DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली: करोलबाग और पहाड़गंज में होटलों के अवैध किचन होंगे बंद

hotels in Karol Bagh

करोल बाग के होटल अर्पित पैलेस में लगी आग के बाद निगम और मॉनिटरिंग कमेटी हरकत में आ गई है। बुधवार को उत्तरी दिल्ली नगर निगम की ओर से बनाई गई जांच कमेटी और सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित मॉनिटरिंग कमेटी के सदस्यों ने करोल बाग का दौरा किया। इस दौरान मॉनिटरिंग कमेटी ने पहाड़गंज और करोलबाग में बने होटलों और गेस्ट हाउस में चल रहे अवैध किचन के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश निगम अधिकारियों को दिए। मॉनिटरिंग कमेटी के दौरे के बाद माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में जल्द ही यहां गेस्ट हाउस का लाइसेंस लेकर होटल चलाने वालों के खिलाफ सीलिंग का एक्शन लिया जाएगा। 

हर इमारत में रेस्तरां और बार
करोल बाग और पहाड़गंज में हजारों की संख्या में होटल चल रहे हैं। जिनमें सभी में ग्राउंड या फर्स्ट फ्लोर पर रेस्तरां और बार चल रहे हैं। बीते कुछ दिनों से इस इलाके में टैरेस बार का चलन भी तेजी से बढ़ा है। जिसके बाद यहां कई होटल मालिकों ने छतों पर अवैध निर्माण कर ओपन बार बना लिए हैं। इनके साथ छोटी-छोटी किचन और बार की व्यवस्था होती है। यह पूरा सेटअप पूर्ण रूप से अवैध है और निगम अधिकारियों की मिलीभगत से चलता है।

होटल अग्निकांड: स्पेशल प्रोविजन एक्ट की आड़ में जमकर हुआ अवैध निर्माण

निगम की जांच टीम ने भी किया दौरा
वहीं दूसरी ओर बुधवार को उत्तरी दिल्ली नगर निगम की ओर से बनाई गई जांच टीम ने भी करोल बाग का दौरा किया। निगम की टीम ने भी इस पूरे इलाके में चल रहे होटलों और गेस्ट हाउसों की लिस्ट स्थानीय अधिकारियों से मांगी है, जिस पर आगे कार्रवाई की जाएगी। होटल में आग की घटना के बाद से आस-पास चल रहे होटलों के मालिकों में सीलिंग और निगम के एक्शन का खौफ है। हालांकि, कुछ स्थानीय नागरिक चाहते हैं कि यहां चल रहे होटलों पर निगम की ओर से कुछ नकेल कसी जाए, ताकि इलाके में रहने वाले लोगों को कुछ राहत मिल सके।

होटल अग्निकांड: सबने पल्ला झाड़ा, आखिर 17 मौतों का जिम्मेदार कौन?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Illegal kitchens of hotels in Karol Bagh and Paharganj will be closed soon