ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRकान खोलकर सुन लें... जब 'मां के दूध' वाली चुनौती पर मोदी ने आतंकियों को ललकारा; 32 साल पुराना वीडियो

कान खोलकर सुन लें... जब 'मां के दूध' वाली चुनौती पर मोदी ने आतंकियों को ललकारा; 32 साल पुराना वीडियो

किसने मां का दूध पिया है... श्रीनगर के लाल चौक पर फैसला हो जाएगा। पीएम मोदी का तीन दशक पुराना भाषण चर्चा का विषय बन गया है। खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने बुधवार को लोकसभा में उस घटना का जिक्र किया।

कान खोलकर सुन लें... जब 'मां के दूध' वाली चुनौती पर मोदी ने आतंकियों को ललकारा; 32 साल पुराना वीडियो
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 09 Feb 2023 11:07 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

किसने मां का दूध पिया है... श्रीनगर के लाल चौक पर फैसला हो जाएगा। पीएम मोदी का तीन दशक पुराना भाषण चर्चा का विषय बन गया है। खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने बुधवार को लोकसभा में उस घटना का जिक्र किया और बताया कि कैसे उस दौर में उनके आने से पहले कश्मीर में पोस्टर लगाए गए थे। पीएम ने जम्मू में इस आतंकवादियों को जवाब देते हुए कहा था कि दो दिन बाद लाल चौक पर यह फैसला हो जाएगा कि किसने मां का दूध पिया है। पीएम मोदी के उस भाषण का वीडियो भी सामने आया है। दिल्ली में बीजेपी के नेता कपिल मिश्रा ने पीएम मोदी का 32 साल पुराना वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है।

पीएम मोदी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब देते हुए कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का नाम लिए बगैर प्रधानमंत्री ने कहा कि यहां जम्मू-कश्मीर की भी चर्चा हुई। जो अभी-अभी जम्मू-कश्मीर घूमकर आए हैं, उन्होंने देखा होगा कि वह कितनी आन बान शान के साथ वहां जा सकते हैं। आज जो शांति आई है, चैन से जा सकते हैं। पर्यटकों की आवक में कई दशकों बाद जम्मू-कश्मीर ने रिकॉर्ड तोड़े हैं। आज वहां लोकतंत्र का उत्सव मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वह भी लाल चौक पर झंडा फहराने का संकल्प लेकर कश्मीर यात्रा लेकर गए थे। तब आतंकियों ने पोस्टर लगाए थे कि देखते हैं किसने अपनी मां का दूध पिया है, जो लाल चौक पर झंडा फहराता है।

पीएम मोदी ने यह भी बताया कि किस तरह उन्होंने जम्मू में इस चुनौती पर कहा था कि लाल चौक पर इसका फैसला होगा। मोदी ने कहा कि उन्होंने उस वर्ष 23 जनवरी को ऐलान किया था कि 26 जनवरी को 11 बजे वह लाल चौक पर जाएंगे और सुरक्षा तथा बुलेट प्रूफ जैकेट के बिना वहां जाकर तिरंगा फहराएंगे, फिर देखेंगे कि किसने मां का दूध पिया है। भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने पीएम मोदी के उस भाषण का वीडियो भी शेयर किया है। केसरिया पगड़ी पहने हुए मोदी माइक के सामने कह रहे हैं, 'लाल चौक पर पोस्टर लगाए हैं, दीवारों पर लिखा है, जिसने अपनी मां का दूध पिया हो, वह श्रीनगर के लाल चौक में आएं और तिरंगा फहराएं। अगर वह जिंदा वापस जाएगा तो आतंकवादी उसे ईनाम देंगे। आतंकवादी कान खोलकर सुन लें, 26 जनवरी को परसों, अब चंद घंटे बाकी हैं, लाल चौक में फैसला हो जाएगा किसने अपनी मां का दूध पिया है।'

गौरतलब है कि लाल चौक जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर के डाउन-टाउन इलाके में स्थित है। यह कभी अलगाववादियों का गढ़ हुआ करता था। पीएम मोदी जब 1991 में एकता यात्रा लेकर वहां पहुंचे थे उस समय घाटी में आतंकवाद चरम पर था। तब मोदी चुनावी राजनीति में नहीं उतरे थे। उस दौरान वह संगठन के लिए काम कर रहे थे।