ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRगृहमंत्री का निजी सचिव बन रुकवाई रजिस्ट्री, कारोबारी से ऐंठे 12 लाख; धोखाधड़ी में पति-पत्नी गिरफ्तार

गृहमंत्री का निजी सचिव बन रुकवाई रजिस्ट्री, कारोबारी से ऐंठे 12 लाख; धोखाधड़ी में पति-पत्नी गिरफ्तार

मथुरा के रहने वाले एक कारोबारी से गृह मंत्री का निजी सचिव बनकर धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। आरोपियों ने कारोबारी के फर्म की रजिस्ट्री रुकवा दी थी। इसके एवज में 12 लाख रुपए ठगे।

गृहमंत्री का निजी सचिव बन रुकवाई रजिस्ट्री, कारोबारी से ऐंठे 12 लाख; धोखाधड़ी में पति-पत्नी गिरफ्तार
Sneha Baluniअमित झा,नई दिल्लीWed, 31 Jan 2024 08:00 AM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के मथुरा के रहने वाले एक कारोबारी से गृहमंत्री का निजी सचिव बनकर ठगी करने का मामला सामने आया है। आरोपियों ने कारोबारी की फर्म की रजिस्ट्री को रुकवाकर वारदात को अंजाम दिया। इस मामले में स्पेशल सेल ने शिकायतकर्ता आशीष कोहली के बयान पर मामला दर्ज कर एक महिला सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं, निजी सचिव बनने वाले शख्स की तलाश चल रही है।

आशीष कोहली मथुरा में कारोबार करते हैं। वर्ष 2023 में वह अपनी फर्म की रजिस्ट्री करवाने रजिस्ट्रार के पास पहुंचे। वहां पता चला कि गृहमंत्री के निजी सचिव ने रजिस्ट्रार को कॉल कर रजिस्ट्री रुकवाई है। रजिस्ट्रार की तरफ से दिए गए मोबाइल नंबर पर जब उन्होंने संपर्क किया तो उस शख्स ने खुद को गृहमंत्री का निजी सचिव बताया। उसने बताया कि कानून मंत्री के सलाहकार नितिन गुप्ता के निर्देश पर यह रजिस्ट्री रुकवाई गई है।

इसके बाद नितिन गुप्ता ने कॉल कर उन्हें मिलने के लिए दिल्ली बुलाया। उसने खुद को कानून मंत्री का सलाहकार बताया। यहां उसने गृहमंत्री का निजी सचिव बताकर वरुण चौहान (असली नाम) को उनसे मिलवाया। वहीं, शिखा गुप्ता को गृहमंत्री के निजी सचिव का सचिव बताकर मिलवाया। उन्होंने 12 लाख रुपये लेकर यह रोक हटाने की बात कही। आशीष को झांसे में लेने के लिए उन्होंने 12 अप्रैल का एक फर्जी अदालत का आदेश भी दिखाया। उन पर विश्वास होने के चलते पीड़ित कारोबारी ने यह रकम दे दी। बाद में ठगी का एहसास होने पर उन्होंने मामले की शिकायत स्पेशल सेल से की।

आरोपियों को नहीं मिली जमानत

पुलिस ने नितिन गुप्ता और उसकी पत्नी शिखा गुप्ता को गिरफ्तार किया है। वहीं, गृहमंत्री का निजी सचिव बनने वाला वरुण चौहान फिलहाल फरार है। इस मामले की गंभीरता को देखते हुए अदालत ने आरोपी शिखा गुप्ता की जमानत याचिका और आरोपी वरुण चौहान की अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें