ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRहिमाचल पानी देने को तैयार, हरियाणा बन रहा रुकावट; AAP के आरोप पर BJP ने क्या दिया जवाब

हिमाचल पानी देने को तैयार, हरियाणा बन रहा रुकावट; AAP के आरोप पर BJP ने क्या दिया जवाब

Delhi Water Crisis: दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने एक बार फिर हरियाणा पर आरोप लगाया है। आतिशी ने बताया कि हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री से बात हो चुकी है। वो दिल्ली को पानी देने के लिए तैयार हैं।

हिमाचल पानी देने को तैयार, हरियाणा बन रहा रुकावट; AAP के आरोप पर BJP ने क्या दिया जवाब
bjp attack aap over water shortage in delhi
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 20 Jun 2024 06:17 AM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी दिल्ली में भीषण गर्मी के बीच जल संकट बढ़ता जा रहा है। दिल्ली सरकार का कहना है कि हिमाचल प्रदेश अतिरिक्त पानी देने को तैयार है, लेकिन हरियाणा की भाजपा सरकार रुकावट बनी हुई है। जल मंत्री आतिशी ने बुधवार को पत्रकार वार्ता में बताया कि हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री से बात हो चुकी है। वह पानी देने के लिए तैयार हैं, लेकिन वो पानी भी हरियाणा से होकर आना है। हरियाणा ने पानी देने से इनकार कर दिया। 

मंत्री ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के सामने गुहार लगाई कि दिल्ली 100 एमजीडी पानी की जरूरत है। कोर्ट ने भी माना कि दिल्ली में पानी का संकट है। इन सब के बावजूद हरियाणा ने पानी नहीं दिया। हमारे विधायक केंद्रीय जल शक्ति मंत्री से मिलने के लिए गए, लेकिन वो नहीं मिले। हरियाणा को 100 एमजीडी पानी देना भी है तो वो उसके आवंटन का 1.5 प्रतिशत है।

राजधानी में तीन करोड़ लोगों को परेशानी

आतिशी ने कहा कि मंगलवार को दिल्ली सरकार के सभी उच्च अधिकारी हरियाणा सरकार के अधिकारियों से मिलने के लिए गए थे, लेकिन उन्होंने अतिरिक्त पानी देने से मना कर दिया। दिल्ली में तीन करोड़ लोग रहते हैं, जिन्हें 1050 एमजीडी पानी मिलता है, जबकि हरियाणा में भी तीन करोड़ लोग रहते हैं, लेकिन उन्हें 6050 एमडीटी पानी आवंटित है। अगर हरियाणा को 100 एमजीडी पानी देना भी है तो वो उसके कुल आवंटन का महज 1.5 प्रतिशत है। फिर भी हमारी हर संभव कोशिश के बाद हरियाणा सरकार दिल्ली को पानी नहीं दे रही है।

समझौते से ज्यादा पानी दे रहा हरियाणा

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी की ओर से अनशन का ऐलान करने को लेकर दिल्ली भाजपा ने सवाल उठाए हैं। आतिशी की प्रेस कांफ्रेंस के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने बयान जारी किया। उन्होंने कहा कि हरियाणा से समझौते से ज्यादा पानी मिल रहा है। दिल्ली सरकार की मंत्री जल संकट के नाम पर राजनीतिक कर रहीं हैं। वो कितना भी अनशन कर लें, लेकिन दिल्ली में जल संकट के नाम पर जनता को लूटने नहीं दिया जाएगा। भाजपा का आंदोलन जारी रहेगा।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि आतिशी अनशन करने की बात कर रहीं हैं, लेकिन उससे पहले उन्हें यह भी बताना चाहिए कि वर्ष 2013 में दिल्ली जल बोर्ड 600 करोड़ के लाभ में था, लेकिन अब 73 हजार करोड़ रुपये के घाटे में चला गया है। आखिरकार जल बोर्ड की ऐसी हालत किसने की है। 10 वर्षों से दिल्ली में आप की सरकार है।