से ज्यादा वोटों से जीतीं मीनाक्षी लेखी

bjp candidate from new delhi constituency meenakshi lekhi  file photo

लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम घोषित के बाद राजधानी दिल्ली की 7 संसदीय सीटों में से एक वीवीआईपी नई दिल्ली लोकसभा सीट पर एक बार फिर 'कमल' खिल गया है। मोदी लहर के सहारे यहां से मौजूदा सांसद और भाजपा की उम्मीदवार मीनाक्षी लेखी ने अपने निकट प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के अजय माकन को 2,56,504 वोटों से पराजित कर शानदार जीत दर्ज की है। 

नई दिल्ली लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद और भाजपा प्रत्याशी मीनाक्षी लेखी को इस बार 5,04,206 वोट मिले हैं। वहीं, उनके प्रतिद्वंद्वी रहे कांग्रेस नेता अजय माकन को 2,47,702 वोटों से संतोष करना पड़ा और 'आप' के बृजेश गोयल को मात्र 1,50,342 वोट प्राप्त हुए हैं। दिल्ली में 12 मई को वोट डाले गए थे।

नई दिल्ली सीट के अंतर्गत नई दिल्ली, कस्तूरबा नगर, करोलबाग, पटेल नगर, मोती नगर, दिल्ली कैंट, राजिंदर नगर, मालवीय नगर, आरके पुरम, ग्रेटर कैलाश जैसे पॉश इलाके आते है। इस बार इस वीवीआईपी सीट पर 16 लाख से ज्यादा मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। लोकसभा चुनाव में यहां से तीनों बड़े दलों के प्रत्याशियों के चुनावी अखाड़े में उतरने से मुकाबला त्रिकोणीय हो गया था। 

इनके बीच था त्रिकोणीय मुकाबला

मीनाक्षी लेखी : 52 वर्षीय मीनाक्षी लेखी पेशे से वकील है। वर्तमान में नई दिल्ली सीट से सांसद है। पार्टी ने इन्हें लगातार दूसरी बार यहां से उम्मीदवार बनाया है। मीनाक्षी लेखी महिला आरक्षण बिल की ड्राफ्ट समिति में शामिल रही हैं। वह चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस के चौकीदार को लेकर चलाए जा रहे कैंपेन के खिलाफ कोर्ट गईं। इसके बाद ही वह चर्चा में आ गई थीं।

अजय माकन : 55 वर्षीय अजय माकन तीन बार 1993 से 2004 तक विधायक रहे हैं। इसके बाद वह वर्ष 2004 और फिर वर्ष 2009 में लगातार दो बार सांसद चुने गए। मनमोहन सरकार में वह केंद्रीय मंत्री भी रहे। वह पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं। हालांकि, वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में वह हारे गए थे। इनके पास एमए की डिग्री है।

बृजेश गोयल : आप प्रत्याशी बृजेश गोयल पेशे से व्यापारी है। ‘आप' के गठन के साथ ही वह पार्टी से जुड़े रहे हैं। यह उनका पहला चुनाव है। वह ‘आप' के व्यापारी प्रकोष्ठ के संयोजक रहे हैं। सीलिंग के दौरान उन्होंने व्यापारियों के बीच काफी काम किया था। उसके चलते ही पार्टी उन्हें टिकट दिया है। इस वीआईपी सीट के वह सबसे लो प्रोफाइल उम्मीदवार है। 

60 फीसदी हुआ मतदान

राजधानी की सातों संसदीय सीटों पर कुल 164 उम्मीदवार मैदान में थे। यहां 12 मई को लोकसभा चुनाव के छठे चरण में हुए मतदान में केवल 60 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था, जबकि 2014 में 65 प्रतिशत वोट पड़े थे।

60 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मी रहे तैनात

मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे और पूरे शहर में होम गार्ड तथा अर्धसैनिक बलों समेत 60 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया था। मतदान केंद्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए 39,000 पुलिसकर्मी और 13,000 होमगार्ड शामिल रहे।

2014 लोकसभा चुनाव की स्थिति

2014 के लोकसभा चुनाव में नई दिल्ली लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद और भाजपा प्रत्याशी मीनाक्षी लेखी को 4,53,350 वोट मिले थे। वहीं, उनके प्रतिद्वंद्वी रहे 'आप' के आशीष खेतान 2,90,642 वोट और कांग्रेस नेता अजय माकन को 1,82,893 वोट से संतोष करना पड़ा था।

दिल्ली की सातों सीटों पर ये थे तीनों पार्टियों के उम्मीदवार

संसदीय सीट भाजपा कांग्रेस आप
चांदनी चौक डॉ. हर्षवर्धन जेपी अग्रवाल पंकज गुप्ता
नई दिल्ली मीनाक्षी लेखी अजय माकन बृजेश गोयल
पूर्वी दिल्ली गौतम गंभीर (क्रिकेटर) अरविंदर सिंह लवली आतिशी
उत्तर पूर्वी दिल्ली मनोज तिवारी शीला दीक्षित दिलीप पांडे
पश्चिमी दिल्ली प्रवेश वर्मा महाबल मिश्रा बलबीर सिंह जाखड़
उत्तर-पश्चिमी दिल्ली हंसराज हंस (सिंगर) राजेश लिलोठिया गुग्गन सिंह
दक्षिणी दिल्ली रमेश बिधूड़ी विजेंद्र सिंह (बॉक्सर) राघव चड्ढा
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019 Results : BJP candidate Meenakshi Lekhi wins again New Delhi Constituency