ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRहरियाणा रोडवेज बसों के पहिए थमने से यात्री परेशान, सरकार ने मानी कर्मचारियों की मांग; खत्म हुई हड़ताल

हरियाणा रोडवेज बसों के पहिए थमने से यात्री परेशान, सरकार ने मानी कर्मचारियों की मांग; खत्म हुई हड़ताल

हरियाणा रोडवेज बसों के पहिए थमने से भाई दूज के मौके पर यात्री परेशान रहे। बस ड्राइवर की हत्या के विरोध में कर्मचारी हड़ताल पर थे। परिवहन मंत्री के साथ बैठक के बाद हड़ताल खत्म हो गई है।

हरियाणा रोडवेज बसों के पहिए थमने से यात्री परेशान, सरकार ने मानी कर्मचारियों की मांग; खत्म हुई हड़ताल
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,फरीदाबादThu, 16 Nov 2023 07:57 AM
ऐप पर पढ़ें

भाई दूज के दिन बुधवार को हरियाणा रोडवेज की बसों का चक्का जाम रहा है। इससे महिलाओं को खासी दिक्कत हुई। बहनों को अपने भाई को टीका करने के लिए आवाजाही में खासी परेशानी उठानी पड़ी। अंबाला में रोडवेज के एक कर्मचारी की हत्या के विरोध में बुधवार को प्रदेश भर में रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल के कारण बुधवार को बसें नहीं चली। हालांकि बुधवार रात चंडीगढ़ में हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा के साथ बैठक के बाद कर्मचारियों ने अपनी हड़ताल खत्म कर दी। बैठक के बाद मंत्री ने कहा कि बुधवार रात से ही सामान्य सेवाएं फिर से शुरू हो जाएंगी।

कर्मचारियों ने हमलावरों की गिरफ्तारी और पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग को लेकर मंगलवार आधी रात से हड़ताल शुरू कर दी थी। पुलिस ने कहा था कि रविवार रात अंबाला में अज्ञात हमलावरों के हमले में हरियाणा रोडवेज के 51 वर्षीय बस चालक राजवीर की मौत हो गई। पार्किंग ड्यूटी पर तैनात राजवीर पर बहस के बाद कार सवार चार-पांच लोगों ने कथित तौर पर हमला कर दिया था। उन्होंने बताया कि घायल राजवीर को गंभीर हालत में अंबाला छावनी के सिविल अस्पताल लाया गया और बाद में उसे चंडीगढ़ के पीजीआईएमईआर रेफर किया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

सोनीपत निवासी राजवीर अंबाला छावनी बस स्टैंड पर तैनात थे। मृतक के पार्थिव शरीर को गुरुवार सुबह अंतिम संस्कार के लिए उनके पैतृक गांव ले जाया जाएगा। हरियाणा रोडवेज कर्मचारी सांझा यूनियन के प्रतिनिधियों के साथ बैठक के बाद परिवहन मंत्री शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार दुख की इस घड़ी में मृतक के परिवार के साथ खड़ी है। हरियाणा रोडवेज कर्मचारी यूनियन के प्रधान रविंदर नागर ने बताया कि हड़ताल खत्म हो गई है। सरकार ने हमारी मांग मान ली हैं।

शर्मा ने कहा कि अम्बाला डिपो के चालक राजवीर के छोटे बेटे मंजीत को उसकी योग्यता के आधार पर सरकारी नौकरी दी जाएगी। इसके अलावा, उनके परिवार को वित्तीय सहायता दी जाएगी। मंत्री ने कहा कि मामले में आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इससे पहले दिन में, प्रदर्शनकारी कर्मचारियों ने यमुनानगर, चरखी दादरी, करनाल, सोनीपत, सिरसा, हिसार और नारनौल सहित कई बस अड्डों पर धरना दिया और नारे लगाए। प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों ने हमलावरों की गिरफ्तारी, राजवीर के परिवार को 50 लाख रुपये मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग की।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें