DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  किसान आंदोलन : गाजीपुर, सिंघु और टीकरी बॉर्डर पर इंटरनेट सेवा फिर ठप, गृह मंत्रालय ने जारी किया आदेश

एनसीआरकिसान आंदोलन : गाजीपुर, सिंघु और टीकरी बॉर्डर पर इंटरनेट सेवा फिर ठप, गृह मंत्रालय ने जारी किया आदेश

नई दिल्ली। लाइव हिन्दुस्तान टीमPublished By: Praveen Sharma
Sat, 06 Feb 2021 04:37 PM
किसान आंदोलन : गाजीपुर, सिंघु और टीकरी बॉर्डर पर इंटरनेट सेवा फिर ठप, गृह मंत्रालय ने जारी किया आदेश

किसानों नेताओं द्वारा चक्का जाम खत्म करने के ऐलान के बाद किसानों के धरनास्थलों पर इंटरनेट सेवा आज एक बार फिर से बंद कर दी गई है। तीनों धरना स्थल पर आज रात 11.59 बजे तक के लिए इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

गृह मंत्रालय की ओर से टेलिकॉम कंपनियों को शुक्रवार को जारी किए गए आदेश में दिल्ली की सीमाओं पर किसान आंदोलन के धरनास्थलों गाजीपुर, टीकरी और सिंघु बॉर्डर पर शनिवार 6 फरवरी को रात 11.59 बजे तक इंटरनेट सेवा सस्पेंड रखने को कहा गया है।

सरकार ने सभी निजी और सरकारी टेलिकॉम कम्पनियों से इन आदेशों का पालन करने को कहा है। माना जा रहा है कि सरकार ने ये आदेश किसान आंदोलन के मद्देनजर क्षेत्र में शांति, सार्वजनिक व्यवस्था तथा कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए जारी किए हैं। 

गौरतलब है कि 26 जनवरी को भी दिल्ली के कुछ हिस्सों में इंटरनेट सेवाएं अस्थायी तौर पर बंद कर दी गई थीं। गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा की घटना होने पर यह कदम उठाया गया था।

बता दें कि, कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर में दोपहर 12-3 बजे तक चला चक्का जाम अब खत्म हो गया है। इस दौरान हरियाणा और पंजाब समेत देश के कई हिस्सों में चक्का जाम का असर देखने को मिला। किसानों ने देशभर के कई हिस्सों में आज चक्का जाम किया। दिल्ली, यूपी और उत्तराखंड को छोड़कर देश के बाकी राज्यों में दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक शांतिपूर्ण तरीके से ये चक्का चला। इस दौरान किसानों ने सड़कों पर जाम लगाया तो कई जगह सड़कों पर सन्नाटा छाया रहा। 

ये भी पढ़ें : चक्का जाम के बाद टिकैत का सरकार को अल्टीमेटम, 2 अक्टूबर तक का दिया समय

73वें दिन भी किसान आंदोलन जारी

गौरतलब है कि नए कृषि कानूनों पर जारी गतिरोध के चलते राजधानी दिल्ली से लगी गाजीपुर, टीकरी और सिंघु बॉर्डरों पर किसानों का आंदोलन आज 73वें दिन भी जारी है। कानूनों को रद्द कराने पर अड़े किसान इस मुद्दे पर सरकार के साथ आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर चुके हैं। इस बीच, राकेश टिकैत को मिल रहे भारी समर्थन के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर अब आंदोलन का केंद्र बिंदु बन गया है। वहीं, सिंघु और टीकरी बॉर्डर पर भी बड़ी संख्‍या में प्रदर्शनकारी मौजूद हैं। 26 जनवरी की घटना के बाद किसी तरह की अप्रिय स्थिति से बचने के लिए पुलिस ने सभी धरनास्‍थलों की पूरी तरह घेराबंदी कर दी है। धरनास्थलों के आस-पास कई लेयर की बैरिकेडिंग करके ऊपर कंटीली तारें बिछा दी गई हैं। सड़क पर टायर किलर्स लगाए गए हैं। इसके अलावा भारी तादाद में पुलिस और अर्धसैनिक बल तैनात कर दिए गए हैं। 

 

संबंधित खबरें