DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जानें कैसे 12 गांवों के किसानों को मालामाल कर देगा ये नया हाईवे

Eastern Peripheral Expressway (File Photo)

अक्षरधाम से खेकड़ा तक बनने वाले नए हाईवे से सैकड़ों किसान मालामाल होंगे। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) प्रोजेक्ट के लिए लोनी तहसील के 12 गांव के किसानों की जमीन का अधिग्रहण करेगा। किसानों को नए भूमि अधिग्रहण एक्ट के हिसाब से मुआवजा दिया जाएगा। हाईवे का निर्माण मार्च में शुरू कराने की तैयारी है। 

अक्षरधाम से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे तक बनेगा नया हाईवे, यहां से गुजरेगी सड़क

भारत माला परियोजना के तहत दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के पास (दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे) से खेकड़ा तक यह हाईवे बनाया जाएगा। हाईवे को खेकड़ा (मवीकलां गांव) में ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे और दिल्ली-सहारनपुर हाईवे से जोड़ा जाएगा। हाईवे बनाने का काम तेजी से होना है। इसके लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया जल्द की जाएगी। एनएचएआई को हाईवे निर्माण के लिए लोनी क्षेत्र के 12 गांव के किसानों की जमीन का अधिग्रहण करना है। सभी गांवों की सूची तैयार कर ली गई है। 

किसानों को नोटिस भेजने की तैयारी की जा रही है। जिन गांव के किसानों की जमीन का अधिग्रहण किया जाना है उनके नाम प्रशासन को भेजे जाएंगे। नए भूमि अधिग्रहण एक्ट के तहत किसानों को मुआवजा दिया जाएगा। भू अध्यापित विभाग के अनुसार किसानों को सर्किल रेट के हिसाब से शहरी क्षेत्र में दो गुना और देहात क्षेत्र में चार गुणा मुआवजा दिया जाएगा।

इन गांव की जमीन का अधिग्रहण होगा : लोनी देहात, हकीकतपुर, सैदुलाबाद, पावी सदकपुर,शादाबाद दुर्गावली, अगरोला, मिलक बामला,मंडौला और नानू गांव के किसानों की जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा।

लोनी में टोल प्लाजा बनाया जाएगा

32 किलोमीटर से ज्यादा लंबी सड़क पर एक टोल प्लाजा बनाया जाएगा। लोनी में टोल प्लाजा बनाया जाना है। इसके लिए जमीन भी देख ली गई है। टोल बनाने पर अधिकारियों के बीच मंथन हो गया है। एनएचएआई ने इस बारे में जिलाधिकारी को भी अवगत करा दिया है।

एलिवेटेड रोड बनेगी

एनएचएआई के प्रोजेक्ट मैनेजर आरपी सिंह ने बताया कि दिल्ली में 14.7 किलोमीटर लंबी सड़क बनेगी। इसमें से छह किलोमीटर एलिवेटेड रोड होगी। यूपी में इसकी लंबी 17.5 किलोमीटर होगी। इसमें करीब 12 किलोमीटर की एलिवेटेड रोड बनाई जाएगी। जनवरी में टेंडर निकाल दिए जाएंगे। जबकि मार्च में काम शुरू होगा। यह प्रोजेक्ट ढाई साल में बनकर तैयार होगा।

हाईवे से विकास को गति मिलेगी

तीनों हाईवे आपस में जुड़ने से जनपद के विकास को गति मिलेगी। यातायात सुगम होने से लोग आसानी से आ और जा सकेंगे। बेतहर कनेक्टिविटी से उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। लोनी क्षेत्र विकास का गढ़ बनने की उम्मीद है। सहारनपुर, शामली ,बड़ौत और खेकड़ा आदि के लोग बिना जाम दिल्ली जा सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Know how Ghaziabad s 12 villages farmers will become rich by this new highway