ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRगुरुग्राम में 18 जगहों पर आग का तांडव, 65 झुग्गियां जलकर खाक, सिलेंडर धमाकों से दहला इलाका

गुरुग्राम में 18 जगहों पर आग का तांडव, 65 झुग्गियां जलकर खाक, सिलेंडर धमाकों से दहला इलाका

गुरुग्राम जिले में शनिवार को कुल 18 जगहों पर आग लगने की घटनाएं हुईं। सेक्टर-65 की एक झुग्गी बस्ती में आग लगने से 65 झुग्गियां जलकर खाक हो गईं। आग लगने का कारण रसोई गैस का रिसाव बताया जा रहा है।

गुरुग्राम में 18 जगहों पर आग का तांडव, 65 झुग्गियां जलकर खाक, सिलेंडर धमाकों से दहला इलाका
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,गुरुग्रामSat, 18 May 2024 11:00 PM
ऐप पर पढ़ें

गुरुग्राम जिले में शनिवार को सेक्टर-65 समेत 18 जगहों पर आग लगने की घटनाएं हुईं। गुरुग्राम के सेक्टर-65 में वर्ल्ड मार्क माल के समीप शनिवार को आग लगने से 65 के करीब झुग्गियां जल गईं। झुग्गियों से उठती आग की लपटें और झुग्गियों में रखे सिलेंडर धमाके के साथ फटने लगे। इससे इलाका थर्रा उठा। धमाके दूर तक सुनाई दिए। आसपास के इलाके में आग से हड़कंप मच गया। हादसे में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। आग बुझाने के लिए विभिन्न दमकल केंद्रों से 12 फायर की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। लगभग तीन घंटे में आग पर काबू पाया जा सका। 

तीन झुग्गी मालिकों के खिलाफ केस
आग की लपटों और धुएं के कारण आसपास के क्षेत्र में दहशत फैल गई। दमकल अधिकारी नरेश ने बताया कि आग लगने की सूचना लगभग दस बजे सेक्टर-29 दमकल केंद्र को मिली थी। इसके बाद सेक्टर-29, भीमनगर सहित अन्य दमकल केंद्रों से आग बुझाने के लिए 12 गाड़ियां रवाना की गईं। आग लगने के कारणों का पता नहीं लग पाया है। किसी एक झुग्गी में खाना बनाते समय आग लगने से हादसा होने का अंदेशा है। आग बुझाने के दौरान दमकल अधिकारी नरेश के हाथ भी मामूली जल गए। इस संबंध में पुलिस ने तीन झुग्गी मालिकों के खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया है।

पुलिस ने बच्चों को निकाला बाहर
जिस जगह पर आग लगी थी, वहां पर लगभग 200 से ज्यादा झुग्गियां बनी हुई थीं। आग लगने से लगभग 70 झुग्गियां जल गईं और बाकी को बचा लिया गया। आग लगने के समय ज्यादा झुग्गियां खाली थीं और श्रमिक काम करने के लिए शहर में गए हुए थे। आग लगने के बाद पास की एक सोसायटी के प्रबंधन की ओर से भी आग को बुझाने का प्रयास किया गया। आग से झुग्गियों में रखे कई एलपीजी सिलेंडर भी फटे, जिसके धमाके दूर तक सुनाई दिए। मौके पर स्थानीय लोग और पुलिस टीम भी पहुंच गई। 

पुलिस ने लोगों को निकाला
पुलिस उपायुक्त दक्षिण सिद्धांत जैन, विपिन अहलावत सहायक पुलिस आयुक्त सोहना और थाना प्रंबधक सेक्टर-65 घटनास्थल पर पहुंचे। झुग्गियों के अंदर बच्चे व महिलाएं भी थीं। पुलिस टीम ने लोगों को झुग्गियों से निकाला। आग लगने वाली झुग्गियां रामगढ, गुरुग्राम निवासी ओमबीर, श्यामबीर व जिला नादिया, पश्चिम बंगाल निवासी सागर और हामिद द्वारा बनाई गई थी। ये लोग प्रति झुग्गी 1500 से तीन हजार रुपये तक किराया लेते हैं।

इन जगहों पर भी लगी आग
1- बंधवाड़ी प्लांट में कूड़े से भरे ट्रक में लगी।
2- सेक्टर-24 डीएलएफ फेस-3 के एक मकान में आग लगी थी।
3- सेक्टर-48 में जीडी गोयनंका स्कूल के पास कूड़े में आग लगी।
4- सेक्टर-49 खाली प्लॉट में आग लगी।
5- सिकंदरपुर में सिलेंडर में आग लगी।
6- राजेंद्रा पार्क में चिराग अस्पताल के पास बिजली ट्रांसफार्मर में लगी।
7- गांव मोहम्मदपुर में कूड़े में आग समेत 18 जगहों पर आग लगी।

अवैध रूप से बसी है सभी झुग्गियां
पुलिस की जांच के दौरान यह पाया गया है कि झुग्गियों का निर्माण अवैध रूप से किया गया था और किसी भी आकस्मिक आपातकालीन घटना से बचने के कोई भी सुरक्षा मापदंड नहीं अपनाए हुए थे। झुग्गियां बहुत ही छोटी व तंग जगह में अधिक संख्या में बनाई हुई थी, जहां पर आग रोकने के संबंध मे कोई बचाव के उपाय नहीं किए गए थे। आरोपितों के खिलाफ सेक्टर-65 थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है।