ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRतस्करों से ज्यादा पैसे दूंगा.... शख्स ने ट्विटर पर गुरुग्राम पुलिस को दिए ब्लैंक चेक, कमिश्नर कला चंद्रन ने दिया यह जवाब

तस्करों से ज्यादा पैसे दूंगा.... शख्स ने ट्विटर पर गुरुग्राम पुलिस को दिए ब्लैंक चेक, कमिश्नर कला चंद्रन ने दिया यह जवाब

हिंदू हिंदू सुरक्षा दल के अध्यक्ष होने का दावा करने वाले शख्स ने गुरुग्राम पुलिस को ट्विटर पर ब्लैंक चेक की पेशकश की है। उसने तस्करों के खिलाफ केस दर्ज करने को कहा। इसपर कमिश्ननर ने जवाब दिया।

तस्करों से ज्यादा पैसे दूंगा.... शख्स ने ट्विटर पर गुरुग्राम पुलिस को दिए ब्लैंक चेक, कमिश्नर कला चंद्रन ने दिया यह जवाब
Sneha Baluniहिन्दुस्तान टाइम्स,गुरुग्रामSun, 19 Jun 2022 11:44 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

गुरुग्राम में एक स्थानीय निवासी ने ट्विटर पर दो पुलिसकर्मियों को पैसे देने की पेशकश की है। खुद के हिंदू संगठन के मुखिया का दावा करने वाले शख्स ने पुलिसवालों का नाम भरकर ब्लैंक (खाली) चेक की फोटो पोस्ट की है। उसने पुलिस से गौ तस्करों के खिलाफ केस दर्ज करने को कहा है। छवि खराब करने वाले पोस्ट पर शीर्ष पुलिस अधिकारी ने प्रतिक्रिया देते हुए कानूनी कार्रवाई करने की बात कही है।

पुलिस आयुक्त कला रामचंद्रन ने कहा, 'शख्स के खिलाफ विभिन्न जिलों में आपराधिक मामले दर्ज हैं। फिलहाल अधिकारी जारी आंदोलन (अग्निपथ योजना) में व्यस्त हैं, इसलिए यह ट्वीट हमारी प्राथमिकता सूची में नहीं है। एक बार जब हम इससे फ्री हो जाएंगे तो हम कानून की उपयुक्त धाराओं के तहत कानूनी कार्रवाई करेंगे।' शख्स की पहचान चौधरी सतप्रकाश नैन के तौर पर हुई है जो खुद के हिंदू सुरक्षा दल का राष्ट्रीय अध्यक्ष होने का दावा करता है।

नैन ने ट्विटर पर दो ब्लैंक चेक की तस्वीरें पोस्ट करते हुए साउथ डीसीपी और भोंडसी थाने के एसएचओ को अपने मनमुताबिक राशि भरने और गौ तस्करों के खिलाफ उसकी मदद करने को कहा है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है, 'गुरुग्राम पुलिस कृपया बता दीजिए तस्करों ने मुझे मारने के लिए कितने रुपये दिए हैं, उनसे ज्यादा दूंगा केस दर्ज कर दीजिए हमलावरों पर, ये ब्लैंक चैक की फोटो हैं भोंडसी थाना प्रभारी देवेंद्र मान व डीसीपी साउथ उपासना जी का नाम भर दिया है।'

जब नैन से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि मुझे ऐसा करने के लिए मजबूर होना पड़ा क्योंकि हर दिन गायों की तस्करी की जा रही है और पुलिसकर्मी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा, 'मेरे भाई मंदीप ने 16 जून को शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने प्राथमिकी तक दर्ज नहीं की। जबकि 15 से अधिक आरोपी मुझे और मेरे भाई को मारने के लिए हमारे घर आए थे। आरोपी अपने साथ हथियार लेकर आए थे। मैं इन चेक को जल्द ही एक पंजीकृत डाक के जरिए संबंधित अधिकारियों को भेजूंगा क्योंकि मुझे और मेरे भाई को जान से मारने की धमकी मिली है।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें