DA Image
27 मार्च, 2020|7:25|IST

अगली स्टोरी

जुमे की नमाज पर भी दिखा लॉकडाउन का असर, दिल्ली की जामा मस्जिद में भी पहुंचे कम लोग

वैश्विक महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस (Coronavirus) को हराने के लिए केंद्र सरकार द्वारा घोषित किए गए 21 दिन के संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान पीएम मोदी की सोशल डिस्टेंसिंग की अपील का असर सभी जगह दिख रहा है। शुक्रवार को इसका नजारा दिल्ली की जामा मस्जिद में जुमे की नमाज के दौरान भी देखने को मिला।  

इस दौरान दिल्ली की जामा मस्जिद में कुछ ही लोगों ने शुक्रवार की नमाज अदा की। कोरोना वायरस के कारण दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने मुसलमानों से अपील की है कि वे अपने घरों से ही शुक्रवार की नमाज सहित सभी नमाज अदा करें।

वहीं, बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने भी शुक्रवार की नमाज अपने घर पर ही अदा की। कोरोना वायरस की वजह से लगाए गए 21 दिनों के लॉकडाउन के बीच सभी धार्मिक स्थल बंद हैं। मुस्लिम धर्मगुरुओं ने भी लोगों से ये ही अपील की है कि वो अपने घर पर ही नमाज अदा करें।  

जानकारी के अनुसार, गुरुवार तक दिल्ली में कोरोना वायरस के 36 मामले थे, जो अब बढ़कर 39 तक पहुंच गए हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को बताया कि दिल्ली के इन सभी 39 पॉजिटिव केसों से 29 बाहर से आए थे और उन्हें क्वारंटाइन में रखा गया था और इनमें से 10 स्थानीय मामले हैं।

देशभर में 724 मामलों की पुष्टि

भारत में जारी लॉकडाउन के बीच भी कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। अब तक देश में संक्रमण के 724 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जिनमें से 17 लोगों की मौत हो चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, 'देश में कोराना वायरस के अब तक 694 मामले की पुष्टि हुई है, जिनमें 647 भारतीय जबकि 47 विदेशी शामिल हैं।

देश में कोरोनावायरस से पीड़ित 45 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 16 लोगों की मौत हो गई है।' दुनियाभर में जानलेवा कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की तादाद बढ़कर पांच लाख से अधिक हो गई है और 22,000 के अधिक लोग इस महामारी का शिकार बनकर दम तोड़ चुके हैं। दुनियाभर में कोरोना पीड़ित मरीजों जो ठीक हो चुके हैं, उनकी संख्या तकरीबन 1.21 लाख हो चुकी है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:lockdown effect seen on Jume prayers less people reached at Delhi s Jama Masjid