DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRटिड्डियों के हमले को लेकर हरियाणा में हाई अलर्ट, नौ जिलों में हमले की आशंका

टिड्डियों के हमले को लेकर हरियाणा में हाई अलर्ट, नौ जिलों में हमले की आशंका

गुरुग्राम। वार्ताPraveen Sharma
Fri, 29 May 2020 06:42 PM
टिड्डियों के हमले को लेकर हरियाणा में हाई अलर्ट, नौ जिलों में हमले की आशंका

राजस्थान में टिड्डी दल के हमले को लेकर हरियाणा सरकार भी अब सतर्क हो गई है तथा इसके राज्य की ओर बढ़ने की सम्भावनाओं के चलते उसने कृषि विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारियों को इससे निपटने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं।

राज्य की मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा ने शुक्रवार को चंडीगढ़ में टिड्डी दल की निगरानी और नियंत्रण के संबंध में कृषि विभाग और अन्य सम्बंधित अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद इन्हें आवश्यक इंतजाम और कदम उठाने के निर्देश जारी किए। बैठक में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल ने बताया कि पड़ोसी राज्यों पंजाब और राजस्थान में टिड्डी दल के हमले की सम्भावनाओं के मद्देनजर हरियाणा को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है।

स्थिति से निपटने और इसके बारे में जागरूकता फैलाने के लिए टीमें गठित की गई हैं। टिड्डी दल के हमले को नियंत्रित करने के लिए हैफेड और हरियाणा भूमि सुधार और विकास निगम के माध्यम से कीटनाशकों अर्थात क्लोरपायरीफॉस और क्लोरपायरीफॉस का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध कराया गया है और यदि आवश्यक हो तो किसान एजेंसियों से ये कीटनाशक प्राप्त कर सकते हैं।

नौ जिलों में हमले की आशंका

संजीव कौशल ने कहा कि पड़ोसी राज्यों और कुछ अन्य राज्यों में टिड्डी दल के फसलों पर हमला करने के बाद इसके हरियाणा के नौ जिलों में हमले की आशंका है जिन्हें हाई अलर्ट पर रखा है और किसी भी हमले से निपटने के लिए पहले से ही पर्याप्त व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि कृषि विभाग ने कीटनाशकों का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध करा दिया है और वॉट्सऐप पर किसानों के समूहों का गठन किया है। उन्होंने बताया कि किसानों को भी टिड्डी दल के बारे में सतर्क रहने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि हालांकि, अब तक टिड्डी दल ने राज्य में प्रवेश नहीं किया है, लेकिन सभी आवश्यक सावधानियों और उपायों को अमल में लाया जा रहा है, जिसमें ट्रेक्टर माउंटेड छिड़काव सुविधा को सक्रिय करना, टिड्डी नियंत्रण गतिविधियों की निगरानी के लिए एक रिस्पॉन्स टीम का गठन करना शामिल है। इसके साथ ही, उचित समन्वय के लिए उपायुक्तों को रिस्पॉन्स टीम के साथ रोजाना बैठकें करने और इलाकों में किसी प्रकार की कोई तनाव या अफरा-तफरी की स्थिति पैदा न हो, यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।

बैठक में बताया गया कि कृषि विभाग के अधिकारी टिड्डी दल की आगे बढ़ने की गति के बारे में आवश्यक जानकारी के लिए जोधपुर सेंट्रल इंस्टीट्यूट फॉर टिड्डी वॉर्निंग (टिड्डी चेतावनी संस्थान) के साथ नियमित सम्पर्क में हैं। इसके साथ, विभाग के अधिकारी भारत सरकार के टिड्डी दल नियंत्रण संगठनों के साथ भी समन्वय स्थापित किए हुए हैं।

बैठक में गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव विजय वर्धन और सामान्य प्रशासन विभाग के प्रधान सचिव विजयेंद्र कुमार उपस्थित थे। पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में हिस्सा लिया। 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें