DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  नवनीत कालरा की अग्रिम जमानत पर सुनवाई टली, आज दोबारा सुनवाई

एनसीआरनवनीत कालरा की अग्रिम जमानत पर सुनवाई टली, आज दोबारा सुनवाई

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Deep Pandey
Fri, 14 May 2021 08:32 AM
नवनीत कालरा की अग्रिम जमानत पर सुनवाई टली, आज दोबारा सुनवाई

आक्सीजन कंसंट्रेटर के कालाबाजारी के आरोपी व कारोबारी नवनीत कालारा को गुरुवार को उच्च न्यायालय से भी राहत नहीं मिली। उच्च न्यायालय में देर रात तक चली लंबी बहस के बाद कालरा को किसी तरह की अंतरिम राहत देने से इनकार करते हुए उनकी अग्रिम जमानत पर सुनवाई शुक्रवार दोपहर तक के लिए स्थगित कर दिया। 

जस्टिस सुब्रमण्यम प्रसाद ने कहा कि वह शुक्रवार को दोपहर 12 बजे मामले की सुनवाई करेंगे। इससे पहले, कालरा की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि उनके मुवक्किल को इस मामले में फंसाया गया है। उन्होंने कहा कि उनके मुवक्किल के लगे आरोप गंभीर प्रकृति का नहीं है। उन्होंने अग्रिम जमानत की मांग करते हुए कहा कि जब मीडिया उनके मुवक्किल (कालरा) के पीछे हाथ धोकर पड़ा है तो क्या उनसे बिना किसी संरक्षण के सहयोग की क्या उम्मीद की जा सकती है। दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस ने कालरा की अग्रिम जमानत याचिका का कड़ा विरोध किया। पुलिस ने कहा कि यदि आरोपी को अग्रिम जमानत दी गई तो समाज में एक गलत संदेश जाएगा। पुलिस ने कहा कि आरोपी जांच से भाग रहा है। साथ ही कहा कि यह जमाखोरी व कालाबाजरी का उदाहरण है। पुलिस ने आरोपी की अग्रिम जमानत की याचिका खारिज करने की मांग की। अब शुक्रवार को दोपहर को दोबारा से सुनवाई होगी।

निचली अदालत से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद कालारा ने गुरुवार को उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। उन्होंने उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल कर अग्रिम जमानत की मांग की है। इससे पहल, गुरुवार की सुबह निचली अदालत ने कारोबारी नवनीत कालरा को अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया। निचली अदालत ने कहा है कि कालरा के खिलाफ गंभीर किस्म के आरोप हैं और पूरी साजिश को बेनकाब करने के लिए हिरासत में लेकर उससे पूछताछ किया जाना जरूरी है।

दिल्ली पुलिस द्वारा आक्सीजन कंसंट्रेटर की जमाखोरी के आरोप में दर्ज मामले में कालरा ने गिरफ्तारी की आशंका जताते हुए अग्रिम जमानत की मांग की है। कालरा ने याचिका में दावा किया कि उसके खिलाफ कोई मामला नहीं बनता है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संदीप गर्ग ने कालरा की याचिका खारिज करते हुए कहा कि ‘आरोपी और कई सारे सह-आरोपियों के बीच रची गई पूरी साजिश का पता लगाने के लिए हिरासत में लेकर उससे पूछताछ किया जाना जरूरी है। दिल्ली पुलिस द्वारा की गई छापेमारी के दौरान कालरा के तीन रेस्त्रां खान चाचा, नेगा जू और टाउन हॉल से कथित तौर पर 524 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद किए गए थे।
 

संबंधित खबरें