ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRफरीदाबाद में कर्ज चुकाने किया बच्चे का अपहरण, बेहोश करने में गई मासूम की जान

फरीदाबाद में कर्ज चुकाने किया बच्चे का अपहरण, बेहोश करने में गई मासूम की जान

जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि विशाल ने आठवीं कक्षा के छात्र कुश को बेहोश करने के लिए नशीला पदार्थ अधिक मात्रा में दे दिया, जिसके कारण उसकी मौत हो गई। शव को आगरा नहर के पास फेंक दिया।

फरीदाबाद में कर्ज चुकाने किया बच्चे का अपहरण, बेहोश करने में गई मासूम की जान
Sourabh Jainभाषा,फरीदाबादSun, 16 Jun 2024 12:00 AM
ऐप पर पढ़ें

हरियाणा के फरीदाबाद में एक बच्चे का अपहरण कर उसकी हत्या करने के मामले में पुलिस ने एक दवा दुकानदार को गिरफ्तार किया गया है। अधिकारियों के मुताबिक, आरोपी व्यक्ति लड़के के माता-पिता से फिरौती मांगकर अपना कर्ज चुकाना चाहता था।  पुलिस ने बताया कि आरोपी की पहचान मेडिकल स्टोर संचालक विशाल के रूप में हुई है, जो बल्लभगढ़ के सेक्टर 62 स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी का निवासी है। 

पुलिस के अनुसार, बल्लभगढ़ के सेक्टर 62 आशियाना फ्लैट में किराने की दुकान चलाने वाले उमेश चंद का 13 वर्षीय बेटा कुश 13 जून को शाम करीब सात बजे पड़ोस की एक दुकान से बर्फ लाने के लिए साइकिल से निकला था। जब वह नहीं लौटा तो उसकी मां प्रियंका उसे खोजने लगी, लेकिन कुश का कहीं कुछ पता नहीं चला।

पुलिस के मुताबिक नजदीक ही दवा की दुकान चलाने वाला विशाल बच्चे की तलाश में परिवार का साथ देने लगा। काफी तलाश के बाद बच्चे की साइकिल विशाल के घर की छत पर मिली। तब सीसीटीवी कैमरे के आधार पर बच्चे के माता-पिता एवं अन्य पड़ोसियों को विशाल पर शक हुआ और उन्होंने उसे पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया।

पुलिस के अनुसार पुलिस पूछताछ में विशाल ने बताया कि बच्चे को बेहोश करने के लिए उसने उसे नशे का इंजेक्शन दिया था, लेकिन डोज ज्यादा होने से उसकी मौत हो गई। विशाल ने पुलिस को बताया कि इसके बाद उसने ठिकाने लगाने के लिए शव को नहर में फेंक दिया लेकिन शव आगे बहने की बजाय वहीं झाडिय़ों में फंस गया। 

आदर्श नगर थाने के प्रभारी कृष्ण का कहना है कि बच्चे के परिजनों के बयान पर आरोपी विशाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के मुताबिक उसने विशाल की निशानदेही पर बच्चे के शव को बरामद कर लिया है और उसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

पुलिस के अनुसार कर्ज में डूबे विशाल ने फिरौती के लिए बच्चे बच्चे का अपहरण किया था। इसके बाद उसे बेहोश करने के लिए नशीला इंजेक्शन लगा दिया था।