JNU students protest: delhi Police register FIR - JNU हॉस्टल फीस वृद्धि : छात्रों के प्रदर्शन मामले में दिल्ली पुलिस ने दर्ज कीं 2 FIR DA Image
6 दिसंबर, 2019|11:48|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

JNU हॉस्टल फीस वृद्धि : छात्रों के प्रदर्शन मामले में दिल्ली पुलिस ने दर्ज कीं 2 FIR

                                                                                                                                                                           fir                         photo   ht

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हॉस्टल फीस वृद्धि को लेकर छात्रों के विरोध प्रदर्शन के सिलसिले में दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को दो एफआईआर दर्ज की हैं।  

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कानून की संबंधित धाराओं के तहत एक एफआईआर किशनगढ़ पुलिस थाने में दर्ज की गई है जबकि एक अन्य एफआईआर लोधी कॉलोनी पुलिस थाने में दर्ज की गई है।

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर के अनुसार अरबिंदो मार्ग पर सोमवार की घटना के सिलसिले में आईपीसी की धाराओं 186 (लोक सेवक के सरकारी कार्य के निर्वहन में बाधा डालना), 353 (सरकारी कर्मचारी पर हमला कर या उस पर बल का इस्तेमाल कर उसे उसकी ड्यूटी निभाने से रोकना), 332 (सरकारी कर्मचारी को उसे अपना कर्तव्य निभाने से रोकने के लिए चोट पहुंचाना) और धारा 188 के तहत लोधी कॉलोनी पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस उपायुक्त ठाकुर ने बताया कि एफआईआर में आईपीसी की धाराओं 147 (दंगे के लिए सजा), 148 (दंगा, घातक हथियार से लैस), 149 (विधि विरुद्ध जनसमूह का हर सदस्य, समान लक्ष्य को पूरा कराने में किए गए अपराध का दोषी), 151 (पांच या अधिक व्यक्तियों का समूह जिसे तितर-बितर होने का आदेश दिए जाने के बाद भी जानबूझकर उसमें शामिल होना या बने रहना), 34 (समान मंशा को आगे बढ़ाने में कई व्यक्तियों द्वारा किये गये कृत्य) और लोक संपत्ति क्षति निवारण अधिनियम की धारा तीन को भी जोड़ा गया है।

JNU छात्रों से मारपीट के लिए JNUSU ने 18 नवंबर को बताया 'काला दिन'

जेएनयू छात्र संघ (जेएनयूएसयू) से तत्काल प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है। जेएनयू के छात्रों ने सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में जबर्दस्त विरोध प्रदर्शन किया था जिससे शहर के कई हिस्सों में जाम लग गया था। छात्रों ने हाल में की गई शुल्क वृद्धि के खिलाफ विरोध मार्च निकाला था।

हॉस्टल फीस में बढ़ोतरी के खिलाफ विश्वविद्यालय परिसर में पिछले तीन सप्ताह से प्रदर्शन कर रहे छात्र संसद का ध्यान आकृष्ट करने के लिए सोमवार को सड़कों पर उतरे थे। 

पुलिस के अनुसार आठ घंटे तक चले इस विरोध प्रदर्शन के दौरान लगभग 30 पुलिसकर्मी और 15 छात्र घायल हो गए। प्रदर्शन में राष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न विश्वविद्यालयों के छात्रों ने बड़ी संख्या में भाग लिया था।

मार्च शुरू होने से पहले जेएनयू परिसर के मुख्य द्वार के बाहर पुलिस और अर्धसैनिक बल के जवानों की तैनाती की गई थी। विरोध प्रदर्शन शुरू होने से पहले मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्रालय ने तीन सदस्यों की एक समिति गठित की है जो विश्वविद्यालय में सामान्य कामकाज बहाल करने के तरीकों की सिफारिश करेगी।

प्रदर्शनकारियों ने लगभग दोपहर में मार्च निकाला और उन्होंने परिसर के मुख्य द्वार पर बैरिकेड तोड़ दिए और बाबा गंगनाथ मार्ग की ओर बढ़ना शुरू किया। पुलिस ने जेएनयूएसयू अध्यक्ष आइशी घोष, सचिव सतीश चंद्र यादव और जेएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष एन साई बालाजी समेत लगभग 100 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया। 

जेएनयू प्रशासन ब्लॉक के विरूपण की एक घटना को लेकर शनिवार को अज्ञात लोगों के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:JNU students protest: delhi Police register FIR