ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR22 जुलाई से शुरू होगी कांवड़ यात्रा, दिल्ली में कैसी हैं तैयारियां; आतिशी ने बताया एक्शन प्लान

22 जुलाई से शुरू होगी कांवड़ यात्रा, दिल्ली में कैसी हैं तैयारियां; आतिशी ने बताया एक्शन प्लान

Kanwar Yatra 2024: दिल्ली में 22 जुलाई से कांवड़ यात्रा शुरू होने वाली है। ऐसे मेंआतिशी ने तैयारियों को लेकर अधिकारियों के साथ मंगलवार को बैठक की। उन्होंने तैयारियों का एक्शन प्लान बताया।

22 जुलाई से शुरू होगी कांवड़ यात्रा, दिल्ली में कैसी हैं तैयारियां; आतिशी ने बताया एक्शन प्लान
20240607-aap-delhi-govt-wg-bb-002-0 jpg
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 12 Jun 2024 01:17 PM
ऐप पर पढ़ें

बाबा भोलेनाथ का प्रिय महीना सावन आने वाला है। महादेव को मनाने और उनसे इच्छानुसार फल की प्राप्ति के लिए श्रद्धालु कांवड़ लेकर हरिद्वार जाते हैं। अगले महीने 22 जुलाई से कांवड़ यात्रा शुरू होने वाली हैं। ऐसे में दिल्ली की राजस्व मंत्री आतिशी ने तैयारियों को लेकर अधिकारियों के साथ मंगलवार को बैठक की।  बैठक के बाद आतिशी ने कहा कि भगवान शिव के भक्तों की 10 दिवसीय यात्रा के लिए दिल्ली में करीब 200 शिविर लगाए जाएंगे, जो ऋषिकेश और हरिद्वार से पवित्र गंगा जल लेकर आते हैं। इनमें से ज्यादातर भक्त 200 किलोमीटर से ज्यादा की दूरी पैदल ही तय करते हैं।

वाटरप्रूफ शिविर- चिकित्सा सुविधाएं

आतिशी ने जिलाधिकारियों को कांवड़ियों के लिए वाटरप्रूफ शिविर, फर्नीचर, शौचालय, पानी, चिकित्सा और अन्य जरूरी सुविधाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। एक बयान में सरकार ने कहा कि उसने डेढ़ माह पहले से कांवड़ यात्रा की तैयारियां शुरू कर दी है। आतिशी ने कांवड़ शिविरों की चाक-चौबंद व्यवस्थाओं पर चर्चा को लेकर जिलाधिकारियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

200 शिविर लगाएंगे

बयान में कहा गया है कि इस साल दिल्ली भर में करीब 200 शिविर लगाए जाएंगे, जिनमें पूर्वी दिल्ली, उत्तर पूर्वी दिल्ली और शाहदरा जिलों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा, जो कांवड़ियों के लिए मुख्य मार्ग है। आतिशी ने कहा कि हर साल की तरह इस वर्ष भी केजरीवाल सरकार दिल्ली भर में कांवड़ियों की सुविधा के लिए कांवड़ शिविर लगाएगी, जहां उनके लिए सभी जरूरी सुविधाएं सुनिश्चित की जाएंगी।

उन्होंने कहा कि शिविर में कांवड़ियों के लिए वाटरप्रूफ टेंट, फर्नीचर, शौचालय, पानी, चिकित्सा और अन्य जरूरी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। उन्होंने कहा, 'इस संबंध में सभी जिला प्रशासन को कांवड़ियों की सुरक्षा और सुविधाओं के लिए हर जरूरी कदम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।' सावन के महीने में लाखों श्रद्धालु जल लेने के लिए हरिद्वार जाते हैं।

कैट एबुलेंस मौजूद रहेगी

जिला प्रशासन तीर्थयात्रियों को चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करने के लिए स्थानीय अस्पतालों और डिस्पेंसरीज से भी संपर्क करेगा। मंत्री ने एक बयान में कहा, 'किसी भी आपात स्थिति के लिए कैट एम्बुलेंस उपलब्ध रहेंगी। अस्पतालों को कांवड़ियों के इलाज के लिए विशेष व्यवस्था करने का निर्देश दिया जाएगा।' दिल्ली सरकार ने कहा कि जिलाधिकारियों को तैयारियों पर साप्ताहिक रिपोर्ट मंत्री के कार्यालय में सौंपने के लिए कहा गया है।