ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRदिल्ली में महंगाई की मार: नींबू 300 के पार, भिंडी-करेला ने लगाया शतक, देखें सब्जियों की रेट लिस्ट

दिल्ली में महंगाई की मार: नींबू 300 के पार, भिंडी-करेला ने लगाया शतक, देखें सब्जियों की रेट लिस्ट

सब्जियों की कीमतों में एकाएक उछाल आया है। डीजल और सीएनजी की रेट बढ़ने से भी कीमतों पर प्रभाव पड़ा है। मौजूदा समय में भिंडी 100 रुपये किलो तक पहुंच गई है। तुरई मटर, बींस 80 रु किलो पहुंच चुकी है।

दिल्ली में महंगाई की मार: नींबू 300 के पार, भिंडी-करेला ने लगाया शतक, देखें सब्जियों की रेट लिस्ट
Swati Kumariसंवाददाता,नई दिल्लीSat, 09 Apr 2022 06:13 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

एक ओर लगातार पेट्रोलियम उत्पादों के दाम बढ़ने से लोग परेशान हैं वहीं दूसरी ओर सब्जी की कीमतों ने रसोई का बजट बिगाड़ दिया है। नींबू की फुटकर कीमतें 300 रुपये किलो तक जा पहुंची है। भिंडी, गोभी, तोरई और अन्य सब्जियों की कीमतें भी आसमान छू रही हैं। भिंडी और करेला फुटकर में 100 रुपये से ऊपर बिक रहा है।

आमतौर पर नवरात्र के आसपास सब्जियों की खपत कम होने पर कीमतों में गिरावट देखी जाती है, लेकिन इस बार सब्जियों की कीमतों में तेजी बनी हुई है। हालांकि, आढ़ती मान रहे हैं कि आसपास के क्षेत्रों से सब्जियों की आवक शुरू होने का असर जल्द ही कीमतों पर भी दिखेगा।

आवक बढ़ी पर फुटकर में कीमतें जस की तस
आजादपुर मंडी में नींबू की आढ़त चलाने वाले महेंद्र सनपाल कहते हैं कि दिल्ली में 7-8 गाड़ी (प्रति गाड़ी 15-16 टन) नींबू आ रहा थे, लेकिन अब बीते दो दिनों में आवक बढ़ गई है। प्रतिदिन 14 से 15 गाड़ी नींबू आ रहे हैं, जिससे थोक कीमतें 200 रुपये प्रति किलो से गिरकर 140-150 रुपये प्रतिकिलो पर आ गई हैं। हालांकि यह बात दूसरी है कि फुटकर में कीमतों में ज्यादा परिवर्तन नहीं आया है। उम्मीद है कि कुछ दिनों के बाद कीमतों में गिरावट देखने को मिले।

फसल बर्बाद होने का भी असर
महेंद्र सनपाल ने बताया कि बीते वर्ष महाराष्ट्र और गुजरात में तौकेत चक्रवाती तूफान आया था, जिसकी वजह से दोनों राज्यों में नींबू की बड़ी फसल तूफान के कारण बर्बाद हो गई थी। गर्मी आने पर आंध्र प्रदेश के नींबू की गुजरात और महाराष्ट्र में मांग बढ़ गई है, जिससे दिल्ली में आपूर्ति प्रभावित हुई है। लेकिन, अब धीरे-धीरे दूसरे राज्यों में भी नींबू की फसल आने लगी है, जिससे आवक बढ़ रही है।

(नोट: थोक कीमतें आजादपुर मंडी में शुक्रवार की हैं। कीमत रुपये प्रति किलो में। थोक की कीमतों में क्वालिटी के हिसाब से अंतर है।)

शतक लगा रहीं सब्जियां
सब्जी थोक फुटकर

तोरई 50-60 100-130

ग्वार फली 40-60 110-140

भिंडी 40-60 100-150

करेला 40-55 100-140

मिर्च बरेली वाली (पतली) 40-60 100-130

शिमला मिर्च 45-55 100-120

गोभी 20-30 60-80

खीरा 20-35 40 से 65

फरीदाबाद में भी दाम में आया उछाल
शहर में सब्जियों की कीमतों में एकाएक उछाल आया है। डीजल और सीएनजी की रेट बढ़ने से भी कीमतों पर प्रभाव पड़ा है। मौजूदा समय में भिंडी 100 रुपये किलो तक पहुंच गई है। इसके अलावा तुरई मटर बींस 80 रुपये किलो तक और करेला और गोभी 60 रुपए किलो तक पहुंच चुकी है। घीया, मूली, गाजर 30 रुपये किलो तक बिक रही है। नींबू 200 रुपये किलो बिक रहा है। प्याज भी 40 रुपये किलो तक बिक रही है। सब्जियों के रेट बढ़ने के मामले में खुदरा व्यापारी शिव कुमार ने बताया एक तो गर्मी और ऊपर से सीएनजी और डीजल की रेट लगातार बढ़ रहे हैं इससे दाम में भी बढ़ोतरी हो रही है।

...लेकिन आलू-प्याज ने दी राहत
बीते एक से डेढ़ सप्ताह में आलू-प्याज की कीमतों में गिरावट आई है। आजादपुर मंडी के आढ़ती जय किशन ने बताया कि थोक में आलू की कीमतों में करीब 300 से 400 रुपये प्रति क्विंटल की गिरावट आई है। प्रति किलो आलू पांच से आठ रुपये के बीच मिल रहा है। इसी तरह से प्याज भी 10 से 15 रुपये किलो के बीच बिक रही है। लेकिन, फुटकर में प्याज की कीमतें अब भी 30-45 रुपये किलो है। इससे साफ है कि थोक में कुछ सब्जियों के दाम गिरे हैं लेकिन उस तुलना में फुटकर की कीमतों में गिरावट नहीं आई है।

epaper