ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिल्ली-एनसीआर में आसमान से बरस रही आग, 3 दिन से पारा 40°C के पार; आज के लिए टेंशन वाली बात

दिल्ली-एनसीआर में आसमान से बरस रही आग, 3 दिन से पारा 40°C के पार; आज के लिए टेंशन वाली बात

दिल्ली-एनसीआर के इलाके में तेजी से बढ़ती गर्मी और चिलचिलाती धून ने लोगों के पसीने छुड़ा दिए हैं। मौसम विभाग (आईएमडी) का अनुमान है कि आने वाले दिनों में पारा और तेजी से चढ़ेगा।

दिल्ली-एनसीआर में आसमान से बरस रही आग, 3 दिन से पारा 40°C के पार; आज के लिए टेंशन वाली बात
Praveen Sharmaनई दिल्ली नोएडा गुरुग्राम। हिन्दुस्तानTue, 07 May 2024 06:14 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली-एनसीआर के इलाके में तेजी से बढ़ती गर्मी ने लोगों के पसीने छुड़ा दिए हैं। मौसम विभाग (आईएमडी) का अनुमान है कि आने वाले दिनों में पारा और तेजी से चढ़ेगा। राजधानी दिल्ली में मंगलवार को अधिकतम पारा 42 डिग्री पार हो सकता है। मौसम विभाग के अनुसार, रात में आंधी आने की भी संभावना जताई गई है। बीते 3 दिन से पारा 40 डिग्री के पार बना हुआ है। 

दिल्ली में सोमवार को तापमान सामान्य से ज्यादा दर्ज किया गया। आने वाले दिनों में गर्मी तेजी से बढ़ेगी। सोमवार को सफदरजंग मौसम केन्द्र में अधिकतम तापमान 40.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। न्यूनतम पारा 24.4 डिग्री सेल्सियस रहा। आर्द्रता का स्तर 59 से 23 डिग्री सेल्सियस रहा। रविवार को तापमान 41.1 डिग्री सेल्सियस था।

मौसम विभाग (आईएमडी) ने भविष्यवाणी की है कि मंगलवार को तापमान एक बार फिर बढ़ेगा और इसके 42 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की उम्मीद है। इसमें कहा गया है कि मंगलवार देर रात धूल भरी आंधी चलने की भी संभावना है और 45 किमी/घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी।

रविवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 41.1 डिग्री सेल्सियस सफदरजंग में इस साल का अब तक का सबसे अधिक तापमान था। आईएमडी का कहना है कि सप्ताह के शेष दिनों में अधिकतम तापमान 41 और 42 डिग्री सेल्सियस के बीच रहना चाहिए।

आईएमडी के वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि दिल्ली में सोमवार को दिन के दौरान तेज सतही हवाएं दर्ज की गईं, जिससे आसमान साफ होने के बावजूद पारा बहुत ऊपर नहीं चढ़ सका। यही कारण है कि हमने रविवार की तुलना में मामूली गिरावट देखी। मंगलवार को आसमान साफ रहेगा और इससे अधिकांश स्थानों पर अधिकतम तापमान में 1-2 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होगी। सफदरजंग में तापमान 42 डिग्री सेल्सियस और शहर के अन्य हिस्सों में इससे भी अधिक हो सकता है।

श्रीवास्तव ने कहा कि किसी स्टेशन पर मैदानी इलाकों में लू चलने के लिए अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर होना चाहिए, साथ ही सामान्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस ऊपर होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हीटवेव मानदंडों को पूरा करने के लिए एक स्टेशन को 45 डिग्री सेल्सियस को पार करना होगा। देश के अन्य हिस्सों में ऐसी स्थिति होने के बावजूद, दिल्ली में इस साल अब तक गर्मी की लहर दर्ज नहीं की गई है।

नोएडा में अधिकतम तापमान 41.3 दर्ज किया गया

नोएडा में भी लोग चिलचिलाती धूप और गर्मी से बेहाल दिखे। सोमवार को नोएडा का अधिकतम तापमान 41.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री ज्यादा है। न्यूनतम तापमान 27.7 डिग्री दर्ज किया गया, जो एक दिन पहले के मुकाबले तीन डिग्री ज्यादा है। इस हफ्ते के अंत तक अधिकतम तापमान 42-43 डिग्री तक रह सकता है।

गुरुग्राम में झुलसाने वाली गर्मी से लोग बेहाल

वहीं, गुरुग्राम में झुलसाने वाली गर्मी से लोग बेहाल हैं। सोमवार को दिन में तापमान 40.7 डिग्री सेल्सियस रहा। दिन चढ़ते ही जहां सूरज की तल्ख धूप ने लोगों को झुलसाया, वहीं लू के थपेड़ों ने हर वर्ग के लोगों का जीना दुश्वार कर दिया। सुबह 9 बजते ही सूरज का कहर शुरू हो जाता है, जो दोपहर तक अपने पूरे चरम पर होता है। गर्मी के बढ़ते कहर के कारण लोगों का घर से निकलना भी मुश्किल हो गया है। दोपहर के समय बच्चे भी अपने घरों में दुबके रहते हैं। गर्मी के कारण दोपहर के बाद सड़कों व मार्केट में सन्नाटा छा गया। गर्मी से बेहाल लोगों को कूलर पंखों से भी राहत नहीं मिल पा रही है। दरअसल, एक मई से ही शहर का पारा ऊपर चढ़ता जा रहा है। तेज गर्मी ने आम जनजीवन पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है। शरीर को झुलसा देने वाली धूप से बचने के लिए लोग हर कोशिश कर रहे हैं।

सोमवार को शहर का अधिकत्तम तापमान 40.7 रिकॉर्ड किया गया है। हालांकि रविवार से .3 डिग्री सेल्सियस की हल्की गिरावट दर्ज की गई है। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दो दिन में गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

गर्मी के कारण उल्टी-दस्त और बुखार के मरीज बढ़े

गर्मी के कारण उल्टी-दस्त (डिहाइड्रेशन) और बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ी है। नोएडा जिला अस्पताल में सोमवार को फिजिशियन की ओपीडी में 600 से ज्यादा मरीज इलाज के लिए आए। जिला अस्पताल में 100 से ज्यादा मरीज डिहाइड्रेशन और करीब 500 मरीज बुखार, सिर दर्द, बदन दर्द आदि के मरीज इलाज के लिए आए। गर्मी बढ़ने के साथ ही मरीजों की संख्या और बढ़ने की आशंका जताई गई है। गर्मी बढ़ते देख अस्पताल प्रबंधन ने ओआरएस पाउडर काउंटर भी बनाया है, जहां से मरीज यह निशुल्क ले सकते हैं। अस्पताल के सभी चिकित्सकीय विभागों में 2500 से ज्यादा मरीज इलाज के लिए आए। जिला अस्पताल के फिजिशियन डॉ. प्रदीप शैलेट ने बताया कि गर्मी बढ़ने से इस तरह के मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। इनमें से कोई गंभीर मरीज नहीं है।