ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRजेवर एयरपोर्ट पर मिलेगी वर्ल्ड क्लास फैसिलिटी, कॉमन होल्डिंग एरिया समेत ये सब होगा खास

जेवर एयरपोर्ट पर मिलेगी वर्ल्ड क्लास फैसिलिटी, कॉमन होल्डिंग एरिया समेत ये सब होगा खास

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर में दुनिया की सबसे बेहतर सुविधाएं दी जाएंगी। इसके लिए विदेशी एयरपोर्ट में दी जा रही सुविधाओं को देखा गया है। एयरपोर्ट का अब तक 52 प्रतिशत निर्माण कार्य पूरा हो चुका है।

जेवर एयरपोर्ट पर मिलेगी वर्ल्ड क्लास फैसिलिटी, कॉमन होल्डिंग एरिया समेत ये सब होगा खास
Abhishek Mishraनोएडा हिन्दुस्तानThu, 17 Aug 2023 08:25 AM
ऐप पर पढ़ें

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर में दुनिया की सबसे बेहतर सुविधाएं दी जाएंगी। इसके लिए विदेशी एयरपोर्ट में दी जा रही सुविधाओं को देखा गया है। इसमें एयरपोर्ट की सुरक्षा, इमिग्रेशन, कॉमन होल्डिंग एरिया आदि शामिल है। जेवर एयरपोर्ट का अब तक 52 प्रतिशत निर्माण कार्य पूरा हो चुका है।

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (नायल) की बोर्ड बैठक इस बार स्विटरलैंड में हुई थी। इसमें नायल के सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह और अन्य भागीदार शामिल हुए। बोर्ड बैठक में यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड में ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी की अंशधारिता को बढ़ा दिया है। यह अंशधारिता दो हजार करोड़ से बढ़ाकर तीन हजार करोड़ रुपये कर दी गई। बोर्ड को बताया गया कि एयरपोर्ट का 52 प्रतिशत निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। बैठक में इस बात पर जोर दिया गया कि जेवर एयरपोर्ट में सभी आधुनिक सुविधाएं दी जाएंगी।

बोर्ड बैठक के बाद अधिकारियों ने बेल्जियम के लीस एयरपोर्ट, एम्स्टर्डम के शिफोल एयरपोर्ट और स्विटजरलैंड के ज्यूरिख एयरपोर्ट का दौरा किया। यहां की सुरक्षा, इमिग्रेशन, कॉमन होल्डिंग एरिया आदि को देखा। यात्रियों के सामान ढुलाई, तकनीकी, पार्किंग, वे एरिया आदि को भी देखा गया।

कार्गो की खूबियों को देखा नायल के सीईओ ने बताया कि बेल्जियम का लीस एयरपोर्ट कार्गो एयरपोर्ट है। यहां पर कार्गो के इंफ्रास्ट्रचर को देखा गया। इसकी खूबियों को जेवर एयरपोर्ट में लागू करेंगे। दुनिया में एयरपोर्ट पर कार्गो क्षमता बढ़ाने के लिए पार्किग, वे एरिया में बदलाव करना पड़ा है, इसलिए जेवर एयरपोर्ट में शुरुआत से इसका प्रविधान किया जाएगा। एयरपोर्ट से दुग्ध उत्पाद, फल, सब्जी, अनाज को भी विदेश भेजने की सुविधा होगी। भंडारण के लिए कोल्ड सप्लाई चेन विकसित की जाएगी।

कॉमन होल्डिंग एरिया अगर कोई यात्री अहमदाबाद से जेवर एयरपोर्ट आ गए। यहां से आप कनेक्टिंग फ्लाइट लेंगे। आप एयरपोर्ट के अंदर हैं और बाहर नहीं गए हैं। इसलिए यहां पर चेक इन नहीं होगा। यह सुविधा दिल्ली एयरपोर्ट नहीं मिलती है। दिल्ली में दोबारा चेक इन कराना पड़ता है। जेवर में इस सुविधा को शुरू करने की बात हो रही है।

ग्राउंड ट्रांसपोर्टेशन जेवर एयरपोर्ट में ग्राउंड ट्रांसपोर्टेशन बनाने की योजना है। यहां पर एक जगह से आने-जाने के कई विकल्प रहेंगे, यानि एक जगह से बस, टैक्सी, पॉड टैक्सी आदि मिल सकेंगी। अभी इसको अंतिम रूप दिया जा रहा है।

ऑटोमेटिक जाएगा सामान यात्री अपने साथ सामान लेकर यात्रा करते हैं। यह सामान एयरपोर्ट में मैनुअल तरीके से पहुंचाया जाता है। जेवर एयरपोर्ट में इसे ऑटोमेटिक तरीके से एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाया जाएगा। इसमें नई तकनीक का इस्तेमाल होगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें