DA Image
3 दिसंबर, 2020|6:51|IST

अगली स्टोरी

हाथरस गैंगरेप : पीड़िता के परिजन अस्पताल के बाहर भूख हड़ताल पर बैठे, कांग्रेस और भीम आर्मी ने उठाईं कैंडल, भारी पुलिस बल तैनात

1 / 2हाथरस गैंगरेप पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए सफदरजंग अस्पताल में कैंडल मार्च निकालते कांग्रेस कार्यकर्ता। (Photo : Hindustan)

2 / 2हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत को लेकर भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में सफदरजंग अस्पताल के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। (ANI Photo)

PreviousNext

उत्तर प्रदेश के हाथरस की गैंगरेप पीड़ित युवती की दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई। बेटी को इंसाफ और दोषियों को फांसी दिलाने की मांग को लेकर युवती के परिजन अब भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं के साथ अस्पताल के बाहर भूख हड़ताल पर बैठ गए गए हैं। इसके साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी मंगलवार शाम को सफदरजंग अस्पताल में कैंडल मार्च निकालकर हाथरस गैंगरेप पीड़िता के लिए इंसाफ की लड़ाई में उसके परिवार को मदद का भरोसा दिया। इसमें भीम आर्मी ने भी उनका साथ दिया।

परिजनों का आरोप है कि उत्तर प्रदेश प्रशासन इस मामले को दबाने के लिए लीपापोती की कोशिश कर रहा है। बताया जा रहा है कि पीड़िता शव को पोस्टमॉर्टम के लिए किसी दूसरी जगह ले जाया गया है, लेकिन युवती के पिता और भाई को वहीं छोड़ दिया गया है, इसलिए वे सफदरजंग अस्पताल के बाहर ही भूख हड़ताल पर बैठे हैं। परिजनों का आरोप है कि उनकी बेटी का शव उन्हें नहीं दिया जा रहा है।

वहीं, कांग्रेस और भीम आर्मी कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन को देखते हुए सफदरजंग अस्पताल के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हालात को काबू करने के लिए अस्पताल में दिल्ली पुलिस के साथ ही केंद्रीय सुरक्षा बल के जवानों को भी तैनात कर दिया गया है।

रिंग रोड को कर दिया था जाम

हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत की खबर मिलने के बाद सैकड़ों की तादाद में दिल्ली पहुंचे भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया और रिंग रोड को कुछ समय के लिए जाम कर दिया था।

इस दौरान प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे चंद्रशेखर आजाद रावण ने गैंगरेप पीड़िता का पोस्टमॉर्टम में घपलेबाजी का आरोप लगाते हुए कहा कि पोस्टमॉर्टम कराने के लिए डॉक्टरों का एक विशेष बोर्ड बनाया जाए। उन्होंने कहा कि लड़की के साथ अत्याचार हुआ है, उसकी उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। रावण ने कहा कि जब तक दलित लड़की को इंसाफ नहीं मिल जाता उनका आंदोलन जारी रहेगा।

अस्पताल में मचाया उत्पात

इस दौरान भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने अस्पताल के अंदर जमकर उत्पात मचाया और बैरिकेड उठाकर फेंकने लगे। इसके साथ ही वे दिल्ली पुलिस मुर्दाबाद और योगी सरकार मुर्दाबाद के नारे भी लगाते दिखे। प्रदर्शनकारियों को काबू करने के लिए सफदरजंग अस्पताल में सीआरपी को बुलाया गया है।

गौरतलब है कि हाथरस में गैंगरेप की शिकार 19 वर्षीय दलित युवती की मंगलवार सुबह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई। हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में 14 सितंबर को 19 साल की एक दलित युवती के साथ कथित तौर पर गैंगरेप की वारदात हुई थी। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। 

हाथरस गैंगरेप केस: चंद्रशेखर ने पोस्टमॉर्टम में लगाया घपलेबाजी का आरोप

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hathras gangrape victim family members sitting on hunger strike outside Safdarjung Hospital