ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRइंस्टाग्राम पर दोस्ती, वीडियो बनाकर ब्लैकमेल; नाबालिग किशोरी ने कैसे 50 लड़कों को बनाया शिकार

इंस्टाग्राम पर दोस्ती, वीडियो बनाकर ब्लैकमेल; नाबालिग किशोरी ने कैसे 50 लड़कों को बनाया शिकार

दिल्ली पुलिस ने इंस्टाग्राम पर युवकों से दोस्ती कर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने गिरोह की सरगना नाबालिग किशोरी को शुक्रवार को पकड़ लिया। ये 50 लोगों को शिकार बना चुके हैं।

इंस्टाग्राम पर दोस्ती, वीडियो बनाकर ब्लैकमेल; नाबालिग किशोरी ने कैसे 50 लड़कों को बनाया शिकार
Sneha Baluniहेमंत कुमार पांडेय,नई दिल्लीWed, 21 Feb 2024 07:41 AM
ऐप पर पढ़ें

वजीराबाद पुलिस ने इंस्टाग्राम पर युवकों से दोस्ती कर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने गिरोह की सरगना नाबालिग किशोरी को शुक्रवार को पकड़ लिया। अब तक यह गिरोह 50 के करीब युवकों को अपना शिकार बना चुका है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि बुध विहार निवासी युवक ने 12 फरवरी को शिकायत दी थी, जिसकी जांच में यह खुलासा हुआ है। शिकायत के अनुसार पीड़ित युवक इंस्टाग्राम पर काफी सक्रिय है।

चार-पांच फरवरी को प्रियांशी नाम की फर्जी प्रोफाइल से इंस्टाग्राम पर किशोरी ने संपर्क किया। उसने पीड़ित के फोटो लाइक किए और कमेंट कर दोस्ती बढ़ानी शुरू कर दी। उसने युवक का व्यवसाय और कमाई पूछी। हालांकि, उसने सिर्फ व्यवसाय बताया। इसके बाद किशोरी ने कहा कि वह सॉफ्टवेयर इंजीनियर है और अपनी मां को उपहार में तीन तोले की सोने की चेन देना चाहती है। उसने चेन की फोटो देखकर इसे दस फरवरी को सिग्नेचर ब्रिज के पास पहुंचाने की गुजारिश की। पहले युवक ने मना कर दिया, लेकिन जिद करने पर वह मान गया। प्रियांशी ने युवक के मोबाइल पर लोकेशन भेजी और उसे बुला लिया।

रुपये देने के बहाने खाली फ्लैट में बुलाया 

युवक दस फरवरी की रात को भेजी गई लोकेशन के पास पहुंच गया। उसने युवती को रुपये देने और चेन लेने के लिए बुलाया। युवती वहां अपनी सहेली के साथ आई और पास के फ्लैट पर चलने की जिद करने लगी। युवक के अनुसार जब वह फ्लैट पर पहुंचा तो वह खाली कमरा था, जहां एक गद्दा पड़ा था। जैसे ही सोने की चेन प्रियांशी ने ली, तभी तीन और युवक कमरे में आ गए। उन्होंने आते ही ब्ल्यूटूथ स्पीकर पर गाना बजाया और पीड़ित की पिटाई शुरू कर दी। फिलहाल पुलिस ने आरोपी किशोरी को पकड़ लिया है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

एटीएम के सीसीटीवी से आरोपी तक पहुंची पुलिस

पुलिस ने पीड़ित युवक की व्हाट्सऐप आईडी ली और जिस एटीएम से रुपये निकाले गए थे, उसकी फुटेज चेक की। फिर पुलिस एक आरोपी तक पहुंची तो पता लगा कि वह 17 साल की नाबालिग है। पूछताछ में उसने बताया कि वह इंस्टाग्राम पर चैट कर लोगों को फंसाती थी। संपन्न युवकों की प्रोफाइल देखकर उनसे दोस्ती करती थी। ये लोग हनीट्रैप करके वसूली करते थे। किशोरी के कब्जे से मिले फोन में पचास के करीब युवकों के वीडियो मिले हैं।

पेशेवर फोटोग्राफर से तस्वीरें बनवाई

पुलिस की टीमें गिरोह के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। गिरोह में शामिल किशोरी और अन्य युवती इंस्टाग्राम पर फोटोशूट करने के लिए पेशेवर फोटोग्राफर का सहारा लेती थीं। इसके लिए स्टूडियो में फोटो शूट करने के लिए अच्छी खासी रकम दी जाती थी।

पीड़ित का अश्लील वीडियो बनाया

बदमाशों ने पीड़ित युवक के कपड़े उतारकर कुकर्म किया और वीडियो बनाए। एक युवती ने वीडियो बनाकर रेप करने का आरोप लगाया। इस दौरान युवक का फोन, दो तोले सोने की चेन और अंगूठी छीन ली। करीब आधे घंटे तक पिटाई करने और वीडियो बनाने के बाद बदमाशों ने उससे दस लाख रुपये मांगे। साथ ही रुपये नहीं देने पर सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल करने की धमकी दी।

फोन कर खाते में रुपये मंगाए

पीड़ित ने अपने बचपन के दोस्त को फोन कर दस लाख रुपये मांगे, लेकिन एक लाख की व्यवस्था हो पाई। दोस्त ने आधे रुपये बताए हुए बैंक खाते में और आधे पीड़ित के खाते में जमा करा दिए। इसके बाद प्रियांशी ने युवक के एटीएम कार्ड से रुपये निकाल लिए। रात करीब तीन बजे बदमाशों ने युवक को घर जाने दिया, लेकिन इससे पहले उसके फोन से प्रियांशी के इंस्टाग्राम चैट, व्हाट्सऐप लोकेशन और अन्य सबूत डिलीट कर दिए।

दोस्त पुलिस के पास लेकर पहुंचा

पीड़ित किसी तरह अपनी कार से घर आया और परेशान रहने लगा। उसके दोस्त ने अचानक रुपये मांगने का कारण पूछा तो पीड़ित ने पूरी बात बताई और कहा कि वह आत्महत्या करना चाहता है। इसके बाद 12 फरवरी को दोस्त उसे लेकर वजीराबाद थाने आया और शिकायत दी। इसके बाद एफआईआर दर्ज की गई।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें