ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR'बैड कैरेक्टर' घोषित किए जाने वाले मामले में अमानतुल्लाह खान को राहत, SC ने क्या कहा

'बैड कैरेक्टर' घोषित किए जाने वाले मामले में अमानतुल्लाह खान को राहत, SC ने क्या कहा

अमानतुल्लाह खान की हिस्ट्रीशीट को देखते हुए उन्हें बैड कैरेक्टर घोषित किया है। इसपर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हिस्ट्रीशीट सिर्फ पुलिस के अंदरुनी डॉक्यूमेंट हैं और इसे पब्लिक डोमेन में नहीं लाना चाहिए।

'बैड कैरेक्टर' घोषित किए जाने वाले मामले में अमानतुल्लाह खान को राहत, SC ने क्या कहा
Nishant Nandanलाइव हिनदुस्तान,नई दिल्लीTue, 07 May 2024 01:28 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली पुलिस द्वारा 'बैड कैरेक्टर' घोषित किए गए आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली है। दरअसल दिल्ली पुलिस ने अमानतुल्लाह खान की हिस्ट्री शीट को देखते हुए उन्हें बैड कैरेक्टर घोषित किया था। जिसके खिलाफ अमानतुल्लाह खान ने शीर्ष अदालत का रूख किया था। इसपर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हिस्ट्री शीट सिर्फ पुलिस के अंदरुनी डॉक्यूमेंट हैं और इसे पब्लिक डोमेन में नहीं लाया जाना चाहिए। अमानतुल्लाह खान ने अपनी याचिका में कहा था कि उनके खिलाफ बनाई गई हिस्ट्री शीट में उनके नाबालिग बेटों क पहचान उजागर की गई है। 

अदालत में जस्टिस सूर्य कांत और जस्टिस जेव विश्वनाथन की खंडपीठ ने कहा, 'हिस्ट्री शीट पुलिस का आंतरिक दस्तावेज है और उसे सार्वजनिक नहीं किया जाना चाहिए। हम अथॉरिटी को यह सलाह देते हैं कि वो अपनी नीति में बदलाव लाएं और यह इस केस में भी लागू होगा। हम पुलिस कमिश्नर को भी सलाह देते हैं कि वो एक संयुक्त आयुक्त रैंक के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी को नियुक्त करें जो इस विषय पर देखेंगे। वो हिस्ट्री शीट, उसकी सामग्री को देखेंगे ताकि इसकी गोपनीयता बनाई रखी जा सके। इसके अलावा ऐसे व्यक्ति/नाबालिग जो जांच के बाद निर्दोष पाए जाते हैं उनके नाम इस शीट से हटाए जाएं।'

अदालत की बेंच ने अपने आदेश मे कहा कि अगर जानबूझ कर अमानतुल्ला खान के नाबालिग बेटों की पहचान किसी के द्वारा उजागर की गई है तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। अमानतुल्लाह खान की तरफ से कहा गया था कि हिस्ट्रीशीट में उनके नाबालिग बेटों के अलाव उनकी पत्नी की पहचान भी उजागर की गई थी। सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा है कि हिस्ट्रीशीट में किसी कथित अपराधी के खिलाफ दर्ज मामलों का जिक्र होता है और उसमें उसके रिश्तेदारों का जिक्र होता है। लेकिन यह दस्तावेज गोपनीय होते हैं। इसे पब्लिक डोमेन में नहीं लाया जाना चाहिए। 

बता दें कि अमानतुल्लाह खान को 'बैड कैरेक्टर' को घोषित करने को लेकर साल 2022 में दक्षिणपूर्व जिले के जामिया नगर पुलिस स्टेशन द्वारा एक प्रस्ताव भेजा गया था। जिसे बाद में मंजूरी दे दी गई थी। दिल्ली पुलिस का कहना था कि अमानतुल्लाह खान के खिलाफ 18 केस दर्ज हैं।

पुलिस के मुताबिक, अगर कोई शख्स हत्या या हत्या की कोशिश समेत अन्य अपराधों में शामिल होता है तो या किसी ऐसे अपराध में शामिल होता है जिससे इलाके की शांति-व्यवस्था भंग हो सकती हो तो उसे बैड कैरेक्टर का तमगा दिया जा सकता है। अमानतुल्लाह खान दिल्ली की ओखला विधानसभा सीट से विधायक हैं। जब दिल्ली हाई कोर्ट ने बैड कैरेक्टर वाली खान की याचिका को खारिज किया था तब अदालत ने उन्हें इजाजत दी थी कि वो प्राधिकरण के समक्ष अपना आवेदन दे सकते हैं।