ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRहनीट्रैप के जरिए फंसाया, 40 से ज्यादा गोलियां मारीं; बर्गर किंग में युवक की हत्या का तिहाड़ से क्या है कनेक्शन

हनीट्रैप के जरिए फंसाया, 40 से ज्यादा गोलियां मारीं; बर्गर किंग में युवक की हत्या का तिहाड़ से क्या है कनेक्शन

दिल्ली के राजौरी गार्डन स्थित बर्गर किंग में युवक की हत्या में तिहाड़ जेल का कनेक्शन सामने आया है। युवती के साथ बैठे एक युवक को दो बदमाशों ने 40 से ज्यादा गोलियां मारकर मौत के घाट उतार दिया।

हनीट्रैप के जरिए फंसाया, 40 से ज्यादा गोलियां मारीं; बर्गर किंग में युवक की हत्या का तिहाड़ से क्या है कनेक्शन
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 20 Jun 2024 06:43 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली एक बार फिर गैंगवार से दहल गई। राजौरी गार्डन के एक मशहूर रेस्तरां में मंगलवार देर रात युवती के साथ बैठे एक युवक को दो बदमाशों ने 40 से ज्यादा गोलियां मारकर मौत के घाट उतार दिया। घटना के वक्त रेस्तरां स्टाफ सहित कई लोग मौजूद थे। गोलियां चलते ही सभी लोग टेबल के नीचे घुस गए और अपनी जान बचाई। घटना के बाद आरोपी पिस्तौल लहराते हुए मौके से फरार हो गए। बाद में युवक के साथ बैठी युवती भी उसका मोबाइल और पर्स लेकर वहां से चली गई। पुलिस मामला दर्ज कर दोनों बदमाश और युवती की तलाश कर रही है।

पुलिस उपायुक्त विचित्र वीर ने बताया कि फाइनेंस का काम करने वाला अमन अपने परिवार के साथ हरियाणा के झज्जर में रहता था। मंगलवार रात रेस्तरां में युवती पहुंची और उसने अमन को फोन कर बुलाया। अमन के रेस्तरां पहुंचने के कुछ ही देर बाद भाऊ गैंग के दो शूटर वहां पहुंचे। दोनों ने अपना ऑर्डर दिया और फिर बर्गर लेकर अमन के पीछे वाली सीट पर जाकर बैठ गए। इसके बाद आरोपियों ने अपनी प्लेट टेबल पर रखी और ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। 

इस दौरान अमन को करीब 40 गोलियां लगी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। करीब सात मिनट तक रेस्तरां में फायरिंग की आवाज गूंजती रही। वारदात के दौरान युवती वहां से हट गई थी। इधर, अचानक ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू होते ही रेस्तरां में चीख पुकार मच गई। लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। वहां मौजूद ग्राहक के साथ ही कर्मचारी भी अपनी जान बचाने के लिए टेबल के नीचे छिप गए।

युवती के इशारा करते ही फायरिंग 

पुलिस पूरे मामले में युवती की भूमिका को संदिग्ध मान रही है और आशंका जता रही है कि अमन को हनी ट्रैप में फंसाया गया था। युवती के इशारा करने के बाद ही दोनों शूटरों ने अमन पर फायरिंग शुरू कर दी।

मुखबिरी और रेकी के शक में हत्या वर्ष 2020

अमन की हत्या के बाद एक बार फिर तिहाड़ जेल प्रशासन पर सवाल उठ रहे हैं। कुख्यात गैंगस्टर नीरज बवाना तिहाड़ जेल के अतिसुरक्षित वार्ड में बंद है। नीरज को सुरक्षा के मद्देनज़र अकेला रखा गया है और उसके पास किसी को भी जाने की अनुमति नहीं है। अमन की हत्या में नीरज की भूमिका सामने आ रही है। हिमांशु भाऊ गैंग ने नीरज के कहने पर ही हत्या को अंजाम दिया है।

जेल से प्लानिंग 

सूत्रों ने बताया कि अमन की हत्या के लिए नीरज बवाना ने जेल से ही 2021 में भी प्लानिंग की थी। हमले के दौरान अमन के साथ उसका दोस्त और प्रधान गैंग का शूटर काला पहलवान मौजूद था। उस हमले में अमन बच गया था और काला मारा गया था।

सोशल मीडिया पर ली जिम्मेदारी

हिमांशु भाऊ गैंग ने हत्या की जिम्मेदारी ली है। हिमांशु भाऊ ने पोस्ट में लिखा कि राजौरी गार्डन के रेस्तरां में हुई हत्या की जिम्मेदारी मैं और नवीन बाली भाई लेते हैं। अमन ने नीरज बवानिया के रिश्तेदार की 2020 में हुई हत्या में मुखबिरी की थी, जिसका बदला लिया गया है। हिमांशु भाऊ ने आगे लिखा कि जो भी बाकी रह गया है उसका नंबर भी जल्द आएगा।