DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Delhi Hotel Fire : ड्रग इंस्पेक्टर राहुल को मौत ही खींच लाई थी यहां

होटल अर्पित पैलेस (File Photo)

केंद्र सरकार में ड्रग इंस्पेक्टर राहुल कुमार को उनकी मौत ही होटल अर्पित तक लेकर आई थी। दरअसल, वह अपने घर से सोमवार रात दोस्तों से मिलने होटल गए थे। काफी रात होने पर दोस्तों ने उन्हें वहीं ही रोक लिया। इसके बाद मंगवार तड़के राहुल व उनके दोनों दोस्तों की हादसे में मौत हो गई। 

राहुल कुमार महाराष्ट्र और कर्नाटक की सीमा पर मौजूद एक गांव के रहने वाले थे। उनके माता-पिता गांव में ही रहते हैं, जबकि राहुल की पत्नी और दो बच्चे महाराष्ट्र के ठाणे में रहते हैं। दिल्ली आने से पहले उनकी पोस्टिंग ठाणे में थी। यहां उनकी दोस्ती सोलापुर के संतोष वाले से हुई थी। संतोष क्लीनिकल रिसर्च आफ इंडिया (सीआरआई) में कार्यरत थे और अपने परिवार के साथ मुम्बई में रहते थे। 

Delhi Hotel Fire : न बचने का कोई रास्ता था, न आग बुझाने के इंतजाम

संतोष सोमवार शाम अपने दोस्त तामिलनाडू निवासी डॉ. शंकर नारायणा के साथ दिल्ली आए थे और होटल अर्पित के कमरा नंबर- 304 में रुके थे। डॉ. शंकर तामिलनाडू के मशहूर कावेरी अस्पताल में कार्यरत थे। डॉ. शंकर और संतोष एक रिसर्च पर होने वाली सेमिनार में मंगलवार को शामिल होना था। दिल्ली आने के बाद संतोष ने राहुल कुमार को फोन करके सोमवार रात होटल में मिलने के लिए बुलाया था।

एक ही कमरे में मिली तीन लाशें : राहुल सोमवार रात करीब 9 बजे संतोष और डॉ. शंकर से मिलने के लिए होटल पहुंचे थे। तीनों ने साथ में खाना खाया और फिर बाते करने लगे। करीब 12.30 बजे राहुल होटल से चलने लगे तो संतोष ने उन्हें काफी रात होने की बात कहकर वहीं सोने के लिए बोला। इस पर राहुल वहां रुक गए। इसके बाद जब मंगलवार तड़के होटल में आग लगी, तो उसकी वजह से तीनों दोस्तों की मौत हो गई। तीनों लोगों के शव दमकल कर्मचारियो को कमरे में ही मिले। होटल में यह अकेला ऐसा कमरा था जिसमें तीन शव मिले थे। 

संतोष ने हादसे से चंद घंटे पहले पत्नी से बात की थी 

हादसे से चंद घंटे पहले रात 11.30 बजे संतोष ने अपनी पत्नी को होटल में पहुंचने की जानकारी दी थी। संतोष ने अपनी पत्नी को बताया था कि डॉ. शंकर और राहुल भी उनके साथ हैं। संतोष की पत्नी मुम्बई में महाराष्ट्र पुलिस की लीगल एडवाइजर है। संतोष ने अपनी पत्नी को बताया कि वह सेमिनार में शामिल होने के बाद बुधवार को मुम्बई लौटेगा क्योंकि मंगलवार को उसे दिल्ली में ही अपने कई ओर दोस्तों से मिलना है। वहीं, डॉ. शंकर मंगलवार रात को ही लौट जाएंगे। परिजनों की मानें तो संतोष ने राहुल को बाकि के दोस्तों से मिलने के लिए ही बुलाया था। 

Delhi Hotel Fire : कूदने की वजह से गई आयकर अधिकारी की जान

Delhi Hotel Fire : महिला बोली- दिल्ली ने हमारा सब कुछ छीन लिया

होटल अग्निकांड: स्पेशल प्रोविजन एक्ट की आड़ में जमकर हुआ अवैध निर्माण

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Know how Drug inspector Rahul reached in Hotel Arpit Palace before his death