ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCR50 ट्रैक्टर लेकर आए, कलेक्ट्रेट के पास ही पुरी-सब्जी बनाई; किसानों के आंदोलन से ग्रेटर नोएडा में जाम

50 ट्रैक्टर लेकर आए, कलेक्ट्रेट के पास ही पुरी-सब्जी बनाई; किसानों के आंदोलन से ग्रेटर नोएडा में जाम

Farmers Protest 2024 : बता दें कि सभी किसान Knowledge Park Metro Station के पास जमा हुए और फिर किसानों ने एक्सपो मार्ट राउंडअबाउट और फिर यहां से नासा जंक्शन और एलजी राउंडअबाउट की ओर रुख किया।

50 ट्रैक्टर लेकर आए, कलेक्ट्रेट के पास ही पुरी-सब्जी बनाई; किसानों के आंदोलन से ग्रेटर नोएडा में जाम
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,ग्रेटर नोएडाThu, 22 Feb 2024 02:33 PM
ऐप पर पढ़ें

Farmers Protest 2024 : अपनी मांगें मंगवाने के लिए अड़े किसानों का आंदोलन जारी है। दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में किसान ट्रैक्टर लेकर पहुंचे और उनके आने के बाद यहां कई जगहों पर जाम लग गया। ग्रेटर नोएडा में परी चौक और सुरजपुर के बीच यातायात प्रभावित हुआ। यहां BKU  से जुड़े करीब 100 किसान 50 ट्रैक्टरों और एक बस पर सवार होकर पहुंचे थे। सभी किसान Knowledge Park Metro Station के पास जमा हुए और फिर किसानों ने एक्सपो मार्ट राउंडअबाउट और फिर यहां से नासा जंक्शन और एलजी राउंडअबाउट की ओर रुख किया। सड़क पर चल रहे किसानों के पीछे तेज आवाज में गीत बज रहे थे। उनके हाथों में झंडे थे और वो लगातार नारे लगा रहे थे। सुरजपुर-कासना रोड होते हुए किसान डीएम कार्यालय के पास पहुंचे। 

किसानों के साथ पुलिस की एक टीम भी चल रही थी। कलेक्ट्रेट पहुंचने के बाद किसानों ने यही पर एक अस्थायी रसोईघर बना लिया। इतना ही नहीं उन्होंने पुरी और सब्जी भी यही बनाई। बीकेयू (टिकैत), के पश्चिमी यूपी अध्यक्ष पवन खताना ने कहा कि किसानों ने यह मार्च शंभू बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में निकाला है। 

The Times Of India की रिपोर्ट के मुताबिक, पवन खताना ने आगे कहा, 'वो दिल्ली पहुंचना चाहते थे लेकिन हरियाणा में खुद रुक गए। किसानों को हरियाणा सरकार से कोई मतभेद नहीं है। लेकिन अगर सरकार उनपर दबाव बनाएगी तो प्रदर्शन सिर्फ उग्र होगा। हम सिर्फ एक दिन के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन हम अपने नेताओं के सिर्फ निर्देश का इंतजार कर रहे हैं।'

जब उनसे यह पूछा गया कि क्या उनका दिल्ली की तरफ जाने का प्लान है? इसपर उन्होंने कहा, 'अभी दिल्ली की तरफ जाने का हमारा प्लान नहीं है, लेकिन दिल्ली दूर भी नहीं है।' बीकेयू (टिकैट), प्रवक्ता, सुनील प्रधान ने कहा कि किसान सिर्फ इतना ही चाहते हैं कि वो सरकार से बातचीत करें जो नतीजे पर पहुंचे। लंबे समय से हम सरकार से MSP पर गारंटी लागू करने की मांग कर रहे हैं। हम यह चाहते हैं कि सरकार बढ़े दामों की जांच करे। उन्हें कृषि उपकरणों और दवाइय़ों पर जीएसटी भी नहीं लगाना चाहिए। इसके अलावा पिछले आंदोलन के दौरान जिन लोगों पर कार्रवाई की गई है उस कार्रवाई को वापस ली जाए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें