DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  शरजील इमाम के अगले सेमेस्टर में रजिस्ट्रेशन के लिए JNUSU ने कुलपति से लगाई गुहार

एनसीआरशरजील इमाम के अगले सेमेस्टर में रजिस्ट्रेशन के लिए JNUSU ने कुलपति से लगाई गुहार

नई दिल्ली। कायनात सरफराजPublished By: Praveen Sharma
Sat, 29 Aug 2020 06:20 PM
शरजील इमाम के अगले सेमेस्टर में रजिस्ट्रेशन के लिए JNUSU ने कुलपति से लगाई गुहार

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (JNUSU) ने शनिवार को वाइस चांसलर एम. जगदीश कुमार को पत्र लिखकर दिल्ली में फरवरी में हुए दंगों में कथित भूमिका के लिए गिरफ्तार किए गए तीन रिसर्च स्कॉलर्स के अगले सेमेस्टर के लिए 31 अगस्त की समयसीमा से पहले लंबित रजिस्ट्रेशन की सुविधा के लिए तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग की है।

जेएनयू के तीनों छात्र, शरजील इमाम, नताशा नरवाल, और देवांगना कालिता पर दंगों के पहले नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध के दौरान अपने भड़काऊ भाषणों के माध्यम से लोगों को उकसाने का आरोप है। हालांकि, उन्होंने ऐसे सभी आरोपों से इनकार किया है। छात्र संघ ने इन छात्रों की शैक्षणिक प्रगति बाधित न हो यह सुनिश्चित करने के लिए कुलपति जगदीश कुमार से इस मामले में दखल देने की मांग की है।

जेएनयूएसयू अध्यक्ष आइशी घोष ने विश्वविद्यालय के कुलपति जगदीश कुमार को ईमेल भेजने का कारण बताते हुए कहा कि हमें इन तीनों छात्रों के परिवार के सदस्यों के फोन आ रहे हैं। वे भी तनाव में हैं।

कुलपति को भेजी गई अपनी ईमेल में छात्र संघ ने कहा कि बार-बार जेएनयूएसयू की अपील के बावजूद शरजील इमाम का रजिस्ट्रेशन ब्लॉक कर दिया गया है। यह बात आपके तत्काल ध्यान में लानी है कि शरजील इमाम (PhD student/CHS/SSS)  का रजिस्ट्रेशन पिछले सेमेस्टर से लंबित है। जेएनयूएसयू प्रॉक्टर कार्यालय को बार-बार अपील के बावजूद रजिस्ट्रेशन रोक दिया गया है। 

छात्र संघ ने अपने पत्र में लिखा है कि जेएनयूएसयू की ओर से हम आपसे (कुलपति) अनुरोध करेंगे कि शरजील इमाम के अंतिम और आगामी सेमेस्टर के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया और नताशा नरवाल (PhD student/CHS/SSS)  और देवांगना कलिता  (PhD Student/CWS [Centre for Women Students]/SSS) जो वर्तमान में JNU के छात्र हैं को भी यह सुविधा दी जानी चाहिए।

जेएनयू के सेंटर फॉर हिस्टोरिकल स्टडीज में पीएचडी के छात्र शरजील इमाम को पहली बार जनवरी में और नताश नरवाल और देवांगना कलिता को मई में गिरफ्तार किया गया था। नरवाल और कलिता विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ सोशल साइंसेज में रिसर्च स्कॉलर होने के साथ ही पिंजरा तोड़ की सदस्य हैं।  

संबंधित खबरें