DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › मौसम की दृष्टि से दिल्ली के लिए अजीबोगरीब रहा जुलाई महीना, लू और बारिश ने तोड़े रिकॉर्ड
एनसीआर

मौसम की दृष्टि से दिल्ली के लिए अजीबोगरीब रहा जुलाई महीना, लू और बारिश ने तोड़े रिकॉर्ड

नई दिल्ली। भाषाPublished By: Praveen Sharma
Mon, 02 Aug 2021 11:56 AM
मौसम की दृष्टि से दिल्ली के लिए अजीबोगरीब रहा जुलाई महीना, लू और बारिश ने तोड़े रिकॉर्ड

दिल्ली के लिए जुलाई का महीना मौसम की दृष्टि से बहुत ही अजीबोगरीब रहा क्योंकि इस महीने में पांच दिन लू चली, जो 2012 के बाद से अधिकतम है। इसके अलावा मॉनसून भी दो सप्ताह की देरी से आया, जो असामान्य है और लगभग दो दशकों के रिकॉर्ड को तोड़ने वाली मूसलाधार बारिश हुई।

राजधानी दिल्ली में जुलाई महीने की शुरुआत प्रचंड गर्मी से हुई। लगातार तीन दिन- एक, दो और तीन जुलाई को लू चली। जुलाई के लिए औसत अधिकतम तापमान 36.5 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि दीर्घावधि औसत 35.5 डिग्री सेल्सियस था।

मौसम विभाग के लिए मॉनसून के राजधानी में पहुंचने को लेकर सटीक पूर्वानुमान लगाना मुश्किल हो गया था। भारत मौसम विज्ञान विभाग के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में 13 जुलाई को मॉनसून ने दस्तक दी, जो 19 वर्षों में सबसे अधिक विलंब से पहुंचने वाला मॉनसून बन गया। इतनी देर से मॉनसून के पहुंचने के बावजूद राजधानी में इस महीने में 16 बरसात के दिन दर्ज किए गए, जो पिछले चार वर्षों में सबसे अधिक है। मॉनसून के शहर में पहुंचने से पहले तीन दिन बारिश हुई थी।

शहर का आधिकारिक आंकड़ा देने वाली सफदरजंग वेधशाला ने इस जुलाई में 507.1 मिलीमीटर बारिश दर्ज की, जो कि 210.6 मिमी की दीर्घावधि औसत से लगभग 141 प्रतिशत अधिक है। यह जुलाई 2003 के बाद से इस महीने में हुई सबसे अधिक वर्षा भी थी और अब तक की दूसरी सबसे अधिक वर्षा थी।

आईएमडी के अनुसार, 2013 में, दिल्ली में 340.5 मिमी बारिश हुई थी। जुलाई 2003 में अब तक का रिकॉर्ड 632.2 मिमी वर्षा हुई थी। कुल मिलाकर, दिल्ली में एक जून से अब तक 570.1 मिमी बारिश हुई है, जो मॉनसून की शुरुआत के समय के सामान्य 281.9 मिमी के मुकाबले 102 प्रतिशत अधिक है।

दिल्ली में जुलाई में 16 बरसात के दिनों में, तीन मौकों पर भारी बारिश हुई- 18-19 जुलाई को 69.6 मिमी, 26-27 जुलाई को 100 मिमी और 29-30 जुलाई को 72 मिमी बारिश हुई। 

संबंधित खबरें