ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRसावधान! गुरुग्राम में मकानों की अवैध चौथी मंजिल को गिराने की तैयारी, 59 मकान मालिकों को नोटिस जारी

सावधान! गुरुग्राम में मकानों की अवैध चौथी मंजिल को गिराने की तैयारी, 59 मकान मालिकों को नोटिस जारी

गुरुग्राम नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग की तरफ से अवैध रूप से 59 मकानों में निर्मित चौथी मंजिल को गिराने की तैयारी की है। डीटीपीई ने मालिकों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।

सावधान! गुरुग्राम में मकानों की अवैध चौथी मंजिल को गिराने की तैयारी, 59 मकान मालिकों को नोटिस जारी
Praveen Sharmaगुरुग्राम। दीपक आहूजाTue, 11 Jun 2024 02:35 PM
ऐप पर पढ़ें

अपने मकानों में अवैध रूप से चौथी मंजिल का निर्माण करने वाले लोग अब सावधान हो जाएं। ऐसे मकानों पर अब ऐक्शन की तलवार लटक गई है। गुरुग्राम नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग की तरफ से 59 मकानों में अवैध रूप से निर्मित चौथी मंजिल को गिराने की तैयारी की जा रही है। इसके तहत डीटीपीई ने मकान मालिकों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। डीटीपीई कार्यालय ने सर्वे में पाया है कि 15 मकानों की चौथी मंजिल पर परिवारों ने रहना शुरू कर दिया है। 44 मकानों की चौथी मंजिल अभी खाली है। खास बात यह है कि सेक्टर-67 स्थित अंसल वर्षालिया में 23 मकान हैं, जिनमें अवैध रूप से चौथी मंजिल का निर्माण हुआ है।

गुरुग्राम के 60 से ज्यादा सेक्टरों में संवरेंगी सड़कें, करीब 200 सोसाइटियों और कॉलोनियां को होगा फायदा

डीटीपीई कार्यालय के सर्वे के मुताबिक, साउथ सिटी-1 में चार, डीएलएफ फेज-1 में तीन, साउथ सिटी-2 में पांच, डीएलएफ फेज-2 में चार, सुशांत लोक-1 में चार, मालिबू टाउन में तीन, डीएलएफ फेज-5, ग्रीनवुड सिटी, आरोन विला, मेफिल्ड गार्ड, पालम विहार, अंसल असेंशिया, सोहना के सेंट्रल पार्क में क्रमश एक-एक, अंसल वर्षालिया में 23, अनंतराज एस्टेट में छह मकानों में चौथी मंजिल का अवैध रूप से निर्माण किया गया है। इन सभी मकानों का कब्जा प्रमाण पत्र रद्द किया जा चुका है। फिलहाल इस मामले में नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग का कोई अधिकारी बोलने को तैयार नहीं है।

गरीबों के लिए गुड न्यूज, कम आय वालों को मुफ्त मिलेंगे 100-100 गज के प्लॉट 

वास्तुकारों को ब्लैक लिस्ट किया जाएगा : हरियाणा सरकार इन 18 वास्तुकारों को प्रदेश के सभी विभागों में ब्लैक लिस्ट करने की तैयारी की जा रही है। इन्हें एचएसवीपी, एचएसआईआईडीसी, मानेसर और गुरुग्राम नगर निगम, जीएमडीए और नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग में ब्लैक लिस्ट किया जाएगा। बता दें कि वास्तुकला परिषद को पत्र लिखकर इन वास्तुकारों का रजिस्ट्रेशन कैंसिल करने की सिफारिश डीटीपी कार्यालय की तरफ से भेजी जा चुकी है। नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग की तरफ से अवैध रूप से 59 मकानों में निर्मित चौथी मंजिल को गिराने की तैयारी की है। डीटीपीई ने मालिकों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।

एक वास्तुकार ने 28 मकानों को दिया कब्जा प्रमाणपत्र

नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग की जांच में सामने आया है कि अवैध रूप से निर्मित 28 मकान ऐसे हैं, जिन्हें वास्तुकार पंकज कुमार ने कब्जा प्रमाणपत्र जारी किया है। इन सबका कब्जा प्रमाणपत्र एक ही दिन यानि गत 27 फरवरी को जारी हुआ है। इस वास्तुकार ने अंसल वर्षालिया के 23 और साउथ सिटी दो के पांच मकान शामिल हैं। वास्तुकार ज्ञानेंद्र कुमार ने 15 और 16 अप्रैल को छह मकानों को कब्जा प्रमाण पत्र जारी किया है, जिसमें पांच अनंतराज एस्टेट और एक साउथ सिटी-1 का है। 18 वास्तुकारों ने इन 59 मकानों को कब्जा प्रमाण पत्र जारी किया है।

ये है मामला

23 फरवरी, 2023 को हरियाणा सरकार ने एक आदेश जारी करके चौथी मंजिल के निर्माण पर प्रतिबंध लगा दिया था। सभी सरकारी विभागों को आदेश जारी किए थे कि चौथी मंजिल के निर्माण के नए नक्शों को मंजूर नहीं किया जाए। कुछ मकान मालिकों ने नक्शा को तीन मंजिल का मंजूर करवाया हुआ था, लेकिन उन्होंने चौथी मंजिल का निर्माण अवैध रूप से कर लिया। कुछ मकान मालिकों ने चौथी मंजिल का नक्शा मंजूर करवाया हुआ था, लेकिन आंतरिक विकास शुल्क और बाहरी विकास शुल्क का भुगतान नहीं किया था। चौथी मंजिल बनने के बाद इस राशि का भुगतान कर दिया। वास्तुकारों ने इन मकानों को कब्जा प्रमाण पत्र जारी कर दिया है। नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग के निदेशक अमित खत्री ने अवैध रूप से बनी चौथी मंजिल पर नियमानुसार विभागीय कार्रवाई करने के आदेश जारी किए हैं।