KCR की बेटी के. कविता दिल्ली शराब नीति में घिरीं, ED की जांच में सबूत मिलने का दावा

दिल्ली आबकारी नीति मामले में जांच की आंच अब तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की बेटी और विधायक के. कविता तक पहुंच गई है। ईडी को जांच के दौरान इससे जुड़े कुछ अहम दस्तावेज मिले हैं।

offline
Praveen Sharma हैदराबाद नई दिल्ली, एजेंसी।
Fri, 2 Dec 2022 6:17 AM

दिल्ली आबकारी नीति मामले में जांच की आंच अब तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की बेटी और विधायक के. कविता तक पहुंच गई है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को जांच के दौरान कुछ दस्तावेज मिले हैं, जिनसे पता चलता है कि इस मामले में गिरफ्तार आम आदमी पार्टी (आप) नेता विजय नायर को कुछ व्यवसायियों और राजनेताओं द्वारा नियंत्रित दक्षिण के एक फर्म से सौ करोड़ रुपये मिले। यह फर्म कविता द्वारा नियंत्रित बताई जा रही है। यह जानकारी ईडी के अधिकारियों ने बुधवार को अदालत के सामने रखी थी।

जांच एजेंसी का दावा : ईडी ने अदालत में दावा किया कि सरकार में शामिल कुछ 'आप' नेताओं ने आबकारी नीति को गलत तरीके से लागू किया और इसके जरिए अवैध रूप से धन जुटाने की कोशिश की गई। एक दिन पहले गुरुग्राम से गिरफ्तार कारोबारी अमित अरोड़ा के बयानों का हवाला देते हुए कहा कि दक्षिण के जिस साउथ कार्टेल समूह ने विजय नायर और आप से जुड़े लोगों को रिश्वत के रूप में कम से कम सौ करोड़ रुपये मिले, उसका संचालन कविता के हाथों में था।

साउथ ग्रुप जांच के दायरे में : आबकारी नीति मामले में धनशोधन से जुड़े आरोपों की जांच कर रही ईडी के रडार पर साउथ कार्टेल ग्रुप भी है। इस ग्रुप को अरबिंदो फार्मा के सरथ रेड्डी, टीआरएस एमएलसी के. कविता और श्री मगुंटा श्रीनिवासुलु रेड्डी द्वारा संचालित किया जाता है।

दो चार्जशीट दाखिल : इस मामले में सीबीआई ने 25 नवंबर को राउज एवेन्यू कोर्ट में आरोपपत्र दाखिल किया था। सात आरोपियों के खिलाफ 10 हजार पन्नों के आरोपपत्र पर 30 नवंबर को अगली सुनवाई होगी। इसके बाद प्रवर्तन निदेशालय ने भी जीन हजार पन्नों की चार्जशीट समीर महेंद्रू समेत तीन लोगों के खिलाफ दाखिल की थी। केंद्रीय जांच ब्यूरो की ओर से दाखिल किए गए आरोपपत्र में में दो गिरफ्तार व्यापारी, एक न्यूज चैनल के प्रमुख, हैदराबाद के शराब कारोबारी, दिल्ली के शराब डिस्ट्रीब्यूटर और आबकारी विभाग के दो अधिकारी शामिल हैं।

इसके अलावा विजय नायर, अभिषेक बोइनपल्ली, अरुण पिल्लई, समीर महेंद्रू, गौतम मूथा, कुलदीप सिंह और नरेंद्र सिंह को भी जांच एजेंसी ने आरोपी बनाया है।

जांच का सामना करने को तैयार के. कविता

जांच में अपना नाम आने पर के. कविता ने गुरुवार को कहा, हम किसी भी तरह की जांच का सामना करेंगे। अगर एजेंसियां आती हैं और हमसे सवाल करती हैं तो हम निश्चित तौर पर जवाब देंगे। लेकिन मीडिया को चुनिंदा सूचनाएं लीक करके नेताओं की छवि बिगाड़ना सही नहीं है। उन्होंने कहा कि चुनाव वाले राज्यों में ईडी और सीबीआई जैसी एजेंसियों को भेजने का चलन हो गया है। चुनावी राज्यों में प्रधानमंत्री के पहुंचने से पहले ईडी पहुंच जाती है।

अलग-अलग सिम के जरिए संपर्क करने का आरोप

ईडी ने कोर्ट में कहा है कि एक आरोपी ने कविता को 10 बार कॉल की थी। आरोप है कि केसीआर की बेटी ने अमित अरोड़ा के साथ संवाद करने के लिए फैंसी नंबरों का इस्तेमाल किया था। उसने कथित तौर पर सिम और आईएमईआई नंबर बार-बार बदले। ईडी ने अदालत को बताया है कि उसके द्वारा बरामद किए गए फोन में डेटा ‘डिलीट/फॉर्मेटेड’ पाया गया है।

हमें फॉलो करें
ऐप पर पढ़ें

Excise Policy KCR Enforcement Directorate