ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिल्ली में हीटवेव और गर्मी से हाहाकार, अगले सात दिन भारी; ऑरेंज अलर्ट जारी

दिल्ली में हीटवेव और गर्मी से हाहाकार, अगले सात दिन भारी; ऑरेंज अलर्ट जारी

Heatwave In Delhi : राजधानी में अगले सात दिनों तक आसमान साफ ​​रहने और कई स्थानों पर झुलसाने वाली गर्मी और लू चलने और दिन के समय 35 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की उम्मीद है।

दिल्ली में हीटवेव और गर्मी से हाहाकार, अगले सात दिन भारी; ऑरेंज अलर्ट जारी
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 10 Jun 2024 07:04 PM
ऐप पर पढ़ें

Heatwave In Delhi : भीषण गर्मी का सामना कर रही दिल्ली को अभी राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। दिल्ली में रहने वाले लोगों को अभी गर्मी और झुलसाएगी। मौसम विभाग ने बताया है कि राष्ट्रीय राजधानी वासियों को अगले सात दिनों तक झुलसाने वाली गर्मी और लू से राहत मिलने के कोई आसार नहीं दिखाई दे रहे हैं। मौसम विभाग ने सोमवार को राजधानी में अगले तीन दिनों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया। मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक एक मई से 10 जून के बीच 40 दिनों में से 32 दिन राष्ट्रीय राजधानी का अधिकतम तापमान 40 डिग्री से ऊपर दर्ज किया गया था। गर्मी ने पिछले 14 सालों का रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिये।

राजधानी में अगले सात दिनों तक आसमान साफ ​​रहने और कई स्थानों पर झुलसाने वाली गर्मी और लू चलने और दिन के समय 35 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने की उम्मीद है। इस दौरान दिल्ली में अधिकतम तापमान 44-45 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है। राजधानी के कुछ अलग-अलग हिस्सों में आज लू भी चली, आसमान साफ रहा और तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किया गया।

तापमान और बढ़ने के आसार

उत्तर-पश्चिम और पूर्वी भारत में भीषण गर्मी का एक और दौर शुरू हो गया है और अगले पांच दिन के दौरान तापमान दो से तीन डिग्री सेल्सियस बढ़ने का अनुमान है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने सोमवार को यह जानकारी दी। भारत में अप्रैल और मई महीने में कई दिन तक भीषण गर्मी पड़ी थी और लू चली थी। आईएमडी ने एक बयान में कहा, 'अगले पांच दिन के दौरान उत्तर-पश्चिम और पूर्वी भारत में भीषण गर्मी पड़ने का अनुमान है।

अन्य राज्यों में मौसम का हाल

बयान में कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश, झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के गंगा के मैदानी इलाकों में भीषण गर्मी पड़ने के आसार हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि यह अत्यधिक गर्मी प्राकृतिक रूप से घटित होने वाली अल नीनो घटना तथा वायुमंडल में ग्रीनहाउस गैसों की तेजी से बढ़ती सांद्रता का परिणाम है।

अल नीनो के दौरान मध्य और पूर्वी उष्णकटिबंधीय प्रशांत महासागर में समुद्री सतह असामान्य रूप से गर्म हो जाती है। अध्ययनों से पता चलता है कि तीव्र शहरीकरण के कारण शहरी क्षेत्रों में तापमान में वृद्धि हुई है, तथा बाहर काम करने वाले तथा निम्न आय वाले परिवार इसका सबसे अधिक प्रभाव झेल रहे हैं।

मई में गर्मी की वजह से असम, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और अरुणाचल प्रदेश के पहाड़ी इलाकों समेत देश भर में कई जगहों पर बहुत ज्यादा तापमान दर्ज किया गया। राजस्थान में पारा 50 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया और दिल्ली व हरियाणा में भी यह 50 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच गया।